संपर्क

E-mail Print PDF
  • भड़ास4मीडिया डॉट कॉम तक अगर मीडिया जगत की कोई हलचल, सूचना, जानकारी पहुंचाना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. इस पोर्टल के लिए भेजी जानी वाली किसी भी जानकारी के स्रोत का नाम व पहचान को हमेशा गोपनीय रखा जाता है. आप मेल के जरिए कोई जानकारी भेजने के लिए This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it का सहारा ले सकते हैं. आपकी दी हुई सूचना की सत्यता की जांच के बाद उसे प्रकाशित किया जाएगा. खबर के साथ संबंधित व्यक्ति, जिसके बारे में सूचना है, का मोबाइल नंबर भेज दें तो बहुत अच्छा. यह इसलिए ताकि जिससे संबंधित खबर है, उसका भी पक्ष लिया जा सके.

..................................................................................

यशवंत सिंहयशवंत सिंह Yashwant Singh

CEO & Editor : Bhadas4Media

Mail : This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it

परिचय : पूर्वी उत्तर प्रदेश (जिला गाजीपुर) के एक गांव में जन्म. यहीं से आठवीं तक पढ़ाई. दसवीं और बारहवीं की डिग्री जिला मुख्यालय के इंटर कालेज से. ग्रेजुएशन इलाहाबाद विश्वविद्यालय और जर्नलिज्म बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से. वामपंथी छात्र संगठन आइसा के साथ बतौर छात्र नेता और रंगकर्मी दो वर्ष गुजारे. लखनऊ में दैनिक जागरण से पत्रकारीय करियर की शुरुआत. अमर उजाला के साथ बनारस, कानपुर, आगरा में. दैनिक जागरण के साथ मेरठ, कानुपर और दिल्ली में. जागरण समूह के सेकेंड ब्रांड आई-नेक्स्ट का लांचिंग एडीटोरियल इंचार्ज. नई दिल्ली में एक मोबाइल वैल्यू एडेड सर्विस कंपनी में वाइस प्रेसीडेंट (मार्केटिंग एंड कंटेंट) के पद पर कुछ महीनों तक कार्य. दुनिया के सबसे बड़े हिंदी ब्लाग भड़ास के संस्थापक. भारतीय मीडिया की खबरों के No.1 पोर्टल भड़ास4मीडिया के संस्थापक और संचालक.


AddThis
Comments (422)Add Comment
...
written by benam, June 01, 2014
daink bhaskar group ka ek edition divya bhaskar(gujarat) ki bat me yaha rakh raha hu. divya bhaskar gujarat edition ke state editor ni gujarat ki anay city jese surat, baroad, rakjot.. etc sab ke sathe meeting ki or usne ek from par sign kara liya ki hame Majithia nai chiye. or uske bar tamam editor ne amne employee ko bola ap bhi sign kar lo. ir kitno ne kar bhi li. kuki yape ek esa mahol hi ke aap sign nai karoge to aap jo job change karni padgi ya tranfer diya jayega or esa tarnsfer ki aap ke bar ki bat ho.. sate editor amne employee ko esha bol rahe hi ki bhakar group Majithia se sada deta hi ' lakin ab pata chali ke ye editor kitna ulu bana raha hi' jo Majithia se bhakar jyada salary de raha hoto to sign kyu karta?
yape bhi kitne log ese khade huve hi jo sign karne ke khilaf he or wo ladne ke mood me khasha kar ke me ahmdabad repoter ki team ki prasansa kar rarha hu ke wo sab ek sath hi or sing karne se mana kar rahe hi. divaya bhaskar ki head office amdabad kahi jati hi jo waha ke log age ayenge to baki ke unit ko bhi age ane ka moka milega. ye ladai sab ki hi or hame sathe rahe kar esi ladna hi.
yape ese kitne log hi jino ne soche samje sign to karli kuki wo dare uve the or kuch logo ne famliye problem ke karan sign ki hi. sain karne me jadya tar ese log hi jo divay bhaskar se 10 saal se jude hi or kuch log esei hi jino ne abhi-abhi apna media caeeriar bhasar se chalukiya hi. ek bat to samj me aa rahai hi ki jo naye log jino ne 1-2 sal se hi medai me par raha hi wo to kuch bol nai payenge lakin jo 10 sal se bhaskar ke sath jude huve hi unko sab pata hi tobhi wo log sate editor ke samne jukh gye. or ek bat bhi samne ayi hi jo log ne sign kiya tha wo ab wapis jakar bol rahe hi ki muje eski bare me kuch pata nai tha or aap ne juth bola to meri sign accpt par karna.

ek bat ki me mafi magta hu ki meri email id galat hi kuki me apna id nai de sakta lakin apko meri bar galat lage to aa patrkar ho apne gujarat me ahmdabad me koi na koi mirta to hoga aap use jarur se puch sakte ho
vande matram
...
written by राष्ट्रीय अपराध खुफिया बल, February 02, 2014
लचर प्राविधानः माँ के हत्यारों को गिरफ्तार कराने के लिए दर-दर भटक रहा फौजी

For -National Crime Intelligence force (राष्ट्रीय अपराध खुफिया बल)



देश में फैली आराजकता के आग की शिकार हुई देश की सरहद पर तैनात जवान रोहिदास वनसोड़े की माँ का नृशस हत्या कर दिया गया था। मृतका के बेटे ने आरोप लगाया है कि महाराष्ट्र के नांदेड़ जिला की मिडीया, पुलिस, नेता और समाज न्याय करने की जगह कातिल को बचाने में जुटे है। बताते चले कि फौजी जवान कि 65 वर्षीय मां सरस्वती बाई अम्बा की हत्या विगत 7 अप्रैल 2012 को छाती पर लोहे कि गर्म छड़ों से दाग और सर पर ईट-पत्थर से प्रहार कर की गई थी। यह घटना महराष्ट्र के लोहा थानाक्षेत्र के पनभेरी की है। घटना के बाद फौजी बेटे ने अपने मां के हत्यारों को पकड़ न्याय की गुहार एसपी नांदेड़ से की। एसपी द्वारा मामले को ठण्डे बस्ते में रखा देख मृतका के बेटे ने हत्या की जांच एजेंसी से कराने की मांग की। मृतका के बेटे का आरोप है कि जांच एजेंसी मामले की जांच तो कर रही परन्तु सब दिखावा भर दिखाई दे रहा है और हत्यारे खुलेआम घूम रहें है। महारास्ट्र पुलिस कि लापरवाही
देश के जवान कि माँ कि मौत
नहीं कर पा रही कारवाही क्यों
पैसो पे बीके या दबंगो से डर रहे है,
ये उसकी माँ है जो बॉडर पर पुरे देश कि सुरक्षा करता है लेकिन महारास्ट्र पुलिस इसके माँ कि भी रक्छा नहीं कर पायी और दबंगो ने इसके माँ को मौत के घाट उतार दिया लेकिन पुलिस कारवाही करने में क्यों डर रही है
...
written by ramkishore Pawar, January 17, 2014
दुनिया में ऐसा चमत्कार , परोपकार, अहसान, और दरियादिली सिर्फ आज तक ही दिखा सकता है। अपने दसवी कक्षा फेल बैतूल के पत्रकार को मध्यप्रदेश शासन की जिला स्तरीय अधिमान्यता के लिए सहमति पत्र देता है और वह आजतक के नाम पर जी न्यूज , जी मीडिया, पी सेवन जैसे दर्जनो न्यूज चैनलो को एक जैसी प्रायोजित स्टोरी भेजता है। इस देश में आजतक अपने यहां पर पत्रकारो को प्रशिक्षण देता है उसकी स्वंय की अकादमी और प्रशिक्षण संस्थान है। देश भर में सैकडो पत्रकारिता के महाविद्यालय एम जे और बीजे की डिग्री दे रहे है लेकिन आजतक दसवी फेल व्यक्ति को अपने चैनल का रिर्पोटर बना कर संदेश क्या देना चहता है परे की बात है। आज भी राजेश भाटिया बैतूल से उसके नाम की फेसबुक पर उन खबरो का अपलोड कर रहे है जो उसके नाम से जी मीडिया में चल रही है उसके बाद भी अपने ही चैनल का रिर्पोटर बता का उसे अधिमान्यता भी दे रहा है। आखिर पढ लिख कर पत्रकार बनने या न्यूज चैनल से जुडने का क्या मतलब रहा।
...
written by prakash pandey , December 19, 2013
बूंद के साथ खड़ा होना है दोस्तों

मैं लंबे अरसे से मयंक सर को जानता हूं, माखनलाल यूनिवर्सिटी में वे मेरे सिनियर थे और भी हमारे ताल्लुकात बड़े अच्छे है. अकसर जब भी मैं दिल्ली जाता हूं उनसे मुलाकात करना मेरे लिए अति आवश्यक हो जाता है. इसके पीछे की वजह यह है कि मैं और मयंक दादा जब कभी भी फोन अथवा आमने सामने होते हैं तो हमारी आपस में कई अनसुलझे सवालों पर बहस शुरू हो जाती है. जो घंटों पूर्वा की तेज बयार की तरह चलती रहती है. वो अकसर मुझे इस बात पर डाटा करते हैं कि मैं झगड़ालू और कटू बोलता हूं. मेरे लिए तो मयंक दादा आदर्णीय और मार्ग दर्शक है. आज मैंने अपने दफ्तर में ही उनके खिलाफ विरोध भरे स्वर सुने लोगों ने कहा कि "वो जो बूद वाला मयंक है न बड़ा खतरनाक है , एक दम नकली और अवसरवादी है. ये सुनकर मुझे काफी बुरा लगा.बावजूद इसके मैंने कुछ नहीं बोला. सुनता रहा" एक रचनात्मक इंसान लोगों का भला करने की दिशा में खुद को ख़फाए पड़ा है.पर कुछ लोग है जो उनके कार्य क्षमता से डर कर उन्हें फसाना चाहता है. अब मैं भी पत्रकारिता को अलविदा कह सबकुछ छोड़,समाज के लिए मैदान में उतरने जा रहा हूं. मुझे लगने लगा है कि मेरे जैसे लोगों की आज इस समाज में ज़रूरत आन पड़ी है, जो बुराई से लड़ सकें.
मैं अपने उन साथियों को शब्द विराम देने को कहूंगा जो बिना सोचे समझे कुछ भी कह देते हैं.और मनीषा पाण्डेय जो बूंद पर सवालिया निशान पेश कर रही है.उन्हें मैं समाज और पत्रकारिता बिरादरी का हिस्सा ही नहीं मानता.

जानो दुनिया प्रकाश पाण्डेय
गुजरात...
...
written by anjaan, December 16, 2013
इंडिया न्यूज़ मध्यप्रदेश को चालु हुवे एक साल हो गया। शुरुआत में सभी से कहा गया था कि इंडिया न्यूज़ विज्ञापन पर काम नहीं करता है लेकिन विधान सभा चुनाव आते ही स्टिंगरो को विज्ञापन के लिए फोन आने लगे और ये भी कहा गया कि ओफ रिकार्ड विज्ञापन लेना है । जिसका कोई हिसाब नहीं होगा। ………… बात यही ख़त्म नहीं हुई पिछले तीन महीनो से मप्र/छः के सभी स्टिंगरो को एक जैसा पेमेंट आने लगा है। .
...
written by bharatkarecha, December 05, 2013
May ne jabalpur ke lea kuga Interviwe (NAVBHARAT)Ki aur se Kia tab staff se milna hota raha. Taba pata chala ki NAVBHARAT &bhasker Paper Ki kitani aapas may Kitani banti hey. Tusro ko kugha kane ke pele apne ko deko! Jabalpur Ke sub paper ke yehi hal hey. apnaa aaeena deko.
...
written by chintu gupta, December 01, 2013
स्वतंत्र चेतना के प्रबंधक आर सी गुप्त ने कर्मचारियों को पिटा
...
written by SUBODH RANAWAT, November 18, 2013
रांची से प्रकाशित खबर मंत्र अखबार कि नैया डावाडोल हो रही है .प्रधान संपादक हरिनारायण जी ने आपने पुरे खानदान को उचे सैलरी पर बहाल कर लिया है जिन्हे कुछ आता -जाता नहीं.आज खबर मंत्र आर्थिक संकट से गुजर रहा है .खबर मंत्र कि बागडोर ऐसे लोग संभाल रखे है जो किसी जगह से निकले गए है या रिटायर्ड है जब कि उनका वेतन बहुत ज्यादा है.जो प्रोफ़ेशंसाल स्किल खो चुके है .नीरज सिन्हा भी उब कर आज -कल में छोड़ कर जारहे है .यहाँ अच्छे लोगो के लिए जगह नहीं है .अखिलेश सिंह जनरल मेनेजर तो जोकर और बेकार आदमी है.आज खबर मंत्र शैशव कल में ही हरिनारायण नामक बीमारी से गर्स्त हो कर लकवा गर्स्त हो गया है .एक कहावत है मॉल मिर्ज़ा का और मिया खेले होली .येही हरिनारायण जी है जो डॉ.प्रदीप के साथ दवा घोटाला में संलिप्त थे और मधु कोड़ा के साथ मिल कर घोटाला का पैसा खाया था.हरिनारायण जी ने अब डॉ. अभय सिंह को सब्ज़बाग दिखा कर उनको मझदार में फसा दिया अब डॉ.अभय सिंह कि स्थिति ऐसी हो गयी है कि उन का मुख्या बिज़नस कंस्ट्रक्शन लाइन भी डूबने लगा है .खबर मंत्र ऑफिस के अंदर आज तक कोई सिस्टम बन नहीं पाया.हरिनारायण जी को पत्र्कारिता छोड़ कर फुल टाइम दलाली करना चाहिए .डॉ.अभय सिंह को पता नहीं किस दुशमनी का बदला हरिनारायण जी ने लिया है .आज खबर मंत्र कोमा में पड़ा आखरी साँस ले रहा है.शम्भू चौधरी ,भी पागलो कि तरह हिंदुस्तान पेपर में घुसने का प्रयास कर रहे है .चर्चा है कि खबर मंत्र ऑफिस में एक नया चैम्बर बन रहा है जहा हरिनरायणजी कि पत्नी भी ज्वाइन कर बैठीगी.आज जो भी कुछ अच्छे पत्र्कार जुड़े थे वह सब हरिनारायण जी के रवैया से छोड़ कर जा चुके है .भगवान बेचारे डॉ. अभय सिंह को बचावे.जिस कि सैलरी २०००० रूपया होना चाहिए उस को हरिनारायण जी ने ४००००-५०००० रूपया में बहाल किया है स्टाफ कि संख्या भी ज़यादा है .विज्ञापन का हिसाब -किताब गड़बड़ है .चार्टेड ऑकन्टेन्ट रतीश कुमार (ज्योति )ने भी हरिनारायण जी से साठ-गठ कर सप्लाई और एस्टाब्लिश्मेंट में बम्पर कमीशन खाया है और डॉ. अभय सिंह को गुमराह किया है.आज डॉ.अभय सिंह अभ्मनु कि तरह चकर्वूह में फस गए है .
...
written by mohit kumar vairagi, November 11, 2013
sudarshan news chanal

me Mohit kumar vairagi s/o Gehari lal vairagi
add. lawa sardargarh th.amet diss:Rajasamand (Raj)
(active member atyachar and bharstachar nivaran sansthan)_
12 pass ba3 year continue
me is news chanal me join hona chata hu
please my help
my cell no. 7727970222
...
written by ram avtar upadhyay, November 01, 2013
yashwant bhai namshkar, नमश्कार!
हम आपके अखबार से जुडना चाहते हैं. हम पिछले पांच साल से यह काम कर रहे हैं.
क्या हम आपसे बात कर सकते ह
aap ki apel per me noida tocjata mauger me azamgarh ka rahne wala hu pahuch ne me late ho gayega thanks
मैं अपने आप को काफी भाग्यशाली समझूं
...
written by guest, October 19, 2013
Kisi ko yeh khabar par bhi jankari leni chaihiye ki aaj tak ke purany employees itni zor shor se news nation kyun join kar rahe hai. Peenaz Tyagi shayad aaj tak ke pichle ex deputy output ke saath ab nahi soo rahi, aur naye shikar ke talash mein hai. Unki khaas saheli shanta singh jo aaj tak mein dharam ke programme mein junior producer thee, pichle chaar saal se news nation ke senior anchor ajaykumar ki khaas hai aur har din unke ghar par apni sevaye de rahi hai. Uska bechare pati samarendra
...
written by दिनेश कुमार, October 17, 2013
आदरणीय यशवंतजी मैंने एक लेख भेजा था जो दलितों के सत्ता में भागीदारी से संबंधित था, दो दिन बीत गए फिर भी अभी तक प्रकाशित नहीं हुआ... कृपया उसे अपने पोर्टल पर स्थान देंगे तो महती कृपा होगी।
धन्यवाद
...
written by monty, October 11, 2013

dainik jagaran me 10 September ke edition me baba ram dev ki khabar nayi duniya ke sojany se

http:/n me /epaper.jagran.com/ePaperArticle/10-oct-2013-edition-Meerut-page_16-4152-4680-29.html
...
written by Anirudh, October 09, 2013
hi sir, i m request to you i m not watching India news on videocon d2h so pls forward my message for india news distribution team.

Regards,

Amit
...
written by rahul mishra, October 03, 2013
yeswant ji namaskar, ap se ek sikayat hai apke blog par hamare alwa bhi kuch logo ne prient media me stingero ke hall par kai bar comment keya magar ap is par koi acction nahi le rahe hai. jitne paise hum stingaro ko militi hai utne paise to ak majdoor ko bhi nahi milte ap hi bataye 3000, 4000 rupey me kya koi ghar chala sakta hai is mahgai me please sar kuch yasa likeye jisse inke akhe khule. mai rastriya sahara ka stinger hu yaha bhi sar teen salo se kaam kar raha hu par 1 rupey bhi salari nahi bhadi hai.
...
written by एक 'परजीवीसेवी' रिपोर्टर , September 27, 2013
एफटीपी से खबरें चुराकर ब्रेक कराता है भास्‍कर का रिपोर्टर
यशवंत जी नमस्‍कार, मैं पूर्वी उत्‍तर प्रदेश के महराजगंज जिले से एक चैनल का संवाददाता हूं। पिछले दो तीन महीनों से मैं जो भी खबरें अपने चैनल पर ब्रेक करवाता था वही खबर, मेरे ही विजुअल से फोटो काटकर भास्‍कर डाट काम पर फ्लैश हो जाती थी। काफी दिन के बाद जब मैंने इसकी तहकीकात की तो पता चला कि भाष्‍कर का रिपोर्टर मेरे एफटीपी से खबर चुराता है और उसमें भेजे गये बाइट और विजुअल से फोटो काटकर और बाइट सुनकर खबर चेंप देता है। यही नहीं गोरखपुर में बैठकर यह रिपोर्टर पूरे प्रदेश की खबरें मेरे एफटीपी से चुराकर भास्‍कर पर भेजता है। रिपोर्टर फिल्‍ड में दौडकर, धूप में तपकर खबर लाता है और यह व्‍यक्ति अपने आफिस में बैठकर सबकी मेहनत का भुनाता है। आप भास्‍कर गोरखपुर की खबरें देख लीजिये कि यह रिपोर्टर गोरखपुर में बैठकर कहां कहां की खबर भेजता है। ऐसा नही है कि भास्‍कर के डेस्‍क के लोगों को यह पता नही होगा पर वह लोग भी जानते समझते अंजान बने हुये हैं क्‍योंकि ऐसे रिपोर्टरों की बदौलत प्रदेश से खबरें से उनको मिल जा रही हैं। इलेक्‍ट्रानिक मीडिया के जिले के संवाददाता खबरों को लेकर कितनी मेहनत करते हैं यह किसी से छुपा नही है पर ऐसे परजीवियों के कारण उनकी मेहनत जाया हो जाती है और यह लोग एक्‍सक्‍लूसिव मारकर हीरो बन जाते हैं। आपसे अनुरोध है कि ऐसे रिपोर्टरों के खिलाफ जरूर कैम्‍पेन चलाईये जो दूसरों की मेहनत की बदौलत आज मौज काट रहे हैं।
एक रिर्पोटर
...
written by Manoj Bhoyar, September 24, 2013
Dear All, Today I joined upcoming JIA (Journalist IN Action) National Hindi News Channel as a Senior Editor at its Mumbai Office . It was great experience to work with Sahara Samay, national news channel for over a decade. My pervious experience and exposure gained through working with ETV and Sahara Samay and interaction with political leaders, social workers, activists,authors, media colleagues, guidance from my seniors and friends, encouragement from superiors and viewers, all these factors helped me to achieve Today`s position and new great challenge to prove myself. I don't have words to thank everybody ~ especially YOU! Request you to continue your guidance and cooperation as before. On this important day of my life, I assure I will try my best to prove that I was capable to handle every new challenge with Success. Regards

Manoj Bhoyar.
Mumbai

...
written by Praveen Saxena, September 17, 2013
Yaswantji.. Plz this the real story of Sahara India.
...
written by Praveen Saxena, September 17, 2013
Yaswantji.. Plz this the real story of Sahara India.
...
written by Praveen Saxena, September 17, 2013
Head of Sahara India Corp Comm Noida – An asshole supported by bigger assholes

They say opinions are like assholes – everyone has one. Well, the Sahara India Corp Comm department at Noida, certainly has an abundance of them.

The department is headed by a brainless indigent louse, who knows neither the difference between a blouse and a mouse.

As he keeps fiddling with one or the other – while harassing young new female joinees and hitting upon them, there are ones that suffer silently. And then, there are several, who struggle for a while, and give it all and finally just get up and leave.

Right since its flawed inception to some 10 years in the making the Corp Comm department has been a hot bed of intrigue, deceit, treachery and backbiting.

Over the years, instead of improving, the department saw a flight of people from all key profiles - the notable exceptions being a few rusty, cobwebby, nowhere-to-go, slumbering people.

Instead of behaving like a professional corporate house – there are shenanigans and goings-on that would put Ass-aaram Bapu to shame.

Much like Mauni Baba and Gungi Gudiya – the powers that be at the Command office (read that as shoe-licking and ass-licking training centre) – choose to remain quiet and refuse to take any action.

Why should they when their own stakes lie – in maintaining status quo and not rocking the boat. And perhaps to mix metaphors – not letting their own skeletons tumble out of their CWG cupboards.
...
written by ram, September 02, 2013
लो जी,आखिर हो ही गया अखिलेश तिवारी का आगरा हिन्दुस्तान से इस्तीफ़ा ! हालांकि इस्तीफे से पूर्व अखिलेश ने ऐसा कुछ किया बताते हैं की इनके जाने की आंच पुष्पेन्द्र और मनोज मिश्रा को न झुलसा जाये ! अखिलेश ने हिंदुस्तान आगरा में आपसी ओछी राजनीति और निजी स्वार्थों और उन पर सम्पादक के मौन के चलते पिछले पांच वर्षों में आगरा हिन्दुस्तान में कई बड़ी खबरें ब्रेक करने वाले अखिलेश को न तो वांछित सम्मान प्राप्त हुआ न ही प्रमोशन , उनकी ख़बरों से खिलवाड़ हुआ सो अलग (उनकी तमाम विशिष्ट व एक्सक्लूसिव ख़बरों को तोडा गया , हल्का किया गया,अन्दर के प्रष्ठों पर डाल दिया गया और यहाँ तक की कई एक्सक्लूसिव ख़बरों को रोक कर हतोत्साहित करने का प्रयास किया गया ) ऐसे में अखिलेश जैसे इमानदार और कर्मठ पत्रकार के पास केवल यही एक उपाय शेष रहता था ! कर्मठ और इमानदार पत्रकारों के एक एक कर आगरा हिन्दुस्तान छोड़ने की कड़ी में अखिलेश के आगरा हिन्दुस्तान को अलविदा के बाद अब आगरा हिंदुस्तान में केवल चापलूस और निकम्मे ही शेष रह गए है, और वो भी इसलिए कि उन्हें आगरा हिन्दुस्तान के सिवाय अन्य किसी संस्थान में प्रवेश ही प्राप्त नहीं है , सो अब देखना केवल यह अखिलेश और अन्य इमानदार जो हिन्दुस्तान छोड़ गए , उनका असर कितने दिनों तक हिन्दुस्तान आगरा के सर्कुलेशन पर कायम रहता है अन्यथा तो जागरण का आगरा पर कब्ज़ा अब तय है ही ! वैसे चर्चा है कि अखिलेश अपने स्तर पर सम्पादक व मनोज मिश्र के लिए कुछ ऐसा कर जा रहे है कि एक के बाद एक कई अच्छे पत्रकारों के हिन्दुस्तान आगरा से अलविदा के बाद अब कम से कम उनके जाने का लान्छन इनकी जोड़ी पर न आये और शायद इसी कड़ी में तत्काल उनका स्थानांतरण लखनऊ हिन्दुस्तान किया गया है लेकिन वे शायद ही वहां ज्वाइन करें !
अखिलेश का संपर्क -9837008847
...
written by nizam patel(programme executive etv mp/cg), August 24, 2013
अच्छी लगती थी.. अच्छी लगती हैं छुट्टियाँ
स्कूल के दिनो में कौन सा त्यवहार क्यू? और किसलिए? मनाया जाता था,पढाया जाता था ..पढ़ते थे.. होली,दीपावली, यह जयंती वोह जयंती .यह व्रत वोह उपवास.. सब हमारे घर में तो नहीं मनाये जाते थे
इन सब त्यवहारों का महत्व और मतलब हमारे लिये सिर्फ इतना था कि उस दिन की छुट्टी .
यह था बचपन !!
अब बच्चो के बाप बनने के बाद . मेरे बच्चे मुझसे ज़ियादा मेरी छुट्टियो का हसरत से
हिसाब और इंतेज़ार करते हैं..और मैं भी ऑफिस के नोटिस बोर्ड पे टंगी साल की 10 छुट्टियो ..ई एल,
सी एल का लेखा जोका रखता हूँ..बहराल मेरी छुट्टियो से मेरे बच्चो की छुट्टियो का सम्बंध मेरे जेसे नोकर पेशा पापा ही समझ सकते हैं
...
written by aapkiawaz.com, August 20, 2013
Key graft papers missing from ICCR
Like the files went missing in Coal & Mines Ministry, on the similar pattern they went missing from the ICCR when High Court ordered CBI inquiry into corruption amounting crores of rupees in Ministry of External Affairs (ICCR) in response to the PIL filed. Complaint was filed with President of India alongwith others in writing but till now nothing happened. The culprits are roaming around freely. It seems it become the modus operandi the first initiate corruption then stole the file and remove the footprints. This is a serious issue and government should take stern action on this.

For more information please refer to: Hindustan Times: Key graft papers missing from ICCR files ... 48 documents are missing from 12 official files sent to the CBI for a preliminary inquiry into the allegations…

Letters sent to the President and their replies,Letter of CBI, Circular issued by ICCR,Files handed over to CBI,Version of Pawan Kumar, advisor of Bihar's CM Nitish Kumar. All the documents are with www.aapkiawaz.com, Mobile:9911074884. Plz visti at: http://www.hindustantimes.com/...54187.aspx
(Cooperate us in fighting against deep the rooted corruption - share this info with as many people as you can).
...
written by aapkiawaz.com, August 20, 2013
ब्रेकिंग न्यूज..हिन्दी और रोमन में ज़रुर पढ़ियें,, शेयर कीजिये..भष्ट्राचार के खिलाफ लड़ने में सहयोग दीजिये।
Coal & Mines Ministry ki gayeb file ki hi tarah High Court delhi ne ek PIL per CIB ko Ministry of External Affairs (ICCR) me crores rupye ki ghotale ki enquiry ka order kiya tha..lakin saari files gayeb kar di gayi aur is samband me President of India sahit sabhi se written shikayet ke bawajood aaj tak kuch nahi hua..aur accused khule aam ghoom rahe hai. Lagata hai ki ye sarkari tariqa ho gaya hai ki pahle ghotale karo aur sath me files gayeb kar do. Ye bambhir issue hai aur is par sarkar ko sakht step lena chahiye.

Jayada jankari ke liye..ye khabar dekhiye.. . Hindustan Times ki khabar Key graft case papers missing from ICCR files….. 48 documents are missing from 12 official files sent to the CBI for a preliminary enquiry into the allegations…Presidnet of India ko bheje gaye letter aur unka jawab…CBI ka letter, ICCR officer ka circular, CBI ke samane diye gaye files.. Bihar ke CM Nitish kumar ke adviser Pawan Kumar verma ka bayan etc aur khabar jaisi tamam documents www.aapkiawaz.com ke pass surachit hai. http://www.hindustantimes.com/...54187.aspx

कोयला आबंटन घोटाले की गायब फाईलों की तरह, दिल्ली उच्च न्यायालय के करोड़ो रूपये के घोटाले पर एक जनहित याचिका पर सीबीआई को विदेश मंत्रालय के एक विभाग आईसीसीआर के अघिकारियों के खिलाफ जाँच के आदेश दिया। सीबीआई ने घोटाले से संबंधित लगभग सभी फाईले गायब पायी..इस संबंध में राष्ट्रपति सहित सभी से लिखित शिकायत की गई..लेकिन आज तक कुछ नही हुआ और दोषी खुले आप घूम रहे है। लगता है कि सरकारी विभागों के घोटाले बाजों का ये तरीका बन गया है कि पहले घोटाले खुल कर करों और साथ में फाईलों को गायब कर दो..ये गंभीर विषय है..जिस पर सरकार को सख्त कदम उठाना चाहिये।
अधिक जानकारी के लिए अंग्रेजी हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर देखिये..अहम घोचाले के पेपर आईसीसीआर से गायबः 48 डाकुमेंट 12 सरकारी फाईलों से गायब है....इसके अतिरिक्त महामहिम राष्ट्रपति को भेजे पत्र और उनका जवाब,,सीबीआई का पत्र, विभाग का सरकुलर, सीबीआई के सामने दिये गये बयान और बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार के सलाहकार एवं पूर्व आईएफएस अधिकारी के बयान आदि www.aapkiawaz.com.Mob:9911074884 के पास सुरक्षित है।http://www.hindustantimes.com/News-Feed/India/Key-graft-case-papers-missing-at-ICCR/Article1-254187.aspx
...
written by aapkiawaz.com, August 20, 2013
ब्रेकिंग न्यूज..हिन्दी और रोमन में ज़रुर पढ़ियें,, शेयर कीजिये..भष्ट्राचार के खिलाफ लड़ने में सहयोग दीजिये।
Coal & Mines Ministry ki gayeb file ki hi tarah High Court delhi ne ek PIL per CIB ko Ministry of External Affairs (ICCR) me crores rupye ki ghotale ki enquiry ka order kiya tha..lakin saari files gayeb kar di gayi aur is samband me President of India sahit sabhi se written shikayet ke bawajood aaj tak kuch nahi hua..aur accused khule aam ghoom rahe hai. Lagata hai ki ye sarkari tariqa ho gaya hai ki pahle ghotale karo aur sath me files gayeb kar do. Ye bambhir issue hai aur is par sarkar ko sakht step lena chahiye.

Jayada jankari ke liye..ye khabar dekhiye.. . Hindustan Times ki khabar Key graft case papers missing from ICCR files….. 48 documents are missing from 12 official files sent to the CBI for a preliminary enquiry into the allegations…Presidnet of India ko bheje gaye letter aur unka jawab…CBI ka letter, ICCR officer ka circular, CBI ke samane diye gaye files.. Bihar ke CM Nitish kumar ke adviser Pawan Kumar verma ka bayan etc aur khabar jaisi tamam documents www.aapkiawaz.com ke pass surachit hai. http://www.hindustantimes.com/...54187.aspx

कोयला आबंटन घोटाले की गायब फाईलों की तरह, दिल्ली उच्च न्यायालय के करोड़ो रूपये के घोटाले पर एक जनहित याचिका पर सीबीआई को विदेश मंत्रालय के एक विभाग आईसीसीआर के अघिकारियों के खिलाफ जाँच के आदेश दिया। सीबीआई ने घोटाले से संबंधित लगभग सभी फाईले गायब पायी..इस संबंध में राष्ट्रपति सहित सभी से लिखित शिकायत की गई..लेकिन आज तक कुछ नही हुआ और दोषी खुले आप घूम रहे है। लगता है कि सरकारी विभागों के घोटाले बाजों का ये तरीका बन गया है कि पहले घोटाले खुल कर करों और साथ में फाईलों को गायब कर दो..ये गंभीर विषय है..जिस पर सरकार को सख्त कदम उठाना चाहिये।
अधिक जानकारी के लिए अंग्रेजी हिन्दुस्तान टाइम्स की खबर देखिये..अहम घोचाले के पेपर आईसीसीआर से गायबः 48 डाकुमेंट 12 सरकारी फाईलों से गायब है....इसके अतिरिक्त महामहिम राष्ट्रपति को भेजे पत्र और उनका जवाब,,सीबीआई का पत्र, विभाग का सरकुलर, सीबीआई के सामने दिये गये बयान और बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार के सलाहकार एवं पूर्व आईएफएस अधिकारी के बयान आदि www.aapkiawaz.com.Mob:9911074884 के पास सुरक्षित है।http://www.hindustantimes.com/News-Feed/India/Key-graft-case-papers-missing-at-ICCR/Article1-254187.aspx
...
written by tarun jain 'ubi', August 15, 2013
kya patrkaar ko as a fresher koi salary nhe milti???
q naye patrkaar ko demotivate kiya jata hai?
q purane logo dwara naye logo ko mauka mhe diya jata.
jab kisi sarkaari daftar ya mantraylae me coruption hota hai toh media me expose kiya jata hai, media ke scams q nhe kholaya jatay.....
...
written by tarun jain 'ubi', August 15, 2013
QKI FLOODS AANI JARURI HAI . . .

Haryana ek aisa rajya hai jaha apko jivan ke sabhi tarah ke rang dekhene ko milengay. Unhi rango me ek aisa rang hai jo berojgaari, bhukhmari, anpadhtaa jaisi samaajik buraiyo ki jhalak dikhlata. North Haryana ke Yamuna nagar aur Karnal se Yamuna River behti hai. Indri, karnal se lekar Tajjewala,yamuna nagar ka pura ilaaka Yamuna river par nibhar karta hai. Ye river jaha ek taraf kisaano ko fasal ke pani deti hai wahi dusri har saal flood bhi lati hai. Aur Sarkaar aur local logo ka sar dard badhati hai. Prashashan,administration ki bat karay toh har baar flood anay par he unki nind tut ti hai. Akhr q nhe flood se bachne ka sthai arangement hota? Q hazaro logo ki jaan,maal ki koi fikr nhe? Aise sawaal sirf khanapurti karke chup kara diye jatey hai. andar ki baat karay toh ye sab jantey hai har saal anay wali inn badho,flood se rahat karyao par afsaro,netao dwara croro rupaiya dakaar liya jata hai. Log chahte hai flood se rahat ka prabhand acha ho. magar prashashan har baar plastic bag me rait bharkar river ke kinaro par laga detay hai, jisse vo plastic bag dhup me fatt jatay hai aur samasya pehle jaisi dhaak ke teen paat. islye afsar,mantri chahte hai ki har saal flood aye aur apni jebey bhari jaa sakay. Islye FLOOD AANI JARURI HAI . . .
...
written by indra prakash yadav, August 09, 2013
“वर्दी के पीछे धडकता एक दिल” (पुलिस इंडिया)
2013
by indra praksh Yadav (Dr. Baba)
9838230496
dr.babagi@gmail.com
newspaperofindia@gmail.com

“खाखी ” का नाम जुबां पर आते ही एक अनोखी छवि आंखो के सामने आ जाती है। आम धारणा यह है कि “खाखी” वर्दी में जो व्यक्ति है, वह एक कठोर , भ्रष्ट ओर निर्दयी इंसान है और उसका भय समाज में वर्षो से बना है। ये खाखी वर्दी वाले जनता को हमेशा ही प्रताडित करते है गरीब लाचार व बेबस जनता को लुटते है। कोई नही समझता खाखी की भावनाओं को, खाखी से जुडी जिंन्दगी ? कुछ ही लोग समझते है उस खाखी वर्दी पहने उन व्यक्तियो को, क्योकि वह जानते है, उनकी मजबूरियां, परेशानियां, आवश्यकताएं और उपेक्षाएं।, सच बात तो यह है कि उस व्यक्ति कि यह छवि किसने बनाई? लोग क्यो नही यह समझते कि उनका भी एक परिवार है। एक व्यक्तिगत जिन्दगी है। उनके सीने में भी धडकता एक दिल है। कितना समय दे पाते है वह अपने परिवार को ? अगर उनकी तैनाती बाहर है तो कितने अर्से बाद वह अपने बच्चों की एक झलक देख पाते है? दिन हो या रात अफसरों के तेवर और अपराधियो के बीच वह अपना मानसिक और शारीरिेक संतुलन कैसे बरकरार रखते है? हेलमेट पहनने मे आपकी सुरक्षा है, और उसे पहनाने कि जिम्मेदारी पुलिस की? गलत तरीके से वाहन चलाने से दुर्घटना ग्रस्त आप होते है और अस्पताल पहुँचाने की जिम्मेदारी पुलिस की? अपने समाज पर अत्याचार होता देख अपने घर में आप घुस जाते है उस अत्याचारी से बचाने की जिम्मेदारी पुलिस की? आंखो के सामने कत्ल हुआ आपकी और गवाह ढुढने की जिम्मेंदारी पुलिस की? ऐसे ही न जाने कितनी समस्याए है जिसके जिम्मेदार हम स्वयं है परन्तु “सारी जिम्मेदारी पुलिस की” अपने प्रति हम स्वयं अपना दायित्व नहीं समझते और गुनहगार ठहराते है “खाखी” को? आजादी को लगभग 6 दशक पुरे होने को है और आजादी अपने दूसरे “करोड” शतक की ओर तेजी से अग्रसर है परन्तुु आज क्या हम आजाद है? तकनीकि दृष्टिकोण से देखा जाए तो हाँ, परन्तु व्यवहारिक रूप से देखा जाए तो कदापि नहीं। हम आज भी गुलाम है। आप खुद सोचकर देखिये कि “क्या हम आजाद हो गए है”? जरा सोचिए, आजादी की 6 दशक मना चुके है। किन्तु जरा सोचिए हम 21 वीं शदी में जा चुके है। कोई कहता यह देश तेरा नही मेरा है। फिर हम कैसे कह दे भारत से हटा अधेरा है।। आजादी ने तो सबको अधिकार बराबर दिए इसलिए, हम कह सकते है कि धरती मां ने उपकार किए, दोस्तो, आज देश की ये हालत हो गई है, भुखमरी बढी और गरीबी जवान हो गई है। आज देश का हर एक बच्चा अंधेरी गलियों में भटकता है। बेरोजगार बेटा हर बाप की नजरो से खटकता है। पाठ भूल गये प्रेम दोस्ती का सब, होती धोखाधडी और रिश्वत खोरी का। अब नेताओ ने भी क्या कमी की है, अब जनता ने ही छूट दे रखी है। सुना है पहले 5 साल मे चुनाव होते थे एक बार, मगर अब देखते है एक साल में होेते है कई बार, चुनाव से जनता को एक ही तो फायदा होता है, कि नेताओ का दर्शन उन्हे मुफ्त होता है। अग्रेजो की गुलामी छोडी हमने, तो अंग्रजी की करने लगे। अरे, कैसे है ये लोग पहले भारत माता की जंजीरे तोडी, और अब उसके हिस्से करने लगें। इसलिए तो शायद हम सब अलग -2 हो गए है। क्या अब भी आप कहते है कि हम आजाद हो गये है? सर्व प्रथम देखा जाये तो गुलामी की परिभाषा क्या है ? किसी भी भौतिक, मौलिक, अथवा सामाजिक अधिकारों से वंछित होना, स्वयं में गुलामी है। क्या आज सभी भारतीय नागरिक आर्थिक रूप से आजाद है ? क्या आज हम भय के साये में नहीं जी रहें है ? क्या आज हम अपने ही प्रशासन के रवैये से प्रसन्न है ? तमाम प्रश्न उठते है। जब हम अपने इर्द गिर्द अपने समाज की ओर देखते है। हमे कब इससे मुक्ति मिलेगी ? हम कब निर्भय होकर अपने घर, समाज, प्रदेश या फिर देश में शान्ति व सौहार्द पूर्वक वातावरण में विचरण कर सकेगे और कैसे ? उन प्रश्नो का उत्तर भी हमे ही देना है और इस समस्या से निकलना भी हमे ही है और यह सम्भव भी है। बात अटपती अवश्य लगती है परन्तु गहराइयो से सोचे तो सत्य भी है। यह कोई कहानी नही, बल्कि एक मंच है जो खुली चुनौती देता है- हर उस भष्ट्राचार को, हर उस समस्या को, हर उस अनैतिकता को जो हमें समाज में सुरक्षित नही रहने देती। लोग वही समाज वही देश वही फिर सोच अलग-2। फिल्मे आज भी जनता के मनोरंजन का मुख्य साधन है और खास कर ऐसी फिल्में जिसमें एक्शन, मारधाड, और रोमांच हो तो उसका आनंद कुछ और बढ जाता है। फिल्मों के ज्यादातर फार्मूले एक ही जैसे होते है, हीरो हीरोइन, नाच गाना, विलेन और अन्त में क्लाइमैक्स और पुलिस का प्रवेश फिर भगदौड गोला बारूद और विलेन की मौत या गिरफ्तारी और फिल्मी पुलिस को तालियां। इतिहास गवाह है कि आज तक सभी नायको चाहे वह अमिताभ, संजीव कुमार, शशि कपूर, राज कुमार, दिलीप कुमार, संजय दत्त, सलमान खान, सुनील शेट्टी, अक्षय कुमार, अक्षय खन्ना, धर्मेन्द्र, सनी देओल, बाबी देओल, ओमपुरी, या फिर मिथुन चक्रवर्ती हो अथवा बिहारी बाबू मनोज तिवारी हो, और न जाने कितने कलाकारों ने ंपुलिस की पॉजिटिव भूमिकाए निभाई और तालिओ की गडगडाहट का बेवजह ही आनन्द लिया और उसकी प्रशंसा की हमने और आपने। यह तो हुई रूपहले पर्दे की बात और अब आएं कटु सत्य की ओर और अवलोकन करें यर्थात का जहां हमारी असली पुलिस बिना संसाधनों के वास्तव में सामाजिक विलनो से हर पल, हर घडी लड रही है और यह कहना अतिशयोक्ति नहीं होगी कि वह काफी हद तक अपनी सीमाओं मे बधे रहने के बावजूद भी कामयाब है, फिर भी हमें उनकी नाकामिया हीं नजर आती है और गालिया ही दी जाती है। अगर हमारी पुलिस सचमुच ही निकम्मी है, तो फिर आज भारत के सभी कारागारों मे अपराधी खचाखच कैसे भरे है ? क्या अपराधी स्वयं ही अपना गुनाह कबूल कर, जेलर से एडवंास बुकिग कराकर जेलो में आराम फरमा रहें है ? आज हमारी पुलिस कुछ नहीं करती तो आज भारत के सभी छोटे-बडे न्यायालयो में करोडो अपराधिक मुकदमें यू ही नहीं चल रहे है ? बिना लाइसेंस वाहन चालको के सीगें नहीं होती जो पुलिस उन्हें देखते हीें पहचान लेती है ? सभी थानो में चोरी के सैकडो वाहन क्या खुद चलकर आते है ? क्या भ्रष्ट अधिकारी के यहां छापे उनके आमंत्रण पर डाले जाते है ? क्या लावारिस मुर्दो को सामाजिक संस्थाएं शमशान पहुंचाती है ? क्या अवैध निर्माण को ढहाने हम और आप जाते है ? आजादी का दिन भी हमारी पुलिस के लिए सबसे विकट दिवस होता है, और अगर हमारी पुलिस न हो तो सारा देश इस गौरवशाली दिवस को मनाने को तरस जायेगा। पूरे देश मे आज का माहौल देखते हुए हमारी पुलिस की जिम्मेंदारियां विकराल हो जाती है। आतंकवाद का माहौल, वी.आई.पी. सुरक्षा रेड एलर्ट, कही बम न फूट जाए कही आवागमन न रूक जाएं, कोई दुर्घटना न हो जाएं , कही ये न हो जाए, कही वो न हो जाएं। तमाम जिम्मेंदारियो से जूझती हमारी पुलिस को समारोह के उपरांत कोई एक गिलास पानी भी नहीं पूछता। कैसा है हमारा देश जो अपने “पुलिस परिवार” के प्रति बिलकुल ध्यान नही देता। क्या हमारा पुलिस परिवार इस आजाद देश का नागरिक नहीं है ? क्या वह इस दिन अपने परिवार के साथ रहकर स्वतंत्रता दिवस मनाना चाहता? क्या वह इस जब सारा देश छुट्टी मना रहा होता है तब पुलिस परिवार 24 घण्टें हमारा शसक्त प्रहरी बनकर अपने बाल बच्चों को भूलकर देश के नागरिको को यह पर्व पूर्ण सुरक्षा संे मनाने हेतु मुस्तैदी से तैनात रहता है और हमें एहसास भी नही होता। जरा सोचिए ना सिर्फ स्वतंत्रता दिवस पर ही नही बल्कि सभी पर्वो पर यही हाल होता है हमारे पुलिस परिवार का। शायद ही ऐसा कोई पुलिस कर्मी होगा जिसने वर्ष के सभी त्योहार परिवार के साथ मनाया होगा। हमारी पुलिस जब इतने बिशाल देश को अपना परिवार समझ कर इतनी बडी कुर्वानी दे सकती है। तो क्या हम उसे अपने परिवार का हिस्सा क्यो नहीं मानते ? इतने समझदार होते हुए भी हम यह मानने को कदापि तैयार नहीं कि हमारी पुलिस हमारी अपनी सुरक्षा के लिए है और हम उसे सहयोग देने के बजाए उसे दोष ही देते है। अगर हम उसे एक साधारण व्यक्ति की तरह देखे तभी हम उनकी जिम्मेदारियां समझ पायेगे। तभी हम उनका और वह हमारा दर्द समझ पायेगें। क्या गांधी, नेहरू का देश निस्वार्थ और परमार्थ के पथ पर चलने के कायल है ? वहां के निवासी इतना भी नहीं समझ सकते कि जहां सभी सरकरी कर्मचारियो के कार्य सुनिश्चित एवं पैमानित है वहां इस विभाग के क्यो नहीं ? आखिर कब तक हम पुलिस को सुपरमैन समझकर अपनी जिम्मंेदारियां उन पर थोपते रहेगे ? भारत के संविधान में दो सुरक्षा बल गठित किये गये है जिसका दायित्व है कि देश को भयमुक्त व नागरिको को सुरक्षित रखना। एक हमारी सेना जिसे सरहद पर शत्रुओ से लडना पडता है और एक हमारी पुलिस। तुलनात्मक घटना क्रम में सेना सशस्त्र, सुव्यवस्थित, सर्वसुख सुविधा से परिपूर्ण है और जिम्मेंदारियां पैमानित है। मकसद एक मिशन – सरहद की सुरक्षा ? अगर अब हम सिविल डिफेंस, यानि पुलिस, जिम्मेदारियां अनेक चोरी हो तो, डकैती हो तो, बलत्कार हो तो,, दुघर्टना हो तो, आतंकवादी घुस आये तो, इमारत ढह जाए तो, कफर््यू लगा हो तो, दंगा हो तो, बंद हो तो,वी.आई.पी. की सुरक्षा हो तो, और कही लावारिस लासे मिली तो, हडताल हो तो, जुलूस हो तो, और भी ना जाने कितने अनगिनत “तो” के विरूद्ध लडना है हमारी पुलिस को – और संसाधन ? आकडों पर जाए तो 2000 नागरिको पर एक कांस्टेबिल है और वह भी साईकिल सवार डंडामैन और हमारी आपेक्षाएं उससे इतनी जो संभव ही नहीं, तथा हमारा व्यवहार उससे, पुलिस ने यह नहीं किया, वह नही किया, यहां चोरी हो गई,वहां चोरी हो गई आदि। नागरिक सुरक्षा बल और सैन्य बल के संसाधनों और जिम्मेंदारियों की तुलना करें तो चौकाने वाले सत्य सामने आते है। क्या नागरिक सुरक्षा बल को भी सैनिको जैसी सुविधाओं की आवश्यकता नहीं? क्या पुलिस को भी सेना की भांति सम्मान की आवश्यकता नहीं है ? क्या पुलिस को भी सैनिको की तरह अवकाश की आवश्यकता नहीं है ? अगर ये सभी हम व प्रशासन मुहैया करा दे तो हमारा हर कान्सटेबिल अजय देवगन होगा और हर इन्सपेक्टर अमिताभ ।। और एक विचित्र बात पर प्रकाश डालना चाहूंगा कि आम नगरिक अपने अधिकारों के प्रति जागरूक है, परन्तु जब अपने सामाजिक कर्तव्यों और दायित्वो की बात आती है तो वह उसकी उपेक्षा कर अनभिज्ञता प्रकट कर देते है। अगर सामान्य नागरिक की जरा सी जागरूकता व सहयोग हमारी पुलिस को मिल जाए तो पुलिस कितनी सक्रिय हो सकती है। इसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकतें ? तुलना कीजिए संसाधनो एवं सुविधाओ की नागरिक सुरक्षा बल एवं सेना के बीच की तो स्वतः ही आपकी सहानुभूति , नागरिक सुरक्षा बल के प्रति हो जायेगी। सैनिक शहीद हो तो मान, सम्मान एवं आर्थिक अनुदान। कांस्टेबिल अवकाश प्राप्त हो तो अपनी ही पंेशन के लिए, कार्यालयो के अनगिनत चक्कर लगाते-2, एडियो की रगड, खाते-2, और फिर मिलती है एक मामूली सी पंेशन। जिससे उसके परिवार को तो छोडिए उसका अपना स्वयं का भी गुजारा शायद मुश्किल से हो पायेगा। सेना का जवान गर्व से कहता है “मै फौजी हूॅ” परन्तु एक कांस्टेबिल से पूछिए तो वह आपको बताएगा कि कितनी कठिन है एक पुलिस की नौकरी। उसका दिल रोता है परन्तु जुबान बन्द ही रखनी पडती है क्योकि उसे ही सुननी है हमारी और आपकी फरियाद। उसे ही करनी है हमारी और आपकी सुरक्षा। परन्तु उसकी फरियाद सुनने वाला कौन ? जरा कल्पना कीजिए उस दिन की, जब विकसित विदेशी देश की भांति वहा की नागरिको की तरह हम भी अपना व्यवहार परिवर्तित कर लेगे तो हमारे देश का स्वरूप क्या होगा ? अगर हम सचमुच परिवर्तन चाहते है तो सबसे पहले हमें अपनी सोच में परिवर्तन करना पडेगा। अगर हम सचमुच स्वतंत्रता चाहते है तो हमें सचमुच अपनी सोच को भेदभाव मिटाकर स्वतंत्र करना पडेगा। “देश को भय मुक्त अपराध मुक्त, कारो मे बैठकर नारो से नही बनाया जा सकता। भाषन और राशन से उसे आगे नही बढाया जा सकता। रैलियो के सहारे एक जुटता तो एक मात्र छलावा है।” असली चुनौती तो यह है कि अब हम जागे और स्वतंत्र मन से साथ दें उसका – जो हमारी आजादी के बाद भी हमारी आजादी के रक्षक हैं। जब क्रिकेट मैच होता है तो पूरा देश एक “टीम इण्डिया”। जब युद्ध होता है तो पूरा देश एक “मदर इण्डिया”। और पुलिस फेल होती है तो “भाड मे जाए इण्डिया”। ऐसा क्यो ? वह सुरक्षा बल जिससे आपका रोज का व्यवहार है, रोज का काम है उससे घृणा क्यो ? उसकी उपेक्षा क्यो ? अपने हित में आप उसका सहयोग क्यांे नहीं करते ? क्या आपके यहाँ चोरी नहीं हो सकती, क्या आप दुर्घटना का शिकार नहीं हो सकते, क्या आप इस समाज में नहीें रहते तो फिर इसे सुधारने की जिम्मेदारी सिर्फ पुलिस की ही क्यों ? आपकी क्यों नहीं ? हर नागरिक का कर्तव्य है कि वह अपनी पुलिस को सहयोग दें, सूचना दें, सम्मान दे, तभी वह आपको आपका हक दिलाने में कामयाब होगी। हमारा पुलिस के प्रति सहयोग, सम्मान और निष्ठा ही हमें भय मुक्त, अपराध मुक्त व निर्भय मुक्त जीवन दे सकता हैं। बात सिर्फ सोच बदलने की है। बदलकर देखियें देश बदल जायेगा। और हमारा देश अन्य देशो की भांति विकसित और विकासशील होगा। और हमारी पुलिस सचमुच “सुपरमैन” की तरह हमारी रक्षा करेगी। याद रखे, आपकी एक सूचना किसी की जान बचा सकती है। आपकी एक खबर किसी परिवार को बर्बाद होने से बचा सकती है। आपकी एक सूचना आपको देश का सच्चा देशभक्त बना सकती है। आपकी एक सूचना हमारी पुलिस को “सुपरमैन” बना सकती है। आपकी एक सूचना अपराधियों को उनके किये की सजा दिला सकती है। आपकी एक सूचना सम्मान दिला सकती है। आपकी एक सूचना भारत को साने की चिडिया बना सकती है। याद रखे सिर्फ आपकी एक सूचना सब कुछ कर सकती है ? पुलिस को भी उसी भावना से देखे जैसेः- “टीम इण्डिया” जैसेः- “मदर इण्डिया” जैसेः- “पुलिस इण्डिया” यदि आप ऐसा करते है तो “सेव इण्डिया” ऐसा करने के लिए सिर्फ आपको अपनी सोच बदलना है, क्योकि सोच बदलने से सब कुछ बदल जाता है। किसी ने ठीक ही कहा है कि – सोच बदल दो, सितारे बदल जायेगें। नजर बदल दो, नजारे बदल जायेगें।। कश्तिया बदलने की कोई जरूरत नहीं। दिशाये बदल दो, किनारे बदल जायेगे।। अन्त मेें एक ही बात पुछना चाहूँगा आपसे, आपने एक डाक्टर से कहा होगा, एक शिक्षक से कहा हो, एक अधिकारी से कहा होगा, रिस्तेदारो से कहा होगा, माता पिता से कहा होगा, परन्तु क्या आपने एक पुलिस वाले से कभी कहा “थैक्यू सर”? कह कर देखिए, दावा है मेरी उसकी आंखे भर आयेगी। इस आशा के साथ अपनी लेखनी को विराम दे रहा हूँ कि हम और आप जरा सा परिवर्तन करे अपनी सोच में और सचमुच समझे अपनी सुरक्षा बल की परेशानियाँ तथा उन्हें भी दे वही सहयोग व सम्मान जैसे फिल्ली पुलिस को दिया जाता है। तो यकीनन हमारे यर्थाथ को सचमुच फिल्मंे जैसी पुलिस मिलेगी और हमारा हर कास्टेबिल होगा अजय देवगन और हर इन्सपेक्ट्रर होगा अमिताभ बच्चन।”
...
written by Sagir Hassan Baig, August 06, 2013
patrakarita ka sadasya banna chahtahu

SagirHassan Baig (IMRAN)
08410484080
...
written by Sagir Hassan Baig, August 06, 2013
patrakarita ka sadasya banna chahta hu

Sagir Hassan Baig (IMRAN)
0841484080
...
written by rajkumar goyal, July 27, 2013
aaj samaj ambala se mohan vashist ne hindutan hindi danik faridabad mai join kar liya hai
09991428447
...
written by Rajesh, July 26, 2013
Jis tarah Parliyament ke kuchh membaro ne patra likhakar America se anurodh kiya hai ki Narendra Modi ko Beeja Na diya jaya. Esase yah sabit hoata hai ki es desh me kuchh aise kunthagrast mansikta se grasit log Sansad me baithe hai jo apni chhabi ko banaye rakhane ke liye desh ki akhandata aur asmita se samjhauta kar sakte hain. Atah sahi samay per es prakar ki muhim me shamil longo ko kadi se kadi saja ka pravdhan kiya jana chahiye. Jaise unki aajivan sadsyata radda kar deni chahiye aur eske sath unko milne wala anulabh bhi tatkal prabhav se rok diya jana chahiye ho sake to use nyay ke katghare me khada kiya jana chahiye kyoki desh se badhkar koi nahi ho sakta agar desh ki akhandata aur asmita bachi rahegi to ham uttarottar pragati kar payenge.


Jai hind Jai Bharat.
Rajesh Yadav
Parmeshwar Vishvakarma
...
written by Rajesh, July 26, 2013
Jis tarah Parliyament ke kuchh membaro ne patra likhakar America se anurodh kiya hai ki Narendra Modi ko Beeja Na diya jaya. Esase yah sabit hoata hai ki es desh me kuchh aise kunthagrast mansikta se grasit log Sansad me baithe hai jo apni chhabi ko banaye rakhane ke liye desh ki akhandata aur asmita se samjhauta kar sakte hain. Atah sahi samay per es prakar ki muhim me shamil longo ko kadi se kadi saja ka pravdhan kiya jana chahiye. Jaise unki aajivan sadsyata radda kar deni chahiye aur eske sath unko milne wala anulabh bhi tatkal prabhav se rok diya jana chahiye ho sake to use nyay ke katghare me khada kiya jana chahiye kyoki desh se badhkar koi nahi ho sakta agar desh ki akhandata aur asmita bachi rahegi to ham uttarottar pragati kar payenge.


Jai hind Jai Bharat.
Rajesh Yadav
Parmeshwar Vishvakarma
...
written by Ajay Kumar, July 13, 2013
लाइव इंडिया चैनल ने हाल ही में permotion और इन्क्रीमेंट करके अपने कर्मचारियों को एक तोहफा दिया पर क्या ये चैनल ऊन कर्मचारियों के लिए कभी कुछ सोचेगा जो काफी समय पहले इस चैनल को अलविदा कह कर जा चुके हैं! आज पुरे १ वर्ष से जायदा हो चुके हैं पर अनगिनत बार चक्कर लगाने के बाद भी अभी तक क्लीयरेंस नहीं कर पाया है ये चैनल और सबसे बड़ी बात की ये राशी जयादा भी नहीं है परन्तु हर बार एक नयी तारीख दे दी जाती है.
HR के असिस्टेंट मेनेजर साहब हर बार ये कह कर बात को आया गया कर देते हैं की हम क्या कर सकते हैं आप कुछ दिनों बाद आ जाना.
निवेंदन हैं AVP साहब HR महोदय से की जल्द से जल्द हम गरीब लोगों की और भी ध्यान दे और हमारा पैसा हमें वापस करवा दे.
...
written by Nikunj Trivedi, June 25, 2013
यशवंत जी,
नमस्ते,
मेरा मानना है की आजकल आप केवल उन्ही तथ्यों को प्रकाशित करते है जो आपको पसंद हो या फिर जिसके बारे में लिखा जा रहा है, वो आपका दोस्त हो (या कुछ और ही बात हो). पिछले दिनों मैने एक न्यूज़ पर कमेंट की थी जो आपके द्वारा नहीं प्रकाशित किया गया। पहले भी कई बार ऐसा हुआ है कि आपने मेरे कमेंट्स को प्रकाशित नहीं किया है। मिली जानकारी के अनुसार आप अब अपने उद्वेश्य से भटक गए है। कृपया स्थिति संभालिये क्योकि भड़ास४मीडिया जिस प्रकार उठा है, कही ऐसा न हो कि इसकी स्थिति खराब हो जाए। कृपया मेरी बातो को अन्यथा नहीं लीजिएगा। मै आपका शुभ-चिन्तक होने के नाते ऐसा कह रहा हूँ।
...
written by Nikunj Trivedi, June 25, 2013
यशवंत जी,
नमस्ते,
मेरा मानना है की आजकल आप केवल उन्ही तथ्यों को प्रकाशित करते है जो आपको पसंद हो या फिर जिसके बारे में लिखा जा रहा है, वो आपका दोस्त हो (या कुछ और ही बात हो). पिछले दिनों मैने एक न्यूज़ पर कमेंट की थी जो आपके द्वारा नहीं प्रकाशित किया गया। पहले भी कई बार ऐसा हुआ है कि आपने मेरे कमेंट्स को प्रकाशित नहीं किया है। मिली जानकारी के अनुसार आप अब अपने उद्वेश्य से भटक गए है। कृपया स्थिति संभालिये क्योकि भड़ास४मीडिया जिस प्रकार उठा है, कही ऐसा न हो कि इसकी स्थिति खराब हो जाए। कृपया मेरी बातो को अन्यथा नहीं लीजिएगा। मै आपका शुभ-चिन्तक होने के नाते ऐसा कह रहा हूँ।
...
written by Nikunj Trivedi, June 25, 2013
यशवंत जी,
नमस्ते,
मेरा मानना है की आजकल आप केवल उन्ही तथ्यों को प्रकाशित करते है जो आपको पसंद हो या फिर जिसके बारे में लिखा जा रहा है, वो आपका दोस्त हो (या कुछ और ही बात हो). पिछले दिनों मैने एक न्यूज़ पर कमेंट की थी जो आपके द्वारा नहीं प्रकाशित किया गया। पहले भी कई बार ऐसा हुआ है कि आपने मेरे कमेंट्स को प्रकाशित नहीं किया है। मिली जानकारी के अनुसार आप अब अपने उद्वेश्य से भटक गए है। कृपया स्थिति संभालिये क्योकि भड़ास४मीडिया जिस प्रकार उठा है, कही ऐसा न हो कि इसकी स्थिति खराब हो जाए। कृपया मेरी बातो को अन्यथा नहीं लीजिएगा। मै आपका शुभ-चिन्तक होने के नाते ऐसा कह रहा हूँ। smilies/smiley.gif
...
written by ravi, June 18, 2013
kya ap kisi ki bhi izzat ese he neelam kr sak te hai mr yashvant
...
written by ravikant pandey, June 15, 2013
सेवा में
श्रीमान : यसवंत जी भंड़ास4 मिडिया
विषय --पत्रकार का एक और चेहरा
महासय :मै रवि कान्त पाण्डेय कोलकाता घुसड़ी का रहने वाला एक छोटा पत्रकार हु मै पहले न्यूज़ 2 4 के लिए
कोलकाता से काम करता था पर किसी कारण वस् मैंने न्यूज़ 2 4 को अलविदा कह दिया जिसके बाद कोलकाता
न्यूज़ 2 4 के लिए खली हो गया बहोत सारे पत्रकारों ने अपनी अपनी किस्मत अजमाई सुचना के अनुसार इसी दौड़
में विडियो में दिख रहे मनोज पाण्डेय नामक पत्रकार सह कलाकार सह कोलकाता के साड़ी वेय्पारी किसी तरह
न्यूज़ 2 4 के नोयडा कार्यालय का पता जुगाड़ कर न्यूज़ 2 4 के कुछ चुनिन्दा लोगो के लिए अपने दुकान से साड़िया
और कुछ सुट व मिठाई लेकर पहोच गय और कोलकाता में उन्ही चुनिन्दा लोगो की किरपा से स्ट्रिंजर के रूप में काम
सुरु किया और पुरे कोलकाता में यह अफवाह फैला दी के वह वेस्ट बंगाल के प्रभारी बन गय है जैसे ही यह खबर
न्यूज़ 2 4 में पहोची और उनकी सारी करतुते सामने आई उनको तुरंत बहार का रास्ता दिखा दिया गया जिसके बाद
उन्होंने वही दाव न्यूज़ एक्सप्रेस में चला वो दूसरी बार फिर कामयाब हुवे और पत्रकारिता की आड़ में यह अपना धंदा
कर रहे है ये कोलकाता में लड़कियों को लेकर काफी सुर्खियों में रहते है जब अय्से पत्रकार पत्रकारिता करने लगे तो
आगे के पत्रकारों का भविष्य क्या होगा क्या आने वाले समय में इन्ही जैसे लोगो का राज होगा बाकी के मेहनती
और झुजारु पत्रकारों का भविष्य क्या होगा फिलहाल मै तो वापस फिर से न्यूज़ 2 4 में आ गया हु पर मै जब जब ऐसे
लोगो को देखता हु तब तब मेरा आत्म बल टूटने लगता है मेरे मन में तरह तरह के सवाल उठने लगते है जिसका जवाब
सायद मेरे पास भी नहीं होता
रविकांत पाण्डेय
कोलकाता न्यूज़ 2 4
...
written by ravikant pandey, June 15, 2013
सेवा में
श्रीमान : यसवंत जी भंड़ास4 मिडिया
विषय --पत्रकार का एक और चेहरा
महासय :मै रवि कान्त पाण्डेय कोलकाता घुसड़ी का रहने वाला एक छोटा पत्रकार हु मै पहले न्यूज़ 2 4 के लिए
कोलकाता से काम करता था पर किसी कारण वस् मैंने न्यूज़ 2 4 को अलविदा कह दिया जिसके बाद कोलकाता
न्यूज़ 2 4 के लिए खली हो गया बहोत सारे पत्रकारों ने अपनी अपनी किस्मत अजमाई सुचना के अनुसार इसी दौड़
में विडियो में दिख रहे मनोज पाण्डेय नामक पत्रकार सह कलाकार सह कोलकाता के साड़ी वेय्पारी किसी तरह
न्यूज़ 2 4 के नोयडा कार्यालय का पता जुगाड़ कर न्यूज़ 2 4 के कुछ चुनिन्दा लोगो के लिए अपने दुकान से साड़िया
और कुछ सुट व मिठाई लेकर पहोच गय और कोलकाता में उन्ही चुनिन्दा लोगो की किरपा से स्ट्रिंजर के रूप में काम
सुरु किया और पुरे कोलकाता में यह अफवाह फैला दी के वह वेस्ट बंगाल के प्रभारी बन गय है जैसे ही यह खबर
न्यूज़ 2 4 में पहोची और उनकी सारी करतुते सामने आई उनको तुरंत बहार का रास्ता दिखा दिया गया जिसके बाद
उन्होंने वही दाव न्यूज़ एक्सप्रेस में चला वो दूसरी बार फिर कामयाब हुवे और पत्रकारिता की आड़ में यह अपना धंदा
कर रहे है ये कोलकाता में लड़कियों को लेकर काफी सुर्खियों में रहते है जब अय्से पत्रकार पत्रकारिता करने लगे तो
आगे के पत्रकारों का भविष्य क्या होगा क्या आने वाले समय में इन्ही जैसे लोगो का राज होगा बाकी के मेहनती
और झुजारु पत्रकारों का भविष्य क्या होगा फिलहाल मै तो वापस फिर से न्यूज़ 2 4 में आ गया हु पर मै जब जब ऐसे
लोगो को देखता हु तब तब मेरा आत्म बल टूटने लगता है मेरे मन में तरह तरह के सवाल उठने लगते है जिसका जवाब
सायद मेरे पास भी नहीं होता
रविकांत पाण्डेय
कोलकाता न्यूज़ 2 4
...
written by shivavtar sharma , June 03, 2013

dk'khiqjA uxj ds cqf)thoh i=dkjksa us dk”khiqj ehfM;k Dyc dk xBu fd;k gSA i=dkj vkjMh [kku Dyc ds v/;{k o ofj’B i=dkj f”kovorkj “kekZ dks Dyc dk egkea=h pquk x;k gSA Dyc ds jftLVªs”ku o vU; nLrkosth dkjZokbZ ds fy, ikap lnL;h; lfefr xfBr dh xbZ gSA
uxj ds cqf)thoh i=dkjksa dh cSBd gjoa”k fo’V dh v/;{krk esa gqbZA ftlesa dk”khiqj ehfM;k Dyc ds xBu ij ppkZ dh xbZA ofj’B i=dkj vkjMh [kku dks Dyc dk v/;{k o f”kovorkj “kekZ dks egkea=h pquk x;k gSA muds vykok mes”k d”;i ¼nSfud gkWd½ ofj’B mik/;{k] ,Q;w[kku ¼nSfud vkt½ mik/;{k] fouksn flag ¼nSfud U;wt fizaV½ laxBu ea=h] gjoa”k fo’V ¼nSfud HkkLdj½ dks’kk/;{k] eukst JhokLro ¼mRrjkapy niZ.k½ vk;&O;; fujh{kd] ,e, jkgqy ¼iz/kku VkbEl½ izpkj ea=h] Lora= uohu lDlsuk ,M dks dkuwuh lykgdkj cuk;k x;k gSA fouksn Hkxr ¼”kCn nwr½ o uhjt xqIrk ¼dqekÅa ,Dlizsl½ dks fo”ks’k vkeaf=r lnL; cuk;k x;k gSA tcfd ekS- jQh [kku ¼tSu U;wt½ o fofiu pkSgku VhVw ¼dk”khiqj ,Dlizsl½ dks dk;Zdkfj.kh lnL; ukfer fd;k x;k gSA Dyc dh dk;Zdkfj.kh dk foLrkj “kh?kz gh fd;k tk;sxkA ftlesa fu’Bkoku i=dkjksa dks rjthg nh tk;sxhA Dyc ds jftLVªs”ku dk nkf;Ro ikap lnL;h; lfefr dks lkSaik x;k gSA cSBd esa i=dkjksa ds mRihM+u o ihr i=dkfjrk ls lEcaf/kr ekeyksa ij Hkh ppkZ dh xbZA bl lEca/k esa mPpkf/kdkfj;ksa ls okrkZ djus dk fu.kZ; fy;k x;kA
...
written by संजीव , May 31, 2013
कंटेट चोरी का बड़ॅऍ मामला


http://politics.jagranjunction.com/2013/05/31/कमरे-के-लिए-एक-पंखा-नहीं-खर/

http://politics.jagranjunction.com/2013/05/29/jawaharlal-nehru-जवाहरलाल-नेहरू-indian-politics/

http://www.bbc.co.uk/hindi/india/2013/05/130526_nehru_49th_death_aniversary_rf_pk.shtml
...
written by Savdhan Nazar, April 17, 2013
वरिष्ठ पत्रकार का प्रोफेशनल विडिओ कैमरा सेटअप और नगदी चुराने की घटना
13 अप्रैल 2013 को शाम लगभग 6-30 बजे विकास पूरी से कार मेकेनिक जोगेन्दर की दूकान के सामने से वरिष्ठ पत्रकार सरदार चरणजीत सिंह की सफ़ेद रंग I10 कार नंबर DL-3C-BQ-३९६६ में से पेनासोनिक प्रोफेशनल विडिओ कैमरा सेटअप काले बैग के साथ माडल : AGAC90EN , सीरियल नंबर : K2HG00585, और 1, 50,000 रूपये नगद भूरे बैग के साथ चुरा लिए गए, पुलिस स्टेशन: विकास पूरी जिला पश्चिम ने FIR नंबर 121 है धारा 379 लगायी है, दिल्ली पुलिस ने अभी तक कोई संतोषजनक कार्यवाही नहीं की है! विश्वस्त सूत्रों से पता चला है की इस क्षेत्र में पिछले काफी समय से चोरियों की बाढ़ आई हुयी है , अनेक शिकायतों के बावजूद पुलिस कोई कार्यवाही नहीं कर रही, और कोरे झूठे आश्वासनों से बहानेबाजी करते हुए अपना पल्ला झाड़ रही है, S.H.O. santosh kumar, A.C.P. P.C.Man, D.C.P. V. Rangnathan सभी अपने काम में विफल साबित हो रहे हैं, जनता का बुरा हल है ! लेकिन इनके खान पर जूं तक नहीं रेंगती, पत्रकारों के समूह और अनेक R.W.A. और आम जनता की मांग है की इन निकम्मों को वेस्ट डिस्ट्रिक्ट से हटाकर किसी इसी जगह लगाया जाये जहाँ इन्हें रिश्वत का एक भी पैसा न मिले और इनकी जान पर बनी रहे यानिकी जम्मू या नक्सली क्षेत्रों मैं तब इन्हें आराम की रोटी की कीमत पता चलेगी !
...
written by sanjeevsaxena, September 21, 2012
यशवंत जी मै आप के माध्यम से बताना चाहता हू की कुछ न्यूज़ चैनल बाले स्टिंगर का शोसन कर रहे है सालो से उनकी मेहनत का पैसा डकारे बैठे है जनसंदेश न्यूज़ चैनल जिसका नाम बदल कर न्यूज़ टाइम रख दिया गया है बहा भी यही हाल है ,यहाँ एक विशेष समुदाय के लोगो को पूरी सेलरी दे दी गई है यहाँ चैनल हेड एक मुसलमान धर्म से ताल्लुक रखते है इसलिए सभी मुस्लिम स्टिंगर का पैसा दे दिया गया है और हिन्दुओ को लाली पाप दे रहे है तीन महीने से टालमटोल कर रहे है कभी अकाउनट टेंट नहीं है कभी चेक पर साईंन नहीं हुए अगले हफ्ते मिल गएगा यशवंत जी हम लोग पहुत परेशान हो गए है सालो से इस चैनल में काम कर रहे है हम लोग किया करे चैनल में कोई नहीं सुनता है सही बात भी नहीं बताते है
...
written by rajendra singh chauhan, June 23, 2012
i am work at reporter for your channel
...
written by shashank tiwari, June 17, 2012
yashwant ji, main bhadas ka tab se hi niymit pathak hu samajhiye....jab se maine patrakarita ki shuruat ki hai....mujhe ye baat kahni chahiye ki nahi nahi pata...lekin ek shikayat samajhiye...ya request....magar chhattisgarh se sambandhit khabarein pahle ki apeksha kam hoti ja rahi hai...yadi chhattisgarh ki khabaron ko thoda sa aur sthan mile...to behtar hoga...
dhanyawad....
...
written by krishna chauhan, June 16, 2012
patrakarita ka sadasya banna chahtahu
...
written by himanshu dixit, June 07, 2012
kya likhu aur kyu likhu jab koi sunta hi nahi vo sab ho raha hai jo nahi hona cahiye .
...
written by Pradeep Dash, April 20, 2012
में एक आड्वोकेट हूँ और एक प्रिंट मिडिया का सद्य हूँ । {सुर्य्बंश ओडिशा } में आपका एक मेम्बर होना चाहता हूँ
प्रदीप दाश
cell:09438324174
...
written by Kaushalendra Sharan, April 15, 2012
Aap Nirmal Baba Ke Paise ki baat karte hain. Just think...Aap Pooja ki Aarti mein change paise mat daliye aur pandit ko boliye ki tilak aur prasad de....aur dekhiye pandit ke chehre ki taraph.... kya media ka yahi role hai.... aakhir nirmal baba kar kya rahe rahe hain... Aap samaj ki baat karte hain... kya in Pande Pujarion ke jaal se nikalne wala galat hai...aap unki baten suniye aur kahiye ki wo kya galat kahte hain... unke predictions par mat jayiye.... unke predictions ko hamaree liye chhor dijiye aur aap bhi Nirmal Baba kaa Aashirwad Prapt kijiye... Media ka role bas galat thahrana hi nahi nahi hota. Aur Shankaracharya hamare Aadi Guru kya kahenge pahle aapne pahlu me jhanke. Nirmal Baba ke against mein jo bhi bolta hai pahle apne pahlu mein jhanke phir bole. Aur paise ki hai toba kyun? Agar Nirmal Baba apne paisse mein shaare karna shuru kar de to sab silent hi silent. Hamare So Called HINDU GURU jo hajaro years se hinduon ko bewakuf bana rahe they we dar gaye hain ki unka sinhasan dagmaga raha hai. Ye ek saal ka kamal hai. Bas 5 years ruk jayiye aur Nirmal Baba ka chamatkar dekhiye. Unka chamatkar yahi hai ki hum in pande pujarion se dur rahe. aaap saare TV channels par dekhiye ki do char saal me kya dikhaya ja raha hai. Dande tabij, astrologers inhi ka advertisements aata tha aur desh ki janta ko bewakuf banaya ja raha tha aur usi ko Nirmal Baba ji ne samjha aur unka kamal dekhiye ki aaj News dekhne wale koi nahi hai to Sare TV channels wale Hallla macha rahe hain. 5 years ruk jao aap aur dekho Nirmal Baba ka chamatkar. Kuch to hai is baba me jo aaj dhire dhire inke itne devotee hote ja rahe hain. Aakhifr kya baat hai. Kya saari Hindustan ki janta bewakuf hai. Aur Babaji ke lagbhag sare devotees intelectuals hai. Inka samagam kahin villages me nahi hota. Saare Mteros me hote hai
...
written by safir mansuri, March 24, 2012
Dear sir,

ALL INDIA SURVEY GROUP COMPANY FRAUD HAI.YAH COMPANY KE LOG THE ANTI-CORRUPTION PRESS KA DUPLICATE PRESS ID CARD DETE HAI.
KRIPYA INKI JAANCH KARE.
...
written by kamal, March 23, 2012
sahara ki khabar jagran ne pahle chaapi
21 march ko lko ke shahara shahar me indian hockey team ko sammanit karne cm akhilesh yadav aaye. ye khabar us din jagran ne chaapi par rashtriya sahara ne nahi. apne parichito ki har khabar ko chapwane ke liye swatantra misra aur resident editor poora jor laga dete hai unhone is mamle me jaankaari lene ki jahmat bhi nahi uthai. lko sahara ke office me swantatra misra ke gunde type ke chamche baaki employees ko dhamkate rahte hai aur manchahe logo ki bekaar news ko lagwate hai. kaam ka nahi politics ka akhada ban gaya hai office. sirf chamcho ka hi bolbaala hai yaha
...
written by Lal Bahadur, March 02, 2012
FROM--http://www.facebook.com/photo.php?fbid=124227747702862&set=a.112061795586124.9934.100003469127014&type=3&theater
****** प्रमाण संख्या – 04 *******
मित्रों, आपने पहले के तीन प्रमाणों को पढ़ा होगा। घोटालों की श्रृंखला में चौथे प्रमाण में गंगा पुल परियोजना प्रमंडल, गुलजारबाग, पटना में पिछले माह हुए 15 लाख के टेंडर मैनेजमेंट और घोटाले का दिलचस्प खुलासा जानें........
इस प्रमंडल के अनेकों घोटाले की लगातार खबरें सुन गया के श्री प्रदीप कुमार सिन्हा, सहायक अभियंता से न रहा गया। मन इतना मचला कि विशेष पैरवी लगा बीते कुछ माह पहिले इस प्रमंडल में अपनी पोस्टिंग करवा ली। घोटाले की इतनी मुफीद जगह और ऊपर से घोटालेबाजों के इतने बड़े संरक्षक (मुख्य अभियंता, गंगा पुल परियोजना) के क्षेत्राधिकार में आकर उनका मन गदगद हो गया। घोटाले की पृष्ठभूमि तलाशने लगे। बाज की सी पैनी नजर से शिकार खोज ही लिया।
शिकार बना गंगा पुल परियोजना प्रमंडल, गुलजारबाग, पटना का सरकारी आवास संख्या ए / ए । आनन-फानन में इस आवास में पूर्व से रह रही एक सरकारी सेवक की विधवा को इस आवास को खाली करने का फरमान जारी किया (क्या हुआ जो उन्हें पूरी कोलोनी के अनेकों आवासों में रह रहे अवैध लोगों को भी निकाल बाहर करने की याद नहीं आई। क्या हुआ जो उन्हें सेवानिवृति के बाद भी आवासों मे रह रहे लोगों को भी निकाल बाहर करने की याद नहीं आई। क्या हुआ जो उन्हें अपने ही बॅास के भाई के ससुर श्री रमेश मिश्रा को सरकारी आवास से निकाल बाहर करने की याद नहीं आई जबकि वे काफी पहले ही सेवानिवृत हो चुके थे आखिर बॅास के भाई के ससुर भी तो अपने ससुर की ही तरह पूज्यनीय जो होते हैं।) और फिर कुछ ही दिनों मे इस आवास संख्या ए / ए को मुख्य अभियंता, राष्ट्रीय उच्च पथ के तकनीकी सलाहकार को आवंटित करवा दिया। राष्ट्रीय उच्च पथ के मुख्य अभियंता ने भी अपने तकनीकी सलाहकार को इस आवास को आवंटित करने में तनिक भी विलंब नहीं किया क्योंकि ये मुख्य अभियंता महाशय गंगा पुल परियोजना के भी मुख्य अभियंता हैं (अब क्या हुआ जो इन्होंने कई छोटे स्तर के कर्मचारियों के आवास आवंटन का आज तक अनुमोदन नहीं किया)
खैर आनन-फानन में श्री सिन्हा जी ने इस आवास का मरम्मति का इस्टीमेट बनाया - वह भी 15 लाख का, और चंद ही दिनों में कार्यपालक अभियंता से मुख्य अभियंता तक की सभी स्वीकृतियाँ प्राप्त कर ली। पर मामला टेंडर पर आकर फँस गया।
15 लाख के काम का टेंडर ओपेन रूप से समाचार पत्रों में प्रकाशित किया जाना था। सारे लोग सांसत मे थे कि संकटमोचक की भूमिका में गंगा पुल परियोजना प्रमंडल, गूलजारबाग, पटना के महान घोटालेबाज और गंगा पुल परियोजना के मुख्य अभियंता के अनन्य भक्त बंधु श्रीमान शकील अहमद, श्रीमान बृजकिशोर सिंह और श्रीमान सुनील सिंह सामने आए। चुटकी बजाते हल निकाला।
अगले ही घंटे गंगा पुल परियोजना के मुख्य अभियंता ने आदेश जारी किया कि इस आवास का मरम्मति आपातकालीन श्रेणी में आती है और इसी माह इसकी मरम्मति नही होने से किसी बड़े वज्रपात की संभावना हो सकती है सो इस टेंडर को बिना समाचार पत्रों में प्रकाशित किए ही इच्छुक संवेदकों से टेंडर ले लिया जाए। (क्या हुआ जो ना तो सरकारी नियम ऐसा कहतें हैं और ना उन्हें ऐसा करने का पावर है)
अगले ही दिन बिना किसी को जाने सिन्हा जी ने अपने गया के साथी ठेकेदार को 2 सेट टेंडर पेपर दिए जिसे उस ठेकेदार ने बड़ी शालीनता से एक अपने और एक डमी नाम से भरकर उन्हें थमा दिया। सिन्हा जी के बॅास ने भी सच्चे सरकारी सेवक का परिचय देते हुए अगले ही दिन तुलनात्मक विवरणी मुख्य अभियंता तक भिजवा दी और मुख्य अभियंता ने त्वरित निष्पादन की मिसाल कायम कर उस ठेकेदार को काम आवंटित कर दिया (क्या हुआ जो उन्हें गंगा पुल परियोजना प्रमंडल, गुलजारबाग, पटना के महान घोटालेबाजों पर आजतक कारवाई करने की सुध नहीं रही, आखिर बडे़ आदमी जो ठहरे—छोटे-मोटे घोटालेबाजों पर कारवाई का ध्यान ही कहाँ रह पाता है)। और सिन्हा जी के बॅास ने भी आदेश का सादर पालन करते हुए एग्रीमेंट कर दिया।
पर इसी बीच भारी गड़बड़ कर दी श्रीमान शकील अहमद ने। उन्हें ना तो माया मिली और ना राम – संकटमोचक की क्रेडिट भी हाथ से फिसलती लगी। इसी को लेकर शाकीर हुसैन से भी झगड़ा कर बैठे। अंत में अंगूर नही मिले तो खट्टे की तर्ज पर कोलोनी में यह रहस्योदघाटन करते फिर रहें हैं कि बड़ा भारी घोटाला हुआ है। टेंडर में भाग लेने वाले दोनो ठेकेदार तृतीय श्रेणी में निबंधित हैं जबकि यह काम 25 लाख से कम का होने के कारण केवल और केवल पटना जिला में निबंधित और केवल चतुर्थ श्रेणी में निबंधित ठेकेदार ही कर सकते हैं (पथ निर्माण विभाग, बिहार, पटना की अधिसूचना संख्या – 13589 (एस) दिनांक – 13.12.2011 के अनुसार)।
एक अन्य सूत्र के अनुसार इस मामले में बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन मिशन सोसाइटी, बिहार सरकार के पत्र संख्या-964 दिनांक 14.12.211 के अनुसार सरकार के काम में पारदर्शिता लाने हेतु 10 लाख से ऊपर के एग्रीमेंट / वर्क और्डर को वेब साईट पर प्रकाशित करने की कारवाई भी नहीं की गई है।
रही बात कोलोनी में रहने वाले अन्य लोगों की तो वे बेचारे आज भी अपने-अपने सरकारी आवासों की कई वर्षों से मरम्मति हेतु दिए गए आवेदनों पर कारवाई की आस में बैठकर सिर धुन रहें हैं।
(रिपोर्ट खत्म हुई...रिपोर्ट तैयारी में गंगा पुल परियोजना प्रमंडल के श्री अरिवंद कुमार, कोषरक्षक और कुंदन कुमार, चौकीदार के असीम सहयोग के लिए धन्यवाद)
...
written by akhilesh shukla, February 29, 2012
All The best Yashvant Bhaiya and I wish u for a bright future and also success in you life.

Tace Care
...
written by Ranesh Rana, January 18, 2012
good website
...
written by abhishek, January 07, 2012
Abhishek Singh
Jan 5 (2 days ago)

to bhadas4media
Janta TV nausikhiyo dwara nausikhiyo ka channel.Hasi aati hai
patrkarita k naam par waha kya paros rahe hai?Ek to khabro k sath
khilwaad,dusre itni purani khabre or wo bhi chori ki..Or agar baat
kare reporters ki to ek do ko chod diya jaye to repoters k nam par
kalank jaan padte hai.Or waha k Anchors to hasi ka patra hai,kabhi
kabhi badi badi kkhabro per wo jo patrakrita k naam par apraadh kerte
hai wo to ashaniya ho jata hai.Koi marne ki khabar maze lekar padh
raha hai,to koi ga ga ker khabar padh raha hai..Koi koi patrkaar to
bachhi si prateet hoti hai,Aaj subah subah durghtnawash Janta Tv
mujhse chal gaya..Mai uss bachi ko dekh ker hairan rah gaya jo apna
naam souma bata rahi thi ..Jiska munh uski awaaz jesa patla tha,use
apni baat swaym samjhne mai dikkat hogi wo dusro ko kya gyan dene
bethi thi??Lag raha tha abhi abhi kisi bal vidyalay se uth kar aa gai
hai..Kya yahi hai wo jo ek news channel dikhata hai??kya yahi daytiw
ka nirvahan ker raha hai Janta Tv ? Mera hath jod ke nivedan hai Janta
tv k karta dhrtao se kam se kam Aese anchors k munh se subah subah
ki khabar to na hi kahlawaye.Bhagwaan na kare kabhi durbhagyawash mai
uss channel ki taraf gaya to uss bachhi ko kampat dena nahi bhulunga.
''Janta bol rahi hai''
Tou apke jawaab ka partiksharat ek patrakaar
...
written by teena madaan, December 31, 2011
dear sir
mera naam teena madaan hai aur mei hapur ki rehne wali hoon,sir mene aapko complent ki thi ke mujhse riswat mangi thi 20 hajar rs aur kaha copret karne ke liye 4 real news jo sector 16 a mei aa raha hai iska pehle naam tha khabar india aur ab 4 real news ho gaya deepak ne mangi riswat aur kaha ceo ko bhi khilanane hote ceo hai yas mehta mene kaha mujhe ceo sir se milna hai to milne nahi dia aur to aur mere dost gulshan jo cameraman hai usse bhi 20 hajar mange.
mein chahti hoon ke aap publish kare jo media ke naam par kalank hai.

Rehards.
Teena madaan
...
written by shikhar chaurasia ,ballia, November 26, 2011
i want to know..dat ..do aaj tak news channel..are apponting there reporter on teshil basis.. i hv seen two mic id's one in city and other in rasra (tehsil) n both says they are aaj tak reporter...!!! quiet strange...or is it..new trend...smilies/grin.gifsmilies/grin.gifsmilies/grin.gif
...
written by RAJIV GAMBHIR, November 26, 2011
Yashwant Ji,
Namaskar,

Mai aapke is portal ka FAN hoon. Nishchit roop se is madhyam se bahut si jaankariyaan gahrai se milti hain. Kintu aapke is portal mein ek abhaav nazar aata hai. Yadi ho sakey to door karne ka prayas karein. Ismey ek column Vyapar jagat se bhi jod dijiye. Vyapar patrikaon ke log aapko aasani se sulabh ho jayenge. Vyaparik samasyaon ko yadi aap mukharta se uthana shuru karengey to nishchit vyavsaiyon ka ek varg jo is portal se achhoota hai, aapse judega.
...
written by n.l.t., November 23, 2011
gonda ma sahara news beuro k tino prabhari gandhi ji k teen bander ki terah dikhta hai, do off. aate hai to eak sath bathna uchit nahi samjhta, hindi sahara ma news bhi ram ki bahaduri sa chapti hai, lakin uper k log pisa k aage kuch dekh nahi reha hai
...
written by vijay maheshwary, November 20, 2011
rajasthan me channle ke beuro ke liye sampark kare
mo.no.9001464060
...
written by sunil, November 13, 2011
pilibhit hindustan ke stenger furkan hashmi ne hindustan ko alvida kah diya h aur unhone pilibhit me hi amar ujala join kar liya h haalanki iske piche unhone kam sellery millna bataya h lekin unke is nirday se sab stabdh rah gaye h kyunki burou chief sandeep singh hi ne unki dusri paari ke roop me patrakarita ki shuruaat ki thi kahir ab furkaan ke baad kiski baari h isko leker bhi charcho ka bazr garam h amar ujala ka agala nishana sandeep singh k khass tariq qureeshi ho sakte h konki isse ek aur jahan hindustan kamjor hoga vahin amar ujala city nahi zile me majboot hoga bataya ja raha h ki tariq ki baat antim daur me h
...
written by lalit sharma, November 05, 2011
आगरा से ललित शर्मा ने छोड़ा हिंदुस्तान अमित शिवहरे आई नेक्स्ट छोड़ आये हिंदुस्तान
...
written by vivek kumar, October 31, 2011
dear sir
i like this portal ,kuo ki yah portal sach me bindas hai ,mai bhi apke sath jude kar kam karna chata hua me ranchi me rahta hu,
cont-09263777250
pls reply me sir
...
written by Tejas, October 28, 2011
mere ko all traffic rules samjane he.kyoki traffic police ko jo samaj me aye vo utne unki marzi ke memo bana dete he.
...
written by ram gopal, October 27, 2011
sabhi ko deepawali ki bahut hi subhkamnayen
...
written by ram gopal, October 27, 2011
yasvant ji namaskar kya ho raha hai is chothe stambh ka kuch esa nahi lag raha ki jaise koi building ban rahi ho kisi crupt builder ke dwara jo cement kam balu jyada daal raha ho aur ek din ye building dheh jayegi waise bhi humara prasasan tantra mauka dhoondh raha hai iski kamjor nashon ko dhoodhne ka. jis se isko wo apne bas main kar le. jisko dekho wahi channel khol raha hai jinko media ki samajh nahi wo bhi ese samajh kar channel khol raha hai jaise wo apne super hero bana lega media main. lekin jab usko samajh aati hai ki galat field choose kar lee hai tab tak wo apne ko aur apne saath logon ko duba deta hai. lala builder, financier, politician, businessman etc jisko ki news making aur kaise channel ko handle kiya jata hai uski ki abcd bhi nahi aati hai wo sab is field main aa chuke hain wo log hr department bhi esa rakhte hain jinko news staff ko sahi se control karne ki tameej bhi nahi hoti. haqeeqat main to esa lagta hai ab ye institute wale kyun sabj baag dikhakar new product media line main bhejte hain sab apna paisa kamane ke chakkar main new genration ko barbaad kar rahe hain unki creativity ko khatm kar rahe hain. yaswant ji esa kab tak chalega iska mujhe uttar milega kya?????? intjaar main hu uttar pane ke ....
...
written by dev singh rawat, October 21, 2011
-सुअर से बदतर निकले उत्तराखण्ड के हुक्मरान
मैं 11 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक अपने गांव में था। देश के सीमान्त जनपद चमोली के दूरस्थ विकासखण्ड में स्थित मेरे गांव में इन दिनों कोदा, नट्टा, दलहन, धान की कटाई -मंडाई के साथ लोग गेंहॅंू की बुआई के लिए खेतों में हल लगा रहे है। यानी चारों तरफ काम ही काम, किसी को एक पल की फुर्सत तक नहीं। दो तीन दिन तक खेतों में काम करने पर मुझे ज्ञात हुआ कि यहां पर किसान परेशान है कि उनकी फसलों को जंगली सुअरों ने तबाह कर दी हैं । हालांकि बंदरों से भी लोग परेशान हैं परन्तु यहां ही नहीं पूरे प्रदेश में जंगली सुअरों के कारण किसान खून के आंसू बहाने के लिए विवश है। लोग इसकारण अपनी खेती छोड रहे है। खेत खलिहान व बाग बगीचे जंगली सुअरों ने बर्बाद कर दिये। लोगों की इस व्यथा का निदान करने वालो कोई नहीं। इससे मै भी परेशान रहा परन्तु उसी क्षण मुझे भी भान हुआ कि ये सुअर तो एक बार की फसल बर्बाद कर रहे हैं प्रदेश के हुक्मरान चाहे नेता हो या नौकरशाह ये तो प्रदेश का वर्तमान ही नहीं अपितु भविष्य भी तबाह कर रहे है। प्रदेश की जनता को उसी प्रकार संगठित हो कर इन भ्रष्ट नोकरशाहों व नेताओं को प्रदेश की सरजमी से दूर करने के लिए एकजूट होना चाहिए। परन्तु मुझे यह लिखते हुए काफी कष्ट हो रहा है कि दुर्भाग्य से उत्तराखण्ड में एक भी ऐसा नेता नहीं है जो अपने संकीर्ण स़त्तालोलुपता व दलगत स्वार्थों से उपर उठ कर अपनी जन्मभूमि उत्तराखण्ड के हितों के लिए ईमानदारी से एक नेता की तरह जरूरत के समय जनता को दिशा दे सकने के लिए आगे आया हो। एक गहरी टीस मन में है कि काश उत्तराखण्ड में भी एक नेता होता। आप कहेंगे रावत जी क्या कह रहे हो? यहां तो देश के दूसरे भागों से अधिक बड़े नेता हैं। यहां तो नेताओं के अलावा दूसरा कोई हैं ही नहीं। नेतागिरी तो यहां की माटी में कण कण में भरी हुई है।कहने को उत्तराखण्ड में नेताओं की कमी नहीं हैं। यहां एक दो नहीं आध दर्जन से अधिक अखिल भारतीय नेताओं की जमात है। देश के सबसे वरिष्ठ राजनेता नारायणदत्त तिवारी हैं, केन्द्रीय मंत्राी हरीश रावत हैं, विश्वविख्यात संत व राजनेता सांसद सतपाल महाराज हैं, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भगतसिंह कोष्यारी व भुवनचंद खंडूडी हैं जैसे दिग्गज राष्ट्रीय नेता हैं। कहने को तो भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी भी उत्तराखण्डी मूल के नेता हैं परन्तु उनका केवल मुख्यमंत्राी के पद पर कोन आसीन हो इसमें हस्तक्षेप करने के अलावा किसी मामले में अपने आप को उत्तराखण्डी मामने को तैयार नहीं है। नेता तो दूसरे भी हैं जो प्रदेश में अपने आप के मुख्यमंत्री के सबसे बड़े दावेदार मानते हैं, इनमें वर्तमान मुख्यमंत्राी रमेश पोखरियाल निशंक, नेता प्रतिपक्ष डा. हरकसिंह रावत। इसके अलावा सांसदों, विधयकों व मंत्रियों तथा भूतपूर्वों की एक लम्बी जमात हें जो अपने आप को प्रदेश का सबसे वरिष्ठ व जमीनी नेता मानते हैं। भाजपा व कांग्रेस के नेताओं के अलावा कहने को यहां पर बसपा व उक्रांद के नेता हैं जो दल प्रदेश विधनसभा में अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हें। बसपा में तो पूरे भारत में एक ही नेता होती हैं वह उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्राी सुश्री मायावती। बसपा के संस्थापक स्व. काशीराम के बाद अब बसपा में केवल एक ही व एकछत्रा नेता है। रही बात उक्रांद की उसमें काशीसिंह ऐरी व दिवाकर भट्ट हैं। जिनके कारण विरोध्ी दलों को कमजोर करने के बजाय अपने ही दल को विखराव करने का एक लम्बा इतिहास रहा। परन्तु मैं तो यहां पर प्रदेश के विकास की बंदरबांट के लिए नेतागिरी करने वाले नेताओं की बात नहीं कह रहा हूॅ। मैं तो उत्तराखण्ड के हितों के लिए संघर्ष करने वाले नेता की बात कर रहा हॅू। अगर उत्तराखण्ड में एक भी नेता होता तो वह उत्तराखण्ड राज्य के आत्मसम्मान व भारत के माथे पर कलंक लगाने वाले ‘मुजफ्रपफरनगर काण्ड-94 के दोषियों को’ सीबीआई, मानवाधिकार आयोग व इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा दोषी ठहराने के बाबजूद 17 साल बाद भी सजा न होने पर इस तरह नकटों की तरह मूक नहीं रहते। इनमें जरा सा भी जमीर होता तो ये सामुहिक रूप से भारत के प्रधनमंत्राी से उसी प्रकार की पुरजोर गुहार करते जिस प्रकार 1984 के सिख विरोधी दंगों व गुजरात दंगों में कई बार जांच की जा रही है। ये मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्राी की तरह अगर सरकारें व न्यायालय नहीं सुनते तो अनशन करते। परन्तु करता कौन वह कांग्रेसी सरकार जिसके मुख्यमंत्राी नारायणदत्त तिवारी की सरकार में इस काण्ड के आरोपी को न्याय प्रक्रिया को ध्त्ता बता कर बरी करने का जघन्य कृत्य किया जाये या वह भाजपाई सरकार जिसके मुख्यमंत्राी खंडूडी के कार्यकाल में इस काण्ड के आरोपी को उत्तराखण्ड में लालकालीन बिछाने की धृठता की गयी हो। आरोपियों को दण्डित देना तो रहा दूर इस काण्ड के अभियुक्तों को शर्मनाक संरक्षण देने वालों को प्रदेश में महत्वपूर्ण पदों पर आसीन किया गया। कहां गयी इनकी गैरत? सबसे ज्यादा हैरानी व आश्चर्य यह है कि जिस काण्ड को इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने नाजी अत्याचारों के समकक्ष माना, जिस काण्ड के लिए इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने तत्कालीन केन्द्र की राव तथा उप्र की मुलायम सरकार को दोषी मानते हुए वहां के प्रशासन पर भारतीय संविधान व मानवता को गला घोंटने का अपराध्ी माना था, जिस काण्ड पर सीबीआई्र ने जिनको दोषी ठहराया था । उस काण्ड पर भाजपा सहित देश के तमाम संगठन घडियाली आंसू बहा रहे थे, आज उस मानवता व महिलाओं पर हुए इस निर्मम राज्य की संगठित बर्दी धरी गुण्डों के शर्मसार करने वाले अपराध् पर क्यों मूक हैं? आज इस काण्ड ने न केवल उत्तराखण्ड के नेताओं की अपितु देश की न्याय पालिका सहित पूरी व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगा दिया है। यह काण्ड आज भी ध्क्किार रहा है देश के हुक्मरानों को, यहां के तथाकथित मानवाध्किार के पुरोधओं को यहां के तथाकथित न्याय के पेरोकारों को। आज जिन लोगों को आरूषि हत्याकाण्ड दिखाई दे रहा है उन काठ के उल्लूओं को मुजफ्रपफरनगर काण्ड क्यों नहीं दिखाई दे रहा है इस बात का सबसे बड़ा अपफसोस है। निशंक सरकार से आशा ही करनी क्या? उनको तो प्रदेश का शर्मनाक दोहन करने के लिए उनके आकाओं ने जनभावनाओं को रौंद कर मुख्यमंत्राी बना रखा है। उनको तो शायद ही इस आत्म सम्मान का जरा भी भान हो? अगर होता तो वे अपने पूर्ववर्ती मुख्यमंत्रियों तिवारी, कोश्यारी, स्वामी व खंडूडी की तरह इस मामले में नपुंसकों की तरह मौन नहीं रहते। इनमें जरा सी भी आत्मसम्मान होता तो वे अविलम्ब शिवराज चैहान की तरह अनशन करने का कदम उठाते? परन्तु यहां तो दुर्भाग्य यह है कि यहां पर किसे लगी है प्रदेश के हितों की इन सबको प्रदेश की सत्ता की बंदरबांट में खुद को चैध्री बनने की अंधी दौड का नायक बनना है।
केवल मुजफ्रपफरनगर काण्ड ही नहीं अपितु यहां पर प्रदेश की स्थाई राजधनी ंिजसको प्रदेश की उस जागरूक जनता ने राज्य गठन आंदोलन के प्रारम्भ में ही गैरसैंण के रूप में स्वीकार कर दिया था। जिसे राज्य गठन से पहले मुलायम सरकार की समिति ने गैरसेण को राजधनी के रूप में मान्यता दे दी थी परन्तु क्या मजाल राज्य गठन के बाद यहां के विकास के बजट पर बंदरबांट करने के लिए राजनीति करने वाले तथाकथित राजनेताओं को लोकशाही के प्रति जरा सी भी ईमानदारी व नैतिकता को अंगीकार किया। अगर इनमें जरा सी भी नैतिकता होती तो ये अब तक अविलम्ब गैरसैंण में राजधनी गठित कर लोकशाही का सम्मान करते।
दुर्भाग्य यह रहा कि उत्तराखण्ड में आज भी एक भी नेता ऐसा नहीं है जो अन्य प्रदेश के मुख्यमंत्रियों की तरह प्रदेश के हितों के लिए अनशन जेसे कदम तक उठाने के लिए तैयार हो। तैयार होना तो रहा दूर वे इस दिशा में आवाज उठाने का साहस तक नहीं जुटा पाते हैं। उत्तराखण्ड में जहां प्रदेश के भविष्य पर इन निहित स्वार्थी नेताओं के कारण जनसंख्या पर आधारित परिसीमन थोपा गया, इससे प्रदेश का राजनेतिक भविष्य सदा के लिए दफना ही गया है। परन्तु इन्होंने अभी तक उपफ तक नहीं की। प्रदेश में विकास के बजाय भ्रष्टाचार, जातिवाद व क्षेत्रावाद की आड़ में प्रदेश के विकास की बंदरबांट का अंधी आंधी चली हुई है। ऐसे में केवल एक ही टीस मन में उठती है है प्रभु मेरे उत्तराखण्ड को इन पाखण्डी व जनहितों को अपने निहित स्वार्थ के लिए रौंदाने वाले नेताओं से बचाओ। काश मेरे प्रदेश में कोई यशवंत सिंह परमार होता तो प्रदेश में विकास होता, कोई शिवराज चैहान जैसा मुख्यमंत्राी होता तो प्रदेश के हितों की रक्षा होती, यहां पर विशेष राज्य का दर्जा हासिल होने पर भी उस पर ग्रहण लग गया, न तो रिषिकेश में एम्स बन पाया व नहीं यहां घोषित हुई रेल लाइनें, इन मुद्दों के लिए राजनीति करते तो प्रदेश का कुछ भला होता। परन्तु करेगा कौन इनको तो केवल बंदरबांट के लिए यहां पर केवल बजट और बजट चाहिए। प्रदेश में शिक्षा, स्वास्थ्य व नैतिकता का मापदण्ड निरंतर गिर रहा है। परन्तु इसकी चिंता कौन करे। इन्हें केवल बजट चाहिए। प्रदेश व जनता जाय भाड़ मे।


शेष श्रीकृष्ण कृपा। हरि ओम तत्सत्। श्री कृष्णाय् नमो।
...
written by saira, October 12, 2011
keep fightingsmilies/smiley.gifsmilies/smiley.gif
...
written by Jugalkishor, October 04, 2011
RatanTATA se kese Mila Jaye,agar Aap Mujhe Unse Contct Krwade To Aap Ki Badi Mherwani Ho,
07568958197
...
written by Sudama Kumar, October 03, 2011
Mai aapke news se judna chahta hu please aap hame call karen 08877803686
...
written by khalid, October 01, 2011
khalid faheem
...
written by dhirendra singh rathore, September 28, 2011
respected yashwant jee you have done the great work for our country .I salute you for this.
...
written by gourav vitrana, September 26, 2011
j.p: sgnr ke reporter kar raheyin hain aved vasuli http://mediakhabar.com/televis...sm.htmlpar
...
written by gourav vitrana, September 26, 2011
j.p: sgnr ke reporter kar raheyin hain aved vasuli http://mediakhabar.com/televis...sm.htmlpar
...
written by jairpakash meel, September 25, 2011
yaswant ji sri ganganagar jil me rahta hoon aur ek daily evening news paper me patrkar hoaur mai aapke madhayamse aapke is portal network me judna chahta hoon aur kuch apne sahar kuch apne vicharo ko aapke madhyam se ujagar kana chahta hoon.

JAIPRAKASH MEEL, SRIGANGANAGAR (RAJASTHAN)
MOB. 075978-27695
...
written by jairpakash meel, September 25, 2011
sir
mene aapko ek electronic mediakarmio se sambandhit mail bheja tha, jisk abhi tak jwaab nahi mila. aap plz email ko pdhe or fir mujhe aage detail bhejne ki anumati prdaan kre. thanks
75978-27692
...
written by jairpakash meel, September 25, 2011
sir
mene aapko ek electronic mediakarmio se sambandhit mail bheja tha, jisk abhi tak jwaab nahi mila. aap plz email ko pdhe or fir mujhe aage detail bhejne ki anumati prdaan kre. thanks
75978-27692
...
written by ANURAG SRIVASTAVA, September 22, 2011
YE HAI AZAB DESH KI GAJAB KAHANI वाह री मीडिया गज़ब है तेरी माया, देश मे अब कोई पुलिस नहीं कोई पीएम नहीं सब मीडिया ही मालिक है चेनलों ने मायावती को किया ब्लेकमेल, तो राहुल की मीडिया यात्रा से डरी मायावती ने किया चेनलों को खुश कॉंग्रेस के बाद बसपा का विज्ञापन धमाल 1 महीने मे किन चेनलों की कितना "बिज़नस" दिया एनडीटीवी - 2 महीने - 4.78 करोड़ आजतक - 45 दिन - 6.7 करोड़ इंडिया टीवी - 45 दिन - 6.94 करोड़ (इंडिया टीवी के भाव बढ़ गए) स्टार न्यूज़ - 45 दिन - 3.9 करोड़ बाकी के टट्टू को मिलकर 8 करोड़ के आस पास लोकल अखबारो और चेनलों को 11 करोड़ विज्ञापन मिल गए है इसलिए अब उत्तर प्रदेश मे कोई किसान जमीन के लिए आंदोलन नहीं करेगा कोई बलात्कार नहीं होगा ई हत्या नहीं होगी कोई डकैती नहीं होगी विज्ञापन दो और शांति लाओ
...
written by sanjay, September 20, 2011
हिमाचल के पर्यटन नगर डलहोजी का नाम बदल कर सुभाष नगर रखने कि कवायद चल रही है ! कुछ लोगों को इस नाम में शायद गुलामी कि बदबू आती हो ! नाम बदलने वाले पहले ये विचार करें कि उन्होंने इस नगर कि तस्वीर बदली कि नहीं !अंग्रेजों के जमाने में बने जर्जर भवनों में चल रहे लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता ,अधिशासी अभियंता ,सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता ,वन मंडल अधिकारी तथा पुलिस थाना कार्यालयों के अपने भवन सरकार ने बना लिए हैं ? हरे भरे जंगलों वाले इस नगर को कंक्रीट का जंगल किसने बनाया ? अंग्रेजों कि हकूमत अगर कुछ साल और रहती तो डलहोजी तक बकलोह केंट के रास्ते रेलगाड़ी पहुँच चुकी होती ,इस रेल लाइन को बनने का सर्वेक्षण हो चूका था बुर्जियां लग चुकी थी पर हम आज़ाद हो गए ! उस रेल लाइन का कया हुआ ? अंग्रेजों ने इस नगर की स्थापना सेनिटोरियम के तौर पर की थी ,यहाँ टी बी से वह अन्य रोगों से ग्रस्त अंग्रेज स्वास्थ्य लाभ को आकर रहते थे ? कया हम आज वो वातावरण कायम रख पाए हैं ? डलहोजी की सारी सड़कों का निर्माण बीमार लोगों को ध्यान में रख किया गया था ,यह ऐसा नगर है जहाँ की सड़कों में चडाई उतराई नहीं है चाहे वो यहाँ की मशहूर ठंडी , गरम सड़क हो चाहे वो बकरोता की सड़क हो सभी सड़कें बिना चडाई उतराई की हैं ! पिछले करीब एक साल से नगर की गरम सड़क का एक डंगा गिरा पड़ा है यहाँ लोग मुश्किल से पैदल चल पाते हैं यह डंगा ठीक क्यों नहीं किया ? करीब चार साल पहले नगर की सारी विद्युत् लाइनों को भूमिगत करने की घोषणा हुई थी उसका कया हुआ ?
...
written by Ajeet Tyagi Journalist, September 19, 2011
Accha priyas hai
...
written by Sunil Sharma, September 19, 2011
yasvant ji abhi aapko ek metter bheja he pls. use laga de
Sunil Sharma
...
written by Deepak Sharma, September 16, 2011
मेन स्ट्रीम मीडिया में पत्रकारिता नहीं धंधा हो रहा है- भड़ास फोर मीडिया डाट कॉम दिल्ली के यशवंत सिंह
http://www.youtube.com/watch?v=dzA6VbT8LlQ&feature=sharec
...
written by Amit Sharma, September 15, 2011
नमश्कार
मेरा नाम अमित शर्मा है में मीडिया में काम कर रहा हु पिछले 10 सालो से मीडिया में काम कर रहा हु मुझे मास्टर विनोद गुप्ता ने बिच बाज़ार चोरहे में मारा है सभी के सामने आप सभी से मरी प्राथना है की आप मरी स्पोट करे .. बिना मतलब के अब वो बोल रहा है सभी को की मने बतमीजी की है पर मेने एसा कुछ भी नहीं किया मरे मीडिया के दोस्तों आप सभी से प्राथना है की मेरा समर्थन करो राजौरी SSP का मोबाइल नो है ...9419134351 इन से बात करो और कारवाही करने को बोलो ..
आप का भाई अमित शर्मा
मोबाइल नो .. 9419171309 ,,,,9858009674...
...
written by Amit Sharma, September 15, 2011
Journo Assaulted in Rajouri
Jammu, Sapt 15
A journalist was assaulted by a government teacher here on Thursday in Rajouri.
Source said that, a journalist of PTC news network for Rajouri Amit Sharma assaulted by a government teacher Vinod Gupta son of Satpal Gupta of Rajouri on main Rajouri market today, incident erupted after exchange of verbal duel between both of them and turn ended with manhandle.
However, after incident traffic locals gathered on spot and tried to control their emotions, later both of them reached to police station Rajouri to file an application of FIR against each other, however SHO have yet to file an FIR against both of them.
...
written by rajesh gupta, September 10, 2011

mayor gwalior ke liye meri bhadasसराबियो ने आपके २ साल का सुनहरा समय बर्बाद करदिया रमाकांत,मित्तल,मधु, आपको करोडो के सब्जबाग दिखाते रहे और उलटे आपसे संघ ,संघठन समाज से आपकी दुश्मनी करायी आज आपके साथएक भी पार्षद नहीं है.न हीसंघ से कोई संघटन से आप सम्बन्ध बना सके विचारनीय प्रशन है? अभी बहुत मौका है
दूसरी महिला पर्सदो को आप पतियों से दूर रहने को कहती है पर अपने pati को pro के टिकेट par जयपुर lekar जाती है और खुद को इमानदार कहती है
























games, utorrent
...
written by rajendra singh jadon , September 07, 2011
hi gret kamnu kesan

rajendra singh jadon m.p tehelka
...
written by vilok pathak, September 06, 2011
dear yashwant ji

apni awaj ke liye khula manch hai bhadas media.........
par kabhi kabhi na jane kyoon bahut kuchh chhoot jata hai........kashish karen poora vivran ho..........

vilok pathak 09300100048

samachar sampadak

Dainik bhartiya pravakta

jabalpur edition
...
written by pawan yadav, September 06, 2011
sir ji
hm aapke is abhiyaan se judna chahte hai,
pawan yadav
8878917823
...
written by dinesh singh, September 03, 2011
yashvant ji namash kar main dinesh singh cnews hardoi se maine apna number bhadas par dala hai lekin abhi tak number activate nhi haua hai so plz activate the number.
Thanks!
dineshsingh
c.news hardoi
9807111170
...
written by Naidunia, September 03, 2011
नईदुनिया की हालत सबसे खस्ता है। जबसे आलोक मेहता ने प्रधान संपादक का पद संभाला है, नईदुनिया अखबार न ही अखबार रहा है और न ही पत्रिका बल्कि चापलूसों और कांग्रेस के गुध्णगाान करने वाला मुख पत्र बन गया है। हालत यह है कि आलोक मेहता जिस मैगजीन की कंसेप्ट को लेकर आए थे वह फेल हो चुकी है। संडे नइ्रदुनिया के चंडीगढ़, मुंबई, जयपुर तथा देहरादून संस्करणों को बंद कर दिया गया है। स्आफ को कार्य मुक्त किया जा चुका हे। अक्तूबर 2011 में फिर से नईदुनिया में छंटनी होने जा रही है। फायनेंस करने वालों ने अपने हाथ पीछे खींच लिए हैं। नई दिल्ली का संस्करण सफेद हाथी साबित हो रहा है। चर्चा तो यह भी है कि नई दिल्ली एनसीआर का संस्करण मात्र 2000 छपता है जिसे प्रबंधन किसी भी समय बंद कर सकता है। यही कारण है कि दिल्ली के बाजार में चर्चाएं हैं कि आलोक मेहता और उनकी टीम अन्य स्थानों पर नौकरी की तलाश में हैं।
...
written by anupnarayan singh, August 29, 2011
mai apkai abhiyan mai jurna chahta hu anoop 09386804066
...
written by anupnarayan singh, August 29, 2011
aaj desh kai sabhi media house bhadas ki khoji najro sai darai huai hai .jo sach wo managment kai dar sai nahi bol patai thai wo aab bhadas kai madhyam sai sabko bata patai hai.patna mai to kai media houso nai apnai office mai bhadas par partibandh tak laga rakha hai.bawjud iskai media karmiyo kai dukh dard ka sahi sathi bhadas ban gaya hai --- anoop n singh, sub editor] bihari khabar
...
written by rishi muni yadav, August 24, 2011
sir. i am from allahabad. please add me in your midia socity. rishi muni alllahabad. mobile 09415348181
...
written by SAFIR MANSURI, August 18, 2011
main bhi join karna chahta hoon...
plz...join me...
+919898727062
...
written by nikhil chauhan (jan sandesh times)unnao, August 15, 2011
bhai aap ne to itihas rach diya hai..
...
written by nikhil chauhan (jan sandesh times)unnao, August 15, 2011
Ye change bahut acha hai
...
written by prem singh dhami, July 28, 2011
uttrakhand mai Hindustan akhbar reportero ka khoon chus reha hai.
...
written by vimal kumar, July 21, 2011
नमश्कार! may name vimal kumar
हम आपके भड़ास4media से जुडना चाहते हैं हम पिछले 7 साल से media in news channel in Bureau chief Agra Division inकाम कर रहे हैं.
क्या हम आपसे बात कर सकते हैं.
मेरा मो. न.- 09258650702 ,
...
written by SHAILESH PATHAK, July 19, 2011
www.hbharyana.com ,the news portal for haryana is best for weekly news paper
...
written by prakashkajodia, July 15, 2011
¹fVf½fa°f ªfe ÀffQSX ´fi¯ff¸f
EIY ³¹fcªf ·ûªf SXWXf WcaX IÈY´f¹ff ´fiIYfdVf°f IYSX½ff QZÔ ¸fZSXf ³ff¸f ¦fû´f³fe¹f SX£ff ªffE




¸fWûQ¹f,
¦f°f ½f¿fÊ ³f½f·ffSX°f ´fi¶fa²f³f ³fZ dªf³f ¨ffSX ´fÂfIYfSXûÔ IZY BaXQüSX ³f½f·ffSX°f ÀfZ ªf¶f»f´fbSX À±ff³ffa°fSX¯f IYSX dQE ±û CX³WZÔX ßf¸f ³¹ff¹ff»f¹f ³fZ d³fSXÀ°f IYSX ¨ffSXû ´fÂfIYfSXûÔ IYû ´fb³f: CX´fÀfa´ffQIYûÔ IZY ´fQ ´fSX SX£f³fZ IZY AfQZVf dQE W`ÔXÜ
...
written by rajat, July 10, 2011
sabhi yuwa patrakar juto apne haq ke liye age bado kab tak dosro k haq awaz uthane wale bezuban bane rahege .
commission ki sari sifarise lagu honi chahiye agar print ya tv chennelo ke malik salary nahi badhate hai to hadtal karo .
news likna aur dikhana band karo waqt hai juto warna hame bhukhoo marne ke liye taiyar rahna hoga kyoki aise ye akhbar aur tv ke jamidari mansikta wale thtakathit buddijivi tankhqwa nahi badhayege ye hamara tan yoo hi khate rahege
...
written by Shubh Chintak, July 06, 2011
Anurag Goel-9811107186 (Dharm TV)
...
written by ashish k, June 22, 2011
Dear sir,

Plz tel me the email id of HR Dept of Danik Jagran (Noida) & Hindustan Hindi (Agra) I am need it Hardly.
is any one also know plz tel me or mai lon my e

Thanks
...
written by k c joshi, June 22, 2011
नमश्कार!
pls

मेरा मो. न.- 07579011137 and pls send me sms alert
...
written by नमन, June 22, 2011
Aap sab ke sunte sunte mera bhee kuch kahne likhne ka man hone laga hai mere kalam hamesha hi bhrastachar ke khilaf chalti hai per desh ke bhrastacharion dalal beurochiefs ne kabhi tathyon ko toda amroda our kabhi gayab kar diya per bhadas ke bebaki dekh kar man mein ek nai umang ka sanchar hua Yashwant singh Je aap yakinana Bhadhai ke pater Hain Jaihind.
...
written by mukesh sundesha, June 17, 2011
हेल्लो सर partap ji rao and ashish ji parashar
नमस्कार
आपकी जानकारी के लिए में अपना परिचय दे रहा हूँ मै मुकेश सुन्देशा एच .
बी . सी टी . वी न्यूज़ का जालोर जिले से जिला सवांददाता हूँ
आपको जानकारी देते हुए बड़ा दुःख हो रहा है कि आप द्वारा मुझे पिछले छ
माह से वेतन नहीं दिया है
मेरे द्वारा आपको बार -बार अवगत करने के बाद भी कोई वेतन कि बात नहीं
करता जबकि मुझे नियोक्ति के समय चेंनल कि आइ. डी. , प्रेस कार्ड व पी.
आर .ओ . जालोर के नाम लेटर दिया था मेरे द्वारा न्यूज़ भी सदेव भेजी
जाती रही है व कई न्यूज़ खाश खबर भी रही है
अत ; आपको इस पत्र के मार्फ़त सूचित किया जाता है कि मुझे पिछले छ माह
का वेतन 15 -6 -2011 तक नहीं मिला तो मुझे मजबूरन एच . बी . सी. टी
. वी न्यूज़ चेंनल के खिलाफ लेबर कोर्ट में मुकदमा दर्ज करवाया जायेगा
जिसकी सभी जिमेदारी आप कम्पनी कि होगी
आदर सहित

आपका
मुकेश सुन्देशा , जालोर

आज दिनाक 13 -6 -2011
...
written by Nitin Bansal, June 15, 2011
आदरणीय यशवंत जी,
आपका पत्रकारों का न्यूज पोर्टल देखकर बहुत अच्छा लगा। इस के लिए आपका बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं। एक निवेदन है कि कृप्या वेबसाईट पर राज्यवार खबरें प्रदर्शित की जाएं तो हमें अपने राज्य से संबंधित खबरें पढ़ने में आसानी रहेगी। मुख्य समाचार अलग से कॉलम में प्रदर्शित किये जा सकते है।
धन्यवाद सहित
-नितिन बंसल
उपसम्पादक, दैनिक इबादत
हनुमानगढ़ (राजस्थान)
...
written by aakash singh, June 15, 2011
one mr anil dhupar president marketing has retired from naidunia after having spent 21 years in print media..

may be this is a news for our industry people
...
written by salman ''ziddi, June 12, 2011
yeswant ji aapko bahut bahut dhanybad, aapki isi pehal se kale chere samne aane lage hai, paal rakhe hai hame aastino me jo sanp unhe jehar ugalne se pehle pakadna hai, band ho jayega aatank ka khuni khal ab salman ''ziddi'' ko vi kalam se khoon karna hai............salman ''ziddi'' (samajik cintak)
...
written by saniya, June 11, 2011
jiss kisi ko bhi aisa lagta hai ki humara channel band ho gaya hai for their kind information mai bata du ki humara channel band nahin hua hai aur jinhe aisa lagta hai toh unki maa ki---------.ab toh samajh he gaye honge ki hum M.K.NEWS waale kitna dum rakhte hai aur waise bhi JAB APNI NAHIN DHOO PAATE TOH DUSRO KI DHONE KI KOSISH KYU KARTE HOsmilies/grin.gif waise bhi success paane k liye speed breakers ka samna toh karna he padta hai.ambani ki shuruvat bottle bechne se hui thi aaj wo tmhara baap hai haahaahaa...chinta mat karo tmhara dusra baap bhi jaldi aa raha hai and his name is M.K NEWS AAINA SACH KAA...sambhal kar rehna maa k---------...
...
written by Rajesh Ranjan @ Pappu Yadav, June 08, 2011
जुल्म के इतिहास में एक और नंदीग्राम - फारबिसगंज !

दिल्ली के रामलीला मैदान में हुए लोंगो के ऊपर पुलिस ज्यादती पर पुरे विपक्षी दल ,मीडिया ,मानवाधिकार आयोग ,यहाँ तक कि सर्वोच्य न्यायालय ने भी त्वरित और तीखी प्रतिक्रिया देते हुआ संज्ञान ली | परन्तु देस के सुदूर इलाके फारबिसगंज जिला अररिया जो कि पटना से ५०० कि० मी० दूर अंतराष्ट्रीय सीमा नेपाल के पास अवस्थित है , वहाँ सरकार , पूंजीपतियों और प्रशासन के मिली भगत से सिर्फ किसी व्यक्ति विशेष को लाभ पहुचाने हेतु प्रायोजित तरीके से , दर्जनों मासूम बेबाक बच्चों ,बूढों , नवजात शिशु और उनकी माँ को बड़े ही बेरहमी से गोली चलाकर मौत के घाट उतर दिया गया |जबकि सभी मृतक अत्यंत ही गरीब अंसारी मुसलमान परिवार से आते हैं | उनलोगों का कहना है कि सरकार ने जो 5 लोंगों के मरने कि बात कही है बिलकुल गलत है |
जबकि पुलिस कि गोली से दर्जनों लोगों कि हत्या कर लाश गायब कर दी गयी | इतना ही नही, अंसारी समाज और मृतक परिवार के लोगों का कहना है कि ,एक महिला ,जो कि गर्भावस्था में थी , पुलिस ने जूते से कुचल कर पेट में ही उसके बच्चे को मार दिया और उस महिला के सिर्फ चेहरे पर सात - सात गोली मारी गयी | इतने से भी वहाँ के हब्सी पुलिस जवानो को ठंढक नही पहुंची और एक नवजवान को दो पुलिस वालों ने लातों से कुचल कर मार दिया | क्या यह घटना गुजरात , नंदीग्राम , सिंगुर और उतरप्रदेश के भट्टा - पारसोल के याद को ताजा नही करती ? क्या कारन है कि जहाँ रामलीला मैदान में न तो कोई हत्या हुई , न कोई घायल हुआ , वहाँ मानवाधिकार आयोग ,न्यायालयसभी ने संज्ञान लिया , किसी राजनितिक पार्टी ने हाय तौबा नहीं मचाई |
कुछ पार्टी के नेताओं ने सिर्फ अपनी राजनीति के लिये औपचारिकता निभाई | न जाने मीडिया के भाई लोग इस तीसरे नंदीग्राम फारबिसगंज कि घटना का सच कब सामने लायेंगे |
...
written by GOVIND GOPAL SINGH, June 04, 2011
I WANT BE MEMBER
...
written by DEVENDRA KUMAR VERMA, May 20, 2011
ऐसी धोखेवाज कंपनियों में धन लगाना खतरनाक होगा

स्पीक एशिया ने भारत में ऐसा कारोबार किया है जो पूरी तरह गैर कानूनी है स्पीक एशिया इस व्यवसाय से जमापूंजी को कहाँ लगाता है जहाँ ढाई महीने में ही तुम्हारे धन को दूना कर देता है सरकार ऐसे व्यसायों के खिलाफ चुप्पी शाध कर देश की जनता को लुटाने में पूरी तरह से सहयोग कर रही है और उसका अप्रत्यक्ष कमीशन खाती है आज तक ने भन्दा फोड़ है जनता के समक्ष सच रख दिया गया है कि जब भी नेटवर्किंग के द्वारा सदस्य जुड़ने की सतत प्रक्रिया जब कमजोर पड़जाएगी तब ही यह स्पीक एशिया अपना नेटवर्क बंद कर देगी और इस देश की जनता का खरबों रूपया डूब चूका होगा भारत सरकार क्यों नहीं इस कंपनी से अपनी जनता के रूपये की गारंटी लेती है और सरकार अपनी तरफ से रूपया न डूबने की गारंटी देती है अन्यथा यही सच है की केंद्र सरकार अपनी अवाम को स्वम लुटा रही है
धन्यवाद
Devendra Verma
Distt. Reporter
Fatehpur UP
9415559102

...
written by ek bechara, May 19, 2011
tv9 guj ke sab sinior chor he
...
written by ek bechara, May 19, 2011
tv9 gujrat me sab graphics or video editor ko incerment me BHIKH di gay he.Ravi sir apko nahi pata ke tv9 guj.me kitna sara corruption chal rahahe,apko nahi pata ki 4 graphics designer no ne resigne kar diya he ..wo log such me itne briliant the ke tv9 guj ko ese gfx designer future me kabhi nahi milenge ..unke sath nisnasfi hui he unmese sirf ek bande ko acha incrmnt deya gaya he jab ki dusro ko sirf 500 Rs.Apko ye nahi pata ki unlogo ko V GUJARATI news channle me 12 or 15 hazar ruppes ki salary di gay he ..picture to abhi bakki he next 2 month me dikheye kya hulchul hone wali he..video edt.or copy.ed ki puri team ek sath resigne kadegi sochiye tab kya hoga..pls sir tv9 guj,me kuch dhyan dijye warna kya hoga..ap soch bhi nahi sakte..tv9 guj me esa lagta he ki sirf ladkiya he kam karti he..ek ladki jise 1 sal bhi pura nahi huwa or jisk apraisal form bhi nahi bhara gya use 3 hazar incrmnt diya he wo sir wo ..aur jo 3 sal se majuri karrahahe use sirf 500.pls jara dyan die warna V gujarati apko din me tare dikhayega..jise kuch nahi ata use laga room diya he kyu..taki sab ko pata na chale ki use kuch nahi ata.life line kya pura divya bhaskar .aur incrimnt 4000.wow sir ..MARKET ME IS INCREMNT KO KYA KAHETE HE smilies/tongue.gifERSONALLY INCRMNT,CHAPLUSI INCRMNT..SARE AM DABANGGIRI HO RAHI HE..save tv9 guj.
...
written by DEVENDRA KUMAR VERMA, May 12, 2011
उपवास ब्रह्मास्त्र है जब शासन -प्रशासन हमारी बात लात-घूसों व् जूतों से भी न समझे तब आप उपवास के अस्त्र का नुख्शा जरूर इस्तेमाल करे ये वो नुख्शा है जिसके समक्ष भ्रष्टतम और क्रूरतम देशी व् विदेशी सरकारों ने भी नतमस्तक किया है अभी चन्द्र दिनों की बात है भ्रष्टाचार में आकंठ डूबी कांग्रेस पार्टी की सरकार ने अन्ना हजारे के समक्ष इस तरह घुटने टेक दिए जैसे यह सरकार भ्रष्टाचारके मुद्दे पर बहुत संवेदनशील व् संजीदा है मौजूदा समय में उपवास एक ऐसा अस्त्र हो गया है जो अवाम के बीच सत्यनिष्ठ , ईमानदार व् लोक कल्याणकारी व्यक्तित्व के रूप में व्यक्ति को प्रतिष्ठित कर देता है अन्ना हजारे लीजिए उपवास के पूर्व चन्द्र लोग ही जानते -पहचानते थे मगर उपवास के मात्र तीन दिन ने अन्ना को जमीन से उठाकर आसमान का सबसे अधिक क्रान्तिवान तारा बना दिया
...
written by Raj Goswami, May 03, 2011
Yashwant ji
Press Swatantrata Divas ki Hardik Shubhkamnayen

Raj Goswami
National Secratory NFJ (National Fedration of Journalist`s)
State Genral Secratory , Chhattisgarh Patrakar Sangh
...
written by Dr SANJAY KUMAR, April 23, 2011
JAI SAI RAM JI, AAP SABHI SE EK NIVEDAN HE KI HUM KUCH LOG PRAKRITIKCHIKITSA ME KUCH KAAM KAR RAHE HE. AGAR ACCHA LAGE TO SEWA KA EK MAUKA DIJIYEGA. www.prakritikchikitsa.org Dr sanjay kumar
...
written by Animesh Kumar Singh, April 23, 2011
Dear Sir,
Myself Animesh Kumar Singh I belong to Dist.Jaunpur Uttar pradesh.I want to a job in your group with you.I have worked with swatantrabharat newspaper.

Thanks
Animesh Kumar Singh
SWATANTRA BHARAT
MO-08446794008
...
written by Suprio Ray, April 22, 2011
भड़ास4मिड़ीया के होने से हम पत्रकारों को अपने दुख-र्दद को बड़े सरल एवं सहजता से लिखने का मौका मिलता है । हम सब यशवंत सिंह जी के शक्र गुजार है ।
...
written by gaurav, April 12, 2011
Sir, kya Lucknow se Dainik Lokmat ke Prakashan ki Khaber hai
...
written by Devendra Patel, April 12, 2011
इक्कीसवीं सदी के महानायक का आगाज
फतेहपुर(उ प ). I भ्रष्टाचार का नाम सुनते ही हर व्यक्ति के जेहन में सर्वप्रथम एक ही सवाल उठता है कि आखिर भ्रष्टाचार रुपी महादानव से मुक्ति संभव है या नहीं ? मुक्ति का उसे कोई उपाय नहीं सूझता है !और वह विवश व निराश होकर अपने को भ्रष्टाचार रुपी महादानव के आगोश में जीने-मरने के लिए छोड़कर देता है !हर व्यक्ति भ्रष्टाचार से मुक्ति तो चाहता है मगर अपने द्वारा किये गए भ्रष्टाचार से नहीं ,वल्कि दूसरे केद्वारा शोषित भ्रष्टाचार से !तभी तो यह भ्रष्टाचार रुपी महादानव दिन दूना रात चौगुना बढ़ता जा रहा है !इसीलिए इस भ्रष्टाचार ने आज इतना विकराल और खतरनाक रूप धारण कर लिया है I
ऐसा नहीं है कि सामाजिक ,राजनैतिक व धार्मिक सुधार के लिए लोगों ने इससे पहले मुहिम नहीं छेड़ी !देश भर में हर रोज तमाम लोग भूख हड़ताल,धरना -प्रदर्शन उपवास,जागरूकता अभियान कर रहे है मगर उनकी करनी -कथनी में विरोधाभास होता है इसीलिए ये आन्दोलन कोई छाप नहीं छोड़ते है मात्र दिनचर्या का अंग बनकर रह जाते है !जब तक हक़ -हकूक की लड़ाई के लिए त्याग व वलिदान का पूरी निष्ठा व साहस के साथ समर्पण नहीं होगा तब तक लक्ष्य असंभव ही रहेगा !
हिंदुस्तान के हर शख्स की सोंच की यह विडम्बना है कि वह अतिशय आशावादी और आदर्शवादी होता है मगर आशावादी और आदर्शवादी होना उसके जीवनचर्या का अभिन्न अंग नहीं बन पाता है ! वह इन जुमलों का सिर्फ मुखौटा ही लगाना प्रसंद करता है !जब -जब आशावाद और आदर्शवाद किसी व्यक्तित्व का अभिन्न अंग बने तब -तब अवश्य ही सामाजिक ,राजनैतिक व धार्मिक उत्परिवर्तन देखे गए है महात्मा बुद्ध,सम्राट अशोक ,संत कबीर ,महात्मा गाँधी जैसे महान व्यक्तित्वों ने इसे सच कर दिखाया है ! इन्ही प्रत्यक्षों की वजह से भ्रष्टाचार रुपी महादानव से मुक्ति की आशा कभी -भी पूरी तरह से समाप्त नहीं हुई I

पांच अप्रैल २०११ का यह दिन इतिहास में एक क्रांतिकारी परिवर्तन के युग के आगाज के लिए स्वर्णिम दिन के रूप में हमेशा याद किया जायेगा ! अन्ना हजारे ने जंतर -मंतर से उपवास की असीम शक्ति से ऐसा मन्त्र फूंका कि जिससे समूचे देश में भ्रष्टाचार के खिलाफ आंधी आ गयी ! हर व्यक्ति के मुंह से सहसा ही निकल पड़ता था कि अन्ना तुम संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ है जैसे यह आन्दोलन उनके आस -पड़ोस किसी अहम् मुद्दे को लेकर हो जिसमे उनका हित -अहित सीधे तौर पर जुडा हो और अन्ना से उनके आत्मीय व पारिवारिक संबंध हो !
मौजूदा हालात यह है कि अन्ना हजारे की चर्चा से समूचा देश हरा भरा है हर शख्स बढ़-चढ़ कर अन्ना हजारे की भ्रष्टाचार के खिलाफ छेड़ी मुहिम में अपना सार्थक योगदान देने को उतावला है हर शख्स उषाकाल की पहली किरण के साथ एक नए युग का आगाज देख रहा है अन्ना आज महानायक है जो देश को भ्रष्टाचार से मुक्ति आन्दोलन के पर्याय बन गए है ! अन्ना की जय हो ,भ्रष्टाचारमुक्त समाज की जय हो !
देवेन्द्र कुमार

फतेहपुर(उ.प.)

मो.न .९४१५५५९१०२

...
written by PRATAP, April 08, 2011
CHAL CHARITRA AUR CHEHRA AUR AB ANNA HAZARE
EK SAJJAN PEOPLE NE APNE SAF CHARITA SE INDIA ME KRANTI LA DI IMANDAR CHAVI SOCIL WORK
BHAGWAN NA KARE YADI RAJNITI ME AYE AUR KAHI DAMAN ME DAG LAGA TO AM JANTA KE LOGO KA BISWAS KA KAYA HOGA
...
written by ajshish , April 08, 2011
...
written by ajshish , April 08, 2011
Mr. Sant Sharan Awasthi Eaditor danik jagran Ranchi ko Knp,Lko,Ald,Van,gok ka stste head banaya gaya hai.
...
written by kanpur, April 08, 2011
Infomedia 18 Ltd yeh network 18 group ki company hai jo ki Yellow Page publish karti hai iski bhi kuch news apne portal me include karein...21 city se iska operation hai...
...
written by SACHIN KUMAR SHARMA, April 07, 2011
DEAR
SIR I AM WORKING IN HINDUSTAN TIMES (HINDUSTAN HINDI) FOR ADVERTISEMENT DEPTT PLZ JOIN THE Bhadas4Media
...
written by Devendra patel, April 05, 2011
यशवंत भाई मुझे मानसिक खुराक मिल गयी, श्यामा की भविष्यवाणी से मानसिक रूप से आहत हुआ

भिक्षावृत्ति रुपी फकीरी वेनाब
बहुत सही आज कोई लेख मिला जिसको पढ़कर पूरी आत्मसंतुष्टि हुई इस लेख में यह महत्वपूर्ण नहीं कि किस महापुरूष के विषय में लिखा है इसकी महत्ता इस बात में है कि समाज में फकीरी या संत का नाम बदनाम करने वालों को वेनाब किया गया है फकीराना अंदाज वेताज बदशाहियत है जिसे जीना नामुमकिन नहीं तो मुश्किल अवश्य है नक़ल करना तो हर व्यक्ति के वश में है असल बनना ..................फकीरी में किसी के समक्ष हाथ फैलाना अपनी गैरत को एक रोटी के टुकड़े के लिए अपमानित करना व्यक्ति के व्यक्तित्व का अपमान है ऐसा करना इंसानियत नहीं ,कुत्तापन ,सुअरपन के सिवा कुछ नहीं जो समाज को कुछ दे तो नहीं सकता है ,समाज के लिए अभिशाप जरूर बन जाता है क्योंकि भिक्षावृत्ति मानव के लिए अभिशाप है
धन्यवाद
देवेन्द्र
फतेहपुर
...
written by Devendra patel, April 05, 2011

जनता को गुमराह करना अपराध ,श्यामा को मृत्यु दंड दिया जाय

किस पार्टी की सरकार बनेगी यह निर्णय जनता करेगी या स्यामा चिड़िया जैसे गधे !जिन्हें स्वम अपने विषय में ही नहीं मालूम, कि अगली घडी में उसे क्या होगा ! यदि उस गधे को मालूम हो तो मेरे पास आकर दावा करे यदि वह सच बता देगा तो उसे एक लाख रूपये मै तत्काल सभी के समक्ष दूंगा ! ऐसे गधों को जो धन लेकर जनता (मतदाता )को गुमराह करते है सजाये -मौत दी जानी चाहिए ! मतदाता को गुमराह करना अपराध है और जागरुक करना नैतिक कार्य है !

यशवंत भाई, पत्रकारिता के मिशन को इसी तरह आगे बढाओगे, क्या तुम्हारे पास लेखों की कमी हो गयी है जो जनता को जागरूक करने के वजाय गुमराह करने वाले लेखों को तरजीह दे रहे हो !हाँ आपसे क्या मतलब हर लेखक के अपने विचार है जिनसे बडास४ मीडिया के संपादक का सहमत होना जरूरी नहीं ,तो अश्लील साहित्य को अपनी वेब साईट में क्यों नहीं डाल देते हो , जिससे पाठको की संख्या में दिन दूना रातचौगुना बढोत्तरी होगी और करोड़ों रूपया विज्ञापन में आएगा और तुम्हारी पत्रकारिता खूब फूले फरेगी !अवाम को जागरूक करने का कोई आप ठेका थोड़े ही ले रखा है जो श्यामा जैसों को मना करोगे !
धन्यवाद
देवेन्द्र
फतेहपुर
...
written by manish agarwal, April 04, 2011
The Indian cricket players can't seem to put it down but the World Cup trophy they have with them is actually just a replica as the original is still lying with the customs.

"The original is lying with the Customs," said a BCCI sources without elaborating.

When contacted Customs sources, however, said the Cup was with them for non-payment of duty of 35 per cent of the original value.

"We will release it after payment of 35 per cent customs duty after its valuation," they told PTI.

The Cup, meanwhile, has been in the forefront of the celebrations by the entire Indian nation with players even posing with it along with President Pratibha Patil at the Raj Bhavan yesterday.

The captain of the winning team, Mahendra Singh Dhoni has been photographed and caught on television cameras carrying the replica to the iconic Gateway of India opposite the team hotel yesterday.

Man of the Tournament, Yuvraj Singh, has been kissing the replica repeatedly in delight.

it was painful for cricket fans.

...
written by Devendra patel, March 30, 2011
क्रिकेट के जूनून का अर्द्धसत्य

फतेहपुर,उप ! आज भारत-पाकिस्तान के बीच सेमीफाइनल क्रिकेट मैच है पाकिस्तान ने सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है वहीँ भारत में अघोषित छुट्टी का सा माहौल है पचास फीसदी निजी व्यवसायियों के शटर बंद है आज के मैच का जुनून क्रिकेट प्रेमियों के सर पर इस कदर तारी है कि कोई भी भारतीय अपनी पराजय को देखना तो दूर सुनना भी बर्दाश्त नहीं कर रहा है जुनून और इस हद तक जो कई मायनों में आर्थिक ,सामाजिक और राजनैतिक दृष्टिकोण से हानिकारक है सोचो जरा जिनकी भावनाओं का दोहन करके उद्योग पति अरबों की कमाई करता है उन्हें क्या इस कमाई का कोई हिस्सा मिलता है ? नहीं, इसके विपरीत उद्योगपति द्वारा विज्ञापन में जो करोडो रूपये खर्च किये जाते है उसका कई गुना अधिक अधिभार हम आम जन को राजमर्रा की वस्तुओं के खरीदने में देना पड़ता है साथ ही हम अपनी भावनाओं के वशीभूत होकर आज के दिन अपना कम काज बंद करके पूरा दिन इस उम्मीद के भेट चढ़ा देते है कि इंडिया आज पाकिस्तान को जरूर पटकनी दे देगा ! काश ! ......इंडिया जीतने के बजाय यदि हर जातi! है तो क्रिकेट बोर्ड और खिलाडियों के पास रटा रटाया जुमला कि क्रिकेट बाई चांस कह कर उनकी खामियों कि तरफ उठाने वाली हमारी उँगलियों के मनतब्य को सिरे से ख़ारिज कर दिया जाता है और हम लोगों को अपनी संकुचित भावनाओं का सही जवाब मिल जाता है और करीब ७० करोड़ व्यक्तियों की एक दिन की दिहाड़ी मरी जाती है
समाज में क्रिकेट मैच का उन्माद इस कदर फैलाया जाता है की आम जन अपना बुद्धि - विवेक खोकर अपने को मैच की हर - जीत के लिए दुश्मन को समूचा निगल जाने की दशा में लाकर खड़ा कर देता है ऐसी दशा में दोनों देशों की अवाम के बीच सौहार्द्ध पूर्ण संबध बनाने की आशाओं और उम्मीदों को कैसे मंजिल हासिल होगी यह यक्ष प्रश्न खड़ा हो जाता है जिसका जवाब हम अवाम के पास है नहीं और स्वकथित शांति के ठेकेदारों से उम्मीद लगाना उससे भी ज्यादा वेइमानी होगी यह विडम्बना ही तो है कि जो हम अवाम की भावनाओं को भड़का कर अपना उल्लू सीधा करता वही शांति का दूत भी है तभी तो आज देश और समाज इस हश्र को पहुँच गया है
भारत के प्रधानमत्री जी ने गिलानी साहब को निमंत्रण क्या भेजा उनका भेजा ही बदल गया जैसे वह मैच देखने नहीं बल्कि वरसों से देखी जाने वाली उन्हें मुराद मिल गयी हो और दोनों देश के रहनुमा इसे हाथ से जाने नहीं देगे लेकिन ढ़ाक के वही तीन पात भारत की शर्त पाकिस्तान को क़ुबूल नहीं या पाकिस्तान आस्तीन का सांप है इसकी करनी और कथनी में विश्वास नहीं किया जा सकता !दोनों देशों की अवाम हर बार की पहल पर उम्मीद लगाती है क़ि शायद इस बार हम सब लोग अपने -अपने देश क़ि नागरिकता के सिवा सब कुछ भुला कर खुश नुमा माहौल में जी सकेगे लेकिन उनसे उम्मीद लगाना निरर्थक ही होगा जो दोनों देशों की करीब ९९ फीसदी जनता के असली आस्तीन के सांप है !
आखिर मैच है देर शाम समाप्त हो जायेगा यह रोज मर्रा का कार्यक्रम है इसे रोज मर्रा के कार्यक्रम की तरह निपटाने की मानसिकता बनानी होगी और जो लोग इंसान में देवत्व का महिमा मंडन करके इंसान की गरिमा को दागदार कर रहे है उन्हें मुंह तोड़ जवाब देना होगा

देवेन्द्र पटेल
फतेहपुर
मो. ९४१५५५९१०२
...
written by Shailendra Saxena "Adhyatm", March 25, 2011
- Hide quoted text -
देवों से वंदन पाना .............

अब होते अत्याचारों पर
मिलकर ये हुँकार भरो
कहाँ छिपे हो घर मैं बेठे
निकलो और संहार करो

आतंकी अफजल , कसाब को
और नहीं जीने दो अब
घुस जाओ जेलों मैं मित्रो
आओ मिलकर वार करो

कोन है हिटलर ? कोन है हुस्नी ?
किसका नाम है गद्दाफी ?
दुष्टों को बस मोत सुना दो
देना नहीं कोई माफ़ी ....

कि जो कोई साथ दे उनका ,
बजाय हुक्म माली सा ,
सजाय मोत दो उनको
रूप हो , रोद्र काली सा .

जेलों मैं बिरयानी खाते
धंधे अड्डे वहीँ जमाते
सरकारी मेहमान वन जाते
वीच चोराहे मारो लाकर
उनका पर्दाफाश करो

जो इनको देते सुख सारे
( संसद पर हुए हमले मैं
शहीद हुए पुलिस विभाग के
वीरों से माफ़ी के साथ )
करते जेवों के न्यारे -वारे
उन वर्दी धारी गुंडों का
अब न कोई खोफ करो
चमड़ी खींच नमक भर दो अब
मारो और हलाल करो -२

वो जो इनकी फांसी पर
राजनीति करने वाले
सफेदपोश दिखते ऊपर से
अन्दर जिनके मन काले
ऐसे नेताओं का अब
जनता से वनवास करो
मुंह काला कर दो उनका अब
पूरा सत्यानाश करो ...२

उनने जाने कितने राही
चलती राहों पर मारे
उनके जुल्मो और सितम
जग जाहिर कर दो अब सारे
अब भी रहे मोन साथी तो
कुछ भी न कर पाओगे
वेवस आहों और दर्दों के
अपराधी कहलाओगे

आहों से लपटें निकल रहीं
दीन दुखी जन सांसों से

- Hide quoted text -
भस्म-भूत होगा अब सब कुछ
आर्तनाद की आहों से

महाकाल की आहट को
अब अपना संबल जानो
कृष्ण सारथी बन जायेंगे
अर्जुन बन अब तुम ठानो

प्रलय मचा दो इन दुष्टों पर
इनको माफ़ नहीं करना
उनकी सोचो जिन बहिनों का
अब सिंदूर नहीं भरना

पूछो उस माँ से जिसने
रण मैं इकलोता खोया है
अश्क आँख से सूख गए
उसने ऐसा क्या बोया है....?

बिटिया को लगता है अब भी
उसके पापा आयेंगे
प्यार करेंगे गोदी लेकर
लोरी नई सुनायेंगे
उस बिटिया को पता नहीं है
अब पापा न आयेंगे
उसके लोरी के सपने
अब झूठे पड़ जायेंगे
ऐसे गद्दारों की रक्षा
जेलों मैं क्यों होती है ?
और कुटिल सरकार निकम्मी
उनके चरणों को धोती है

मंदिर मस्जिद से उठने दो
हक़ की अब आवाजों को
पहिचानो गुरुद्वारा गिरिजा
से उठते अब साजों को
ऋषि दधीचि से बज्री वन तुम
ऐसा रण संहार करो
ख़ाक मिटा दो हत्यारों की
मिलकर आज प्रहार करो
ऐसा कर के पक्का मानो
स्वर्ग लोक तुम जाओगे
देव करेंगे अभिबादन
तुम महावीर कहलाओगे -२

भगत सिंह सुखदेव राजगुरु
और आजाद से वीरों को
पूजित वन्दनीय ये जंगी
क्या पूजें धनी - अमीरों को ?

लिखता नहीं गीत मैं मित्रों
गुंजा गोरी के गालों पर
न्योछावर जीवन ये सारा
मानवता के लालों पर

महा काल की आहट को
अब आया तुम सब जानो
आतंकी तहस नहस होंगे
संकल्प यही पक्का मानो

मुट्ठी बांधे आये जग मैं
खाली हाथ हमें जाना
शर्म शार न हो भारत माँ
गर्वित हो गोरव पाना

दुर्योधन की मांद से अच्छे
अभिमन्यु तुम बन जाना
बलिदानी हो जाना रण मैं
देवों से वंदन पाना ...
संतों से वंदन पाना ...
गुरुओं से वंदन पाना...
जन जन अभिनन्दन पाना ....
भारत माता की जय

( देश के वीरों को समर्पित कविता )

शैलेन्द्र सक्सेना "अध्यात्म"
संचालक -असेंट इंग्लिश स्पीकिंग कोचिंग
बरेठ -रोड गंज बासोदा
जिला - विदिशा .म.प्र .
मोबाइल- ०९८२७२४९९६४
जय माईकीशैलेन्द्र०६@जी
मेल.com
jaimaikishailendra06@gmail.com
...
written by meenakshi srivastava, March 23, 2011
respected sir,
firstly apko bahut bahut badhai k aa is forum ko itna aage le ja rahe hain..lekin ek request k agar aap is site par sabhi channels aur papers me vacencies ko bhi display kar saken to naye reporters aur freshers ko kafi madad mil sakti hai.............

warm regards
...
written by SP Singh, March 22, 2011
my mail id is evergreen.sp1969@yahoo.in

regds
spsingh
...
written by SP Singh, March 22, 2011
Dear Sir,
Could you please help me to get the contact number of Mr Subhash Sharma Director of tv99 Jaipur.

regds
spsingh
...
written by A Zammer Khan , March 21, 2011
Yashwant Ji,
AAp tareef ke layek hain.Sahi baat to yeh hai kie bhada4nedia ke karan se bhut si khabrien mil jati hain.aap se umeed hai is khabr ko bhi denge .
Sahara Urdu ki ek badi khaber yeh hai kie shri Aziz Burney ke baad dusre number par Shri Asad Raza aur Shri Shakeel Hassan Shamshi ko rakha gaya tha magr kuch roz pehle Shri Shakeel Shamshi ne istafa se diya hai aur woh Jagran samoh ke Urdu Akhbar INQUILAB se jud gaye hain jis se Sahara Urdu mein khalbali mach gayi hai kyon ki woh Sahara ki bahut si kamzori jante hain.INQUILAB Mumbai ka ek bada news paper hai aur Roznama Rashtriya Sahara se lakh darje baither hai.
Shri Aziz Burney ki wapasi se kei logon ka wiswas totta hai.
Kolkatta se khber hai ke wahan ke famous Urdu akhbar Azad Hind jo kuch saal se baand tha ab ek Bade udyog patti ne khareed liya hai aur Roznama Sahara Kolkatta ka bada staff Azad Hind mein chala gaya hai.
Hyderabad,Bangalore,Mumbai mein bhi bura haal hai.
Bangalore mein ek stringer ko Special Correspondent bana diya gaya hai.Jo seniors ke nak mein dam kar raha hai.
Ranchi taqreeban baand ho chuka hai.
Mumbai mein koi system kam nahin kar raha hai.Mumbai Urdu Deptt ko side line kar diya gaya hai.Yahan Net baand pada hai.Koi puchne wala nahin hai.
Shri Aziz Burney ke wapas aane ke baad aiysa lag raha hai ke zimedaroon ko koi dilchaspi nah hai.
...
written by Rajvir Singh, March 16, 2011
Sir ji namaskaar,

sir ji mujhe aap se milna hai aap ki koi cont.No. mil sakta hai, ya koi mail ID please help me .
rajvir singh
raj.jatin007@gmail.com
9810857360
...
written by rajesh pandey, March 14, 2011
यशवंत जी
नमस्कार
मीडिया में बड़े पत्रकार और छोटे पत्रकार की क्या परिभासा होती है , कई बार बड़े और छोटो का झगडा बहुत बढ़ जाता है
इसका एक उदाहरन है - बांदा जनपद में कुछ कथित बड़े पत्रकारों ने जब जुएँ में पकडे गए जुआरियो की फोटो लगाने को सभी छोटे पत्रकारों
को मन कर दिया तब ये झगडा सामने आया . क्या छोटे अखबारों का कोई महत्तव नहीं है . क्या सिर्फ कुछ चुनिन्दा अखबारों की ही खबर सही है .
जब -जब विरोध किया जाता है कोई न कोई झूठा आरोप लगा कर (किसी अधिकारी से कहला कर पैसे माँगने का आरोप ) शांत कर दिया जाता है .
यदि आप मुझसे सहमत हो तो मुझे मेल करें chitrakoottimes@gmail.com
...
written by ....., March 13, 2011
Hello Yashvant ji main chahta hun ke aap News Point (agency) ke baare main bhi kuch likhen.
...
written by anuj singh, March 10, 2011
hi mai anuj singh hoo mai kanpur ke rahene wala hoo i m agery with every press reporter.voice
...
written by shekhar, March 08, 2011
Sir g... i m shekhar from mohammdi, dist-lakhimpur kheri, mohammdi mein bahut farzi patrakaar ho gaye hain . koi b mehnat nahi karna chahta hai, patrakaar bankar supply, police mein dalali aur lootkhori karte hain. in logon ne patrakaron ko badnaam kar rakha hai... in logo ki shikayat kis deportment mein ki ja sakti hai, farzi patrakaron ko padadwane ka tareeka batayein. jisse inko jail bhijwaya ja sake...
shekhar_nic2007@rediffmail.com
...
written by DEVENDRA PATEL, March 07, 2011
शाहबाग को इच्छा मृत्यु मिलनी चाहिए

शाहबाग को मरने का हक़ मिलना और न मिलना तो कोर्ट के निर्णय पर निर्भर है मगर जब किसी के हक़ की बात है तो उसमे कोई बाधा स्वीकार नहीं की सकती ,क्योकि लोकतंत्र और संविधान इंसान को हक़ दिलाने के लिए बने है न कि उसके हक़ में बाधा बनाने के लिए !जहाँ तक मैंने आज देखा है कि भारतीय संविधान ,लोकतंत्र और न्यायालय मात्र एक रोबोट की तरह काम करते है जबकि इन संस्थाओं के संचालक आत्मकथित
विवेकशील और समाज के सबसे प्रबुद्ध इन्सान है जिनका दावा है कि समाज का हित हम ही पूरी निष्ठां,इमानदारी और संवेदन शीलता से कर सकते है मगर सच यह है कि शाहबाग की परिस्थितियों से पूरी तरह वाकिफ होने के बाद उसके हित में निर्णय करने में यदि कानून अपना कम करेगा तो इन तथाकथितों और भारतीय संविधान को लानत है और तब जब शाहबाग जीवन -मौत से संघर्ष करते-करते निर्णय आने के पहले ही संसार से विदा ले -लेती है !
अरे !....................प्रबुद्ध गणों उसे तत्काल न्याय की जरूरत है और न्याय उसकी भावनाओं के अनुसार होना चाहिए क्योकि उस निर्णय से उसके सिवा किसी का अहित नहीं होगा निर्णय के साथ यह जरूर कहा जाना चाहिए कि यह निर्णय समय और परिस्थिति के अनुसार लिया गया है और भविष्य में इस तरह के मामलों में कोर्ट अपनी जाँच टीम भेजकर निर्णय करेगा क्योंकि स्व इच्छा मृत्यु के हक़ को कोर्ट कानून के रूप में मान्यता नहीं देता है समय और परिस्थिति का आकलन करने के बाद कोर्ट का निर्णय भिन्न भी कता है
mo.no.9415559102
...
written by DEVENDRA PATEL, March 06, 2011
बुद्धि का कमाल
विडम्बना यह है कि संकीर्णताओं की परिधि में आखिर इस सृष्टि का सबसे बौद्धिक प्राणी है जो अपनी बौद्धिकता का दावा उस हद तक करता है जहाँ वह पागलपन के निर्णय कर स्वम और इस सृष्टि के विनाश की ओर अग्रसर हो जाता है और अपने विनाशकारी निर्णय पर मेघनाथ की तरह ठहाका लगता है और चिल्लाता है कि मेरे सिवा इस सृष्टि में कोई बौद्धिक नहीं ,जब कि हर प्राणी अपना जीवन अपनी बुद्धि -विवेक से जीता है जब तक इंसान उसकी जिंदगी में दखल नहीं देता है उसकी नस्ल विनाश से बची रहती है उसके जीवन के लिए भी इन्सान ही विनाशकारी है वह इन्सान के लिए नहीं है वाह री बौद्धिकता ! तेरा भी क्या कमाल है जो भी तुझे सम्मान देकर वरण करता है तू उसे ही खा जाती है ! तू सही ही करती है कि जो तुझे पाकर घमंड में चूर होकर विवेक ही खो देता है उसका हश्र यही होता है , तू आइना भी दिखाती है मगर इंसान तेरे आईने से नहीं बल्कि घमंड के आईने से देखना पसंद करता है इसलिए कि घमंड वह दिखाता है जो इंसान देखना पसंद करता है और तू भूत - भविष्य का असली चेहरा दिखाती है

...
written by mohit, March 05, 2011
respewctd sir,
sir please ad marketing news in your blog
...
written by gaurav, February 25, 2011
kaatyayani t.v. me 3 logo ne ek saath MCR se resign kr diya. ek saal se b kam time me kaatyayani MCR me bahut saarey bando ne resign diya hai.
UNI T.V. ko bhi isse bahut problem hui hai.
...
written by nagmani pandey, February 21, 2011
yaswant ji,
bhadas4media ka kam bahut hi sarahniya hai

Nagmani Pandey
Reportar ,HAMARA MAHANAGAR
09322379123
...
written by surender, February 17, 2011
plz provide links to share stories
...
written by Anant Kaushik, February 10, 2011
yashwant ji,
mai aapke saath jurna cahta hu, kya karna parega, is line mai 2 year se hu, is time amroha local news paper super news leader mai hu
...
written by M.ayaz, February 07, 2011
Sir i m Mohd.Ayaz i live in kanshiram Nagar Utterpradesh i can join bhadas4midia my contect is 9058219734
...
written by Ajay Garg, February 05, 2011
sir, I want to get a job as staffer in media line. Right now I am in amar Ujala as a stringer. What shall I do ?
Ajay Garg
09410646065
...
written by Ajay Garg, February 05, 2011
I have been reporting in Amar Ujala since 31 mar 2006 as a stringer. Now I want to get a job permanent in media line as a staffer. I have completed 1 year diploma in Journalism from IGNOU (PGJMC) in 2008. Tell me what shall I do?

Ajay Garg
Town & Post-Bugrasi, Distt. (Bulandshahr)
09410646065
...
written by Sanjay, January 24, 2011
Its really good that besides strong contents of the site u thought of presentation and changed Red Color to pleasant one. Pl also think of the the main Scroll pl put it more manageable style rather than jerk. Because of the saze of scroll news whole page gets up-down and there is no provision if want to see previous scroll. There should also be "more..." link link so that all scrolls could be seen in separate page in flat mode.
...
written by xyz, January 21, 2011
yashwant ji kai din se voice of nation ke bare me koi khabar nahi chhapi channel band ho gaya kya.... mere nam me interest mat lijiye lekin khabar deta hu... von ka ek ladka asif nam ka achha anchor tha aajkal TV 100 me nazar aa raha hai baki apne star se pata karwa lijiye apke to sutra hi bahut hai main janta hu ...
...
written by Aman Kaushik, January 17, 2011
sir me aap ke akbhar ke saath judhana chahta ho plz aap mugha jarur battai ke aap ke akbhar ke saath kaisa juda gayga aajkal me haldaur me patarkarita kar raha ho so plz reply me iam very intrested for join your news paper
AMAN KAUSHIK HALDAUR
...
written by Aman Kaushik, January 17, 2011
hello Sir ma aap ke akbhar ke saath judna chahta hoo aaj kal ma haldaur me patrkarita kar raha ho plz aap mugha jarur batai ke aap ke akbhar ke saath kasha juda jaigya
...
written by Mansi, January 09, 2011
there is question to media and our great politicians ARE THEY REALLY THE VOICE OF PEOPLE?????ARE THEY REALLY HERE FOR HELPING PEOPLE OR FOR EARNING MONEY.
...
written by aqil ahmed, January 08, 2011
yashwant bhai jay hind maine is site par khafi logon ka vichar padha hai aur padh raha hun main nanded ka rahne wala hun yeh maharashtra ka ek distic.hai yahan k shri ashok chawan g c.m. the yaha par school khas tuar par urdu school ki padhai sahi nahi hai yaha par humne ek society banai hai jis ka naam RASHTRIYA EKATMATA MITRA MANDAL HAI is ki opening hum 26-1-2011 ko aur yaha par hamare nanded ke bade post k log bhi aane wale hai blood donet se shuru kar rahe hai jis me 200-250 log blood denge is progaram k baad hum bharshtachar k kilaf aawaz uthna chahte hai to hame aap ka sahkarya chahiye thanks (akhil ahmed mob.09979799786)
...
written by Ghanshyam Krishana Porwaal, January 08, 2011
जनपद औरैया (उ.प्र.) का प्रमुख शीतकालीन विख्यात पशुमेला अपने आप में एक अलग पहचान रखता हैं। इस मेले में बाहरी प्रदेशो के व्यापारी जानवरों (सुअर, गाय, बैल, भैस) की खरीद-फरोख्त करने के लिये अपने लाव-लश्कर के साथ आते है। और अपना व्यापार करते है। वहीं दुसरी ओर सत्ता की हनक और खाकी की पनाह में दलालों द्वारा लाखों रुपयों के अवैध कार्यो को अंजाम दिया जाता हैं। पन्द्रह दिनों तक चलने वाले इस मेले में बहराइच, गोण्डा, गोरखपुर, मुज्जफरपुर, शाहजहॉपुर, बरेली, बिहार आदि स्थानों के व्यापारी आ चुके हैं। यह मेला इस समय जनपद के उत्तर दिशा में लगभग 30किमी. दुरी पर स्थित अछल्दा में लगा हुआ है। इस मेले मे सर्वाधिक खरीद-फरोख्त सुअर और गाय की होती है। यहॉ पर तीन क्विंट्ल तक के वजन के सुअर जिनकी कीमत लगभग 25से लेकर40 हजार तक होती है बिक्री के लिये आते हैं। वही 50 हजार रुपयों की कीमत और लगभग 30 लीटर तक दुध देने वाली गायें इस मेले का आकर्षण होती है। वहीं प्रशाषन की लाखों कोशिशों के बावजूद सभी नियमों को दर किनार करते हुए। यहॉ दिन-रात में काले कारनामों को अंजाम दिया जाता हैं। गायों को व्यापारी लोग ट्रकों में लादकर लाते तो बेचने के लिये मगर यहॉ उन्हे बेच दिया जाता हैं कसाई व्यापारियों को। वे लोग पूरे दिन इन गायों की खरीद करते। और शाम ढ्लते ही इन हजारों पशुओं को खाकी के पहरेदारों की सागिर्द में ट्र्कों में ठूंस-ठूंस कर भर दिया जाता है। और रात में ही इन ट्रकों को रवाना कर दिया जाता है। कई बार लोगों ने इसके खिलाफ सामाजिक लोगों ने आवाज उठायीं पर कोई निष्कर्ष न निकला। । दुसरी ओर खुलेआम बीमार सुअरों का वध करके उनके गोश्त को गर्म कर खुले आसमान के नीचे बिक्री के लिये रखा जाता हैं। जो 150/किग्रा. की दर से बिकता है। जबकि यह प्रतिबंधित है। इस संबंध में पशू चिकित्साधिकारी डा.धर्मेन्द्र सिंह बताते हैं – कि पशु वध से पहले जानवर की चिकित्सीय जांच कराना आवश्यक हैं। कि क्या वह रोग ग्रस्त है या नहीं। तभी उसका वध किया जा सकेगा। बीमार पशुओं के गोश्त से विभिन्न बीमारियां जैसे-मैनेंजाइटिस, फूड्प्वाइजनिंग, ईट्राइटिस आदि हो सकती हैं। उन्होंने यह भी बताया कि मैने थाना प्रभारी को लिखित प्रार्थना पत्र भी दिया कि शासन के निर्देशानुसार इस मेले में नियमों को दर किनार करते हुए पशुओं की खरीद-फरोख्त और वध हो रहे हैं। पर आज तक कोई कार्यवाही नही हुई। जबकि इस मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों तक को हैं
...
written by aapkiawaz.com, January 02, 2011
आपकी आवाज़.कांम का प्रयास
"देश की प्रमुख समस्यायें और उनका समाधान"
विषय पर हिन्दी या अंग्रेंजी में आपके विचार आमंत्रित है।
1.राजनीति का स्वच्छीकरण,
2.बेलगाम भ्रष्टाचार,
3.न्यायिक व्यवस्था,
4.बढ़ती सांप्रदायिकता,
5.आतंकवाद,
6.आरक्षण निति.
7.मीडिया का निष्पक्षता,
8.अलगाववाद,
9.जनता की उदासीनता। आदि

भारतवर्ष के सामनें कई ऐसी गंभीर समस्याये है, जिनके समाधान के बिना देश इन्ही से जूझता रहेगा और दुनियां आगे निकल जायेगी, जिसका न सिर्फ नुकसान नेताओं, राजनीतिक पार्टियों, बुद्धजीवियों को होगा बल्कि आप जनता को न सिर्फ आज भी भुगतना पड़ रहा है और जीवन पर्यन्त जूझना पड़ेगा। कृपया तथ्यों पर आधारित समाधान दें। E-mail: editor@aapkiawaz.com.
...
written by Mohammad Anjum jafri(Sahafat urdu Daily), December 28, 2010
bhai sahab
salam Arz hai
aap sabhee ki baat likhte ho ,kabhi akhbaaron main khabar likhne waale patrkaaron ki bhee khabar likh dijie
Aaj jo jagah jagah patrkaar logon se maya batorte phir rahe hain aur black mailing ki rajniti kar rahe hai kabhee is kaa kaaran bhee pataa lagaane ki koshish ki hai ap ne ?
meri nazar main is ka mukhy kaaran dhadaaa dhad jaari akhbaaron ka panjikaran hai
jo aadmi apne khaane ka bhee intazaam nahee kar pa rahaa woh akhbaar nikaal kar baith jatat hai aur is ke baad shuru haota hai logon ko dhons dene ka silsila ji main woh sab kuch karta hai aur un ke is kaam se aam patrkaar jo apni p[agaar par dipend hota hai bhee badnam ho jata hai
is ka aik dusra kaaran samaachaar patron kio aur se dee jane waali kam pagaar hai jis se bikc ka tel bhee nahee nikltaa to phir ghar kaise chal paega ?
sab se adhik bura haal to urdu akhabaaron ka hai ki jis main kaam karne waale bechare sahaafi( patrkaar)aik faqeer ki si zindagi guzaar rahe hain ,ye bohat hee aham wishay hai Yadi mana jaae aur naa mana jae to uch bhee nahee hai
log sab ki baat karte hain
magar khabar likhne waalon ki khabar kon lega ?
meri aap se guzarish hai ki aap in chand maamlaat par ghor kar ke is ko bhee apni site par jagh den shaaya log is kaa hal nikaal len
...
written by aapkiawaz.com, December 22, 2010
यशवंत जी, आशा है आप सपरिवार प्रशन्न होगें, आपकी आवाज़.काँम की 2006 से लगातार कोशिशों के बाद ये सफलता हाथ लगी है। ये नोटिस परजरी यानी गलत शपथपत्र न्यायालय में देने का आरोप है, और किसी किसी एक तो 7 से 10 वर्ष तक का कारावास हो सकता है अधिक जानकारी के लिए कृपया देखिये: www.aapkiawaz.com.

2 आईएफएस सहित 4 अधिकारियों को अदालत
ने किया जवाब तलब - आईसीसीआर को फटकार
आपका
...
written by Sanjay, December 18, 2010
khabaar pakki hia ki Lok sabha TV ki teztarar aur talentead anchor munmun bhattacharya jaldi hi lok sabha tV ko alvida kah sakti hain. khabar ya hai munmun ko Times now channel ne offer kiya hai aur aur jald hi we is offer par faisala le sakti hain.. munmun pichhale 3 sal se lok sabha tV ke sath hai aur kaafri bade bade show host kar chuki hain aur kafi mehnati mani jaati hai..
...
written by ANUPAM UPADHYAY, December 17, 2010
Mr. Yashwant,

Accept my best wishes for you, your family and for your undoubted unmatched effort, I have read your article for donation also and asked to my contacts to contribute in this yagya of trutha with instant evidance.
...
written by bijay, December 15, 2010
भागलपुर से प्रभात खबर के प्रकाशन के खबरों के बीच किशनगंज के पत्रकारों में जो स्थानीय ब्यूरो के मनमाने रवैये से परेशान थे में काफी खुशी है | इससे पहले के लगभग सभी पेपरों में काफी हडकंप सा मच गया | जागरण हो या हिन्दुस्तान या सहारा . शभी के पत्रकार जहा प्रभात खबर के संपर्क में है | जो खबरे है सबसे ज्यादा नुक्सान जागरण को उधना पड़ सकता है |
...
written by bijay, December 15, 2010
भागलपुर से प्रभात खबर के प्रकाशन के खबरों के बीच किशनगंज के पत्रकारों में जो स्थानीय ब्यूरो के मनमाने रवैये से परेशान थे में काफी खुशी है | इससे पहले के लगभग सभी पेपरों में काफी हडकंप सा मच गया | जागरण हो या हिन्दुस्तान या सहारा . शभी के पत्रकार जहा प्रभात खबर के संपर्क में है | जो खबरे है सबसे ज्यादा नुक्सान जागरण को उधना पड़ सकता है |
...
written by P J Lal, December 13, 2010
I am an ex-journalist (English media) and have spent a large portion of my working life in Hong Kong.

I wrote a few real crime stories in Hindi for Satya Katha and Manohar Kahaniya when I was in India back in early 70s.

I came across your site because of a mention in Ravish's blog and am quite impressed with the quality of the blog content and wish you well.

If you can interview a few journalists including Vishwanath Sachdev and others from various tabloids in Mumbai your site will have more readers from other regions of India .

...
written by ashok gupta, December 12, 2010
just now by chance i have come across this blog, and i am happy i came to know this.
there are better news then any newspaper.
i want to be associated with this blog.
jai shree krishna
ashok gupta
delhi
ashok.gupta4@gmail.com


if possible i would like to talk / see shree yashwant jee and congratulate him personally.
...
written by SUDHANSHU SINGH, December 01, 2010
Now,i m joining etv agra from bareilly.
Starting career from 93.5 RED FM & NEWS 24 as a Trainee in 2007-08.
Then joining HINDUSTAN TIMES,Allahabad developing classified page and makes history to achieve classiefied target firstly under the classiefied head Mr.Gopal Rastogi.
...
written by yogesh, November 23, 2010
What Ratan Tata did for the Mumbai victims.... what every Indian should know!

Ratan Tata is the chairman of Indian Hotels who own the Taj Mahal Hotel Mumbai, which was the target of the terrorists on 26/11/08.

Hotel President a 5 star property also belongs to Indian Hotels.

The following is really touching.

What Ratan Tata did for the Mumbai victims.... Don't miss!!!!!!

SALUTE TO MR. RATAN TATA

A. The Tata Gesture

1. All category of employees including those who had completed even 1 day as casuals were treated on duty during the time the hotel was closed.

2. Relief and assistance to all those who were injured and killed

3. The relief and assistance was extended to all those who died at the railway station, surroundings including the “Pav- Bha ji” vendor and the pan shop owners.

4. During the time the hotel was closed, the salaries were sent by money order.

5. A psychiatric cell was established in collaboration with Tata Institute of Social Sciences to counsel those who needed such help.

6. The thoughts and anxieties going on people’s mind was constantly tracked and where needed psychological help provided.

7. Employee outreach centers were opened where all help, food, water, sanitation, first aid and counseling was provided. 1600 employees were covered by this facility.

8. Every employee was assigned to one mentor and it was that person’s responsibility to act as a “single window” clearance for any help that the person required.

9. Ratan Tata personally visited the families of all the 80 employees who in some manner – either through injury or getting killed – were affected.

10. The dependents of the employees were flown from outside Mumbai to Mumbai and taken care off in terms of ensuring mental assurance and peace. They were all accommodated in Hotel President for 3 weeks.

11. Ratan Tata himself asked the families and dependents – as to what they wanted him to do.

12. In a record time of 20 days, a new trust was created by the Tatas for the purpose of relief of employees.

13. What is unique is that even the other people, the railway employees, the police staff, the pedestrians who had nothing to do with Tatas were covered by compensation. Each one of them was provided subsistence allowance of Rs. 10K per month for all these people for 6 months.

14. A 4 year old granddaughter of a vendor got 4 bullets in her and only one was removed in the Government hospital. She was taken to Bombay hospital and several lacs were spent by the Tatas on her to fully recover her.

15. New hand carts were provided to several vendors who lost their carts.

16. Tata will take responsibility of life education of 46 children of the victims of the terror.

17. This was the most trying period in the life of the organization. Senior managers including Ratan Tata were visiting funeral to funeral over the 3 days that were most horrible.

18. The settlement for every deceased member ranged from Rs. 36 to 85 lacs [One lakh rupees translates to approx 2200 US $ ] in addition to the following benefits:

a. Full last salary for life for the family and dependents;

b. Complete responsibility of education of children and dependents – anywhere in the world.

c. Full Medical facility for the whole family and dependents for rest of their life.

d. All loans and advances were waived off – irrespective of the amount.

e. Counselor for life for each person

B. Epilogue

1. How was such passion created among the employees? How and why did they behave the way they did?

2. The organization is clear that it is not something that someone can take credit for. It is not some training and development that created such behaviour. If someone suggests that – everyone laughs

3. It has to do with the DNA of the organization, with the way Tata culture exists and above all with the situation that prevailed that time. The organization has always been telling that customers and guests are #1 priority

4. The hotel business was started by Jamshedji Tata when he was insulted in one of the British hotels and not allowed to stay there.

5. He created several institutions which later became icons of progress, culture and modernity. IISc is one such institute. He was told by the rulers that time that he can acquire land for IISc to the extent he could fence the same. He could afford fencing only 400 acres.

6. When the HR function hesitatingly made a very rich proposal to Ratan – he said – do you think we are doing enough?

7. The whole approach was that the organization would spend several hundred crore in re-building the property – why not spend equally on the employees who gave their life?

This is NOT COVERED BY Any NEWS CANNELS !

I Salute Mr. Ratan Tata………..





...
written by ramarangan, November 18, 2010
I m d employee of amarujala and this is very shameful news for amarujala management that one reporter of Kanpur had resigned from amarujala 8 months back but still he is getting his fuul salary every month in his account becoz of his godfather in amarujala who is senior most person after owner of amarujala.
Agar aisa hi chalta raha to kya hoga media sector ka.
...
written by anu chauhan, November 15, 2010
daiy divya himachal dharamashal HP
ke genral desk se ek ek karke teen sub editor surinder saini' minakshi thakur aur aarti sharma ne nokri chod di hai .ab genral desk par staff ka tota pad gya hai .kam pay ke karan baki sub editors bhi playan ki soch rhe hai
...
written by sumit sagar, November 13, 2010
Hello sir,
I came to know I am sending you through by internet.
That you have a vacancy for the correspondent, reporter, Photographer post in
Bihar kithara district only your esteemed organization.Since I meet all the
required qualification and experience conditions.I wish to offer my candidature
for yhe same and supply here under my details relevant to the job.I assure you,
sir that if selected I shall do my worke most conscientionaly I also attached my
profile.

You’re faithfully

Summit Kumar jihad

Mob:-+919199449420

+919905939467

...
written by ritesh, November 13, 2010
i dont want comment...........
...
written by nikhil vats, November 10, 2010
sir..
thoda sa dhyan hapur mein ho rahe gande journalism ki aor bhi dein...yahan bhi dalalo ki mandi sajti hain...yahan inverter banane wale logo ko journalist bana diya jata hai........
...
written by santosh kumar, November 10, 2010
yaswant ji
namaskar
agar aapko thodi phusat ho jaye, too DD NEWS per bhi dhyan dene ki jarurat hai.
kyoki mai anyaye ke khilaf lar raha hu,aap meri madad kijiye.mujhe RTI kanun ka
prayog karne or rishwat nahi dene ki wajah se pradesik samachar akanse,doordarshan.patna,bihar se stringer work se wanchit kar diya gaya hai,lakin meri khabre national channel DD NEWS per lagatar khabre chalti hai.mai muzaffarpur district bihar se dd news stringer hu or all india doordarshan stringer association,bihar ka president bhi hu.mujhe kafi dino se aarthik or manshik rup se pareshan kiya gaya hai or kiya ja raha hai.lakin mai sach ki ladai lar raha hu,aap hamari madad kare.

aapka
santosh kumar
ssantoshkkumar79@gmail.com
mob:-09835003476
...
written by manoj, November 09, 2010
Yashwant jee zara CNEB ki bhi khabren chhapa kijiye.... waha bhi maheeno se stringers ko salary nahi mili hai... aur bhi kafi gad-bad jhala hai...
...
written by rajesh, November 03, 2010
yaswant ji MP me INDIA NEWS ka theka de diya gaya hai....
jo log chanel ki shuruaat je jude the unhe laat mar kar nikal diya....
ab paisa do or thekedar se i d lo ho gaya....
stringer -
Lal chand rathour 09039303021 Ratlam,
Sandeep joshi 09425085905 Khandwa,
Rakesh chourasia 09424910003,
Dileep 09926283112 Bhind
...
written by ps chauhan bathinda punjab, November 03, 2010
hello sir
me ps chauhan from bathinda punjab. i have done 9 year media line . please give me a chance
...
written by DEVENDRA KU.PATEL, November 02, 2010
पुलिस विभाग में जिस खुफिया तंत्र का उपयोग किया जाता है !वह वास्तव में समाज का अपराधिक वर्ग होता है इस वर्ग के अपराधों को संरक्षण प्रदान कर पुलिस विभाग छोटे -छोटे अपराधियों या निर्दोष लोगो को पकड़ कर बड़े -बड़े अपराधों का खुलासा कर अपनी पीठ स्वयं थपथपाती है !इसीलिए अपराध घटने के वजाय बढ़तेजा रहे है मेरे पास ही एक पुलिस का ख़ुफ़िया व्यक्ति सभी तरह के अपराध कराता है खुलेआम जरूरत मंद लोगो को लड़किया आपूर्ति करता है फतेहपुर शहर की पुलिस के संरक्षण में जिसके कारणसभी लोगो के लिए आतंक का पर्याय बना हुआ है उस व्यक्ति के खिलाफ आवाज उठाने या शिकायत करने का मतलब पुलिस शिकायतकर्ता को बिना किसी अपराध के संगीन मामलों में फंसा कर जेल की सलाखों में कैद कर देगी !
...
written by ashwani singh, November 01, 2010
smilies/cheesy.gifsmilies/cheesy.gifsmilies/cheesy.gifsmilies/cheesy.gifsmilies/cheesy.gifsmilies/cheesy.gifsmilies/cheesy.gifsmilies/cheesy.gif
...
written by Gaurav Rana Rajput, October 30, 2010
yaswant g namaskar. badla look bahut achcha hai.
...
written by rajshree, October 26, 2010
Hello
ek importent khabar
HBC News ka subh aarambh to ho gya par sukh aur santi se chal nhi paa raha
HBC News se khabar mili hai hi wahan ki employees ke saath factory me kaam karne wale workers jaisa suluk kiya ja raha hai ........
kya aap es par koi action le sakte hai site ke through
saari neetiyan ban rahi hai factory wali

...
written by ashish goswami, October 26, 2010
yeshvant ji,
last week maine coca cola compny ki kinley soda 600ml packed bottel porches ki usme micro kachra tha.....pura pryas kia par compny ki traf se abhi tak koi posstive response nahi mila...so mera irada hai ki bhadas4media ke sahyog se sachhai ko samne laya jaye.
...
written by Deepak tamrakar, October 25, 2010
sir mp mandla ka kya kahna hai.
...
written by DEVENDRA KU.PATEL, October 24, 2010
YASHWANT JI,
मंदिर हो या मस्जिद,या हो गुरुद्वारा ,
बहन हो या भाई ,या हो भाईचारा !
सभी को करना है नेस्तानांबूद,
आतंकवादियों का यही है नारा !!


हिन्दू या मुसलमान,या हो सिक्ख -इसाई,
आतंकवादी राह पर पराया हो या हो अपना भाई !
आज देश भक्तों ने भी है उन्हें ललकारा ,
आतंकवादी वंश परम्परा को मिटाना है हमारा नारा !!

देवेन्द्र वर्मा ,फतेहपुर ,mo.9415559102
...
written by DEVENDRA KU.PATEL, October 23, 2010
यशवंत जी ,
माँ का अपमान इन्सान और उसकी इंसानियत के लिए कलंक है ,मगर जब तक सत्तासीन नेताओं और नौकरशाहों को कलंक लगाने का मुँहतोड़ जवाब नहीं दिया जाएगा तब तक अपने अपमान के लिए न्याय मांगने पर समाज को इनके घडियालूआंसू के सिवा कुछ नहीं मिलेगा समाज के किसी व्यक्ति द्वारा कानून का उलंघन करने पर तत्काल दंड मिलताहै ,और इन्हें आजीवन मुकदमा चलने के साथ मौत हो जाने पर दुखद संवेदना के रूप में बिना अपराध सिद्ध किये मुक्ति मिल जाती है ,इस कुव्यवस्था का जवाब अब समाज को देना होगा ,या फिर आज मेरी कल तुम्हारी माँ ,बहन व पुत्री की अस्मिता पर कुठाराघात होता रहेगा और हम -सब हमारी और तुम्हारी विचारधारा में बँट अपमान को बर्दास्त और आत्म संतोष करते रहेगे,अगर जज्वा हो तो तकदीर की लकीरे भी बदल जाती है ,इसलिए नसीब में जो लिखा है इस विचार धारा को त्याग कर स्वयं अपना नसीब लिखने की विचार धारा को अपनाकर माँ के अपमान का बदला लेने के लिए वैचारिक क्रांति का विगुल फूंक दो !यशवंत जी हम सब मिलकर इसका मुकम्मिल जवाब जरूर देगे ,इस मिशन में हम सब आपके साथ है !धन्यवाद ,941555902
...
written by aapkiawaz.com, October 23, 2010
यशवंत जी, माता जी के केस में इंक्वायरी चल रही थी। लेकिन नतीजा क्या
हुआ, इसकी जानकारी नहीं मिल पायी है। चिंता लगी हुई है, कृपया आपके पास
कोई जानकारी हो तो बतायें। संबंधित पुलिस वालों के विरूद्घ कार्यवाही हुई या नहीं।हमें अन्याय के खिलाफ लड़ाई की कोशिश जारी रखनी चाहियें। आशा है सब कुछ ठीक हो जायेगा।. आभार. संपादक- आपकी आवाज़.कांम।
...
written by DEVENDRA KU.PATEL, October 23, 2010
मानव के कुकर्मों पर मानवता तो हमेशा से शर्मसार होती आई ,लेकिन मानव कब होगा शर्मसार !यह यक्ष प्रश्न का जवाब अपने सुकर्मों के माध्यम से यह तथाकथित सभ्य मानव कब देगा !माँ को तेरी-मेरी के बंधन में बाँध कर हम सभी अपनी संकीर्णता का ही परिचय देते है माँ सम्पूर्ण सृष्टि की जन्मदाता है और उसका अपमान हमारी मानवता पर कलंक है हमारी तथाकथित सभ्यता के दावे का कडुवा सच है ,कि हम किस दिशा व दशा तक सभ्य हुए है उसके वावजूद हम खुलेआम ताल ठोक अपनी सभ्यता का दावा करते है आखिर कार इस दावे के मापदंड क्या है ऐसा तो नहीं,सभ्यता के इस दौर में सभ्यता के मानक बदल गए हों और हम वही घिसे पिटे सनातन भारतीय मूल्यों का राग कर तथाकथित सभ्य मानव के व्यक्तित्व पर प्रश्न चिन्ह खड़ा कर रहे हो ,हाँ यदि यह सच है तो मानव की जननी माँ का विकल्प भी होगा जैसा मुझे मालूम है कि अपवादों को छोड़ कर ऐसा कोई विकल्प नहीं ढूढा जा सका है
...
written by Ashish srivastava , October 22, 2010
वर्दी का गुरुर और अफसरों की मनमानी
जौनपुर, उत्तर प्रदेश
गुरुवार को शहर के लाइन बाजार इलाके में एस वो जी प्रभारी अमरेश सिंह बघेल और उनके सिपाहियों ने एक दुकान पर चुनाव ड्यूटी के लाए कुछ लाठिया खरीदने गए जिसपर वो मोलभाव में पुलिस वाले जबरदस्ती करने लगे जिसपर दुकान दार ने लाठिय देने से मन कर दिया जिस पर एसओंजी प्रभारी और उनके सिपाही उस दुकानदार को बाजार में सड़क के पर पिटाई करने लगे और उसे गलियों से नवाजने लगे यहाँ सब देख पुरे बाजार के दुकानदार जुट गए तब जाकर पुलिस वाले जिप्सी में बैठ कर खिसक लिए, घटना के बाद बाज्रार के सभी दुकानदारों ने दुकाने बंद कर धरना दिया और एस वो जी प्रभारी और सिपाहियों के निलंबन की मांग की है, जिस पर पुलिस कप्तान ने जाँच के बाद कारवाही का आश्वासन दिया है इस घटना की व्यापारिक संगठनो ने निंदा की है और कारवाही न होने पर आंदोलन की बात कही है उधर जिले के थानागाद्दी इलाके में भी एक युवक ने खुद को फेनसी लगा कर आत्म हत्या कर ली है, घटना से पहले एक शुसईट नोट मिला है जिसमे थानागादी के चौकी प्रभारी और कुछ सिपाहियों की प्रतना के कारण आत्म हत्या कर लेने की बात लिखी है

आशीष श्रीवास्तव

जौनपुर

...
written by DEVENDRA KU.PATEL, October 21, 2010
इन्सान
चारों दिशाओं से
आ रही विचार रुपी
हवाओं के झोकों के साथ
चला जा रहा है बहता !

युवावस्था की दहलीज पर
पाँव रखने के वक्त
खड़ा था सशक्त
नितांत अकेला ,फिर भी था निडर!

समाज के विकाश के प्रति
अपने आशावादी विचारों के साथ
बुराइयों को समाज से
उखाड़ फेकने का बीड़ा उठाये
खड़ा था अडिग
चट्टान की तरह !

चारों दिशाओं से
आ रहे विचार रुपी संवेग
आतुर थे उसे
उड़ा ले जाने के लिए अपने साथ
लेकिन उनके प्रयास थे निष्फल !

मगर जिन्दगी के ढलान पर
शारीर का जोश ,वाणी का ओज
और विचारों की दृढ़ता भी गयी ढल !

समाज से बुराइयों को
उखड फेकने का जज्वा
बुराइयों का ही मूक समर्थक
बनकर रह गया !

बुराइयों के मूक समर्थक के एवज में
नवाजे जाने लगे
पुरस्कारों व सम्मानों से
और अब समाज में आदर्श पुरूष बन गए !

एक चिंगारी जो निकली थी
उषाकाल का सुखद एहसास करने के लिए
वह भी गुम हो गयी
उन्ही बुराइयों के साम्राज्य में !

इंतज़ार है सतत
आने वाली प्रत्येक चिनगारी का
अपने विस्फोट से जो
जला कर ख़ाक कर दे
बुराइयों के साम्राज्य को !
परिणाम स्वरूप
बुराई विहीन साम्राज्य का
सृजन हो
देवेन्द्र वर्मा ,फतेहपुर
...
written by DEVENDRA KU.PATEL, October 21, 2010
चारों दिशाओं से
आ रहे विचार रुपी संवेग
आतुर थे उसे
उड़ा ले जाने के लिए अपने साथ
लेकिन उनके प्रयास थे निष्फल !

मगर जिन्दगी के ढलान पर
शारीर का जोश ,वाणी का ओज
और विचारों की दृढ़ता भी गयी ढल !

समाज से बुराइयों को
उखड फेकने का जज्वा
बुराइयों का ही मूक समर्थक
बनकर रह गया !

बुराइयों के मूक समर्थक के एवज में
नवाजे जाने लगे
पुरस्कारों व सम्मानों से
और अब समाज में आदर्श पुरूष बन गए !

एक चिंगारी जो निकली थी
उषाकाल का सुखद एहसास करने के लिए
वह भी गुम हो गयी
उन्ही बुराइयों के साम्राज्य में !

इंतज़ार है सतत
आने वाली प्रत्येक चिनगारी का
अपने विस्फोट से जो
जला कर ख़ाक कर दे
बुराइयों के साम्राज्य को !
परिणाम स्वरूप
बुराई विहीन साम्राज्य का
सृजन हो
देवेन्द्र वर्मा ,फतेहपुर mo. 9415559102
...
written by Kamran Zuberi, October 20, 2010
It's hard to believe that you are leaving facebook, it hurt me a lot as you are an ideal person in the field of journalism. No doubt you have achieved your target but you must think about your friends who are fascinated by you" will not they be disappointed. Is there not any responsibility from your side? I personally request you to rethink once and decide it. I would say in the last ‘तुस्सी ना जाओ’
...
written by DEVENDRA KU.PATEL, October 20, 2010
यशवंत जी
आखिरकार पत्रकार कौन है ,पत्रकारिता का धर्म निभाता कौन है ,पत्रकारिता अन्य व्यवसायों की तरह होकर रह गयी है ,जिसमे एन -केन-प्रकारेण धन कमाना ही मकसद हो गया है ,तब फिर कलम में वो शक्ति कहाँ से आएगी जो शक्ति देश की स्वतन्त्रता के पूर्व थी ,उस समय पत्रकारिता व्यवसाय नहीं तपस्या और त्याग थी ,आज पत्रकारिता सम्मान और प्रतिष्ठा का पर्याय बन कर रह गयी .इसीलिए कलम की शक्ति समाप्त हो गयी .जब पत्रकार समाज के समक्ष कलम की शक्ति की बात करता है उस वक्त समाज उसी तरह हँसता है जिस तरह किसी समस्या या दुखद घटना के प्रति हमारी संवेदना होती है और जब हम किसी की माँ,बहन व बेटी की लुटी हुई अस्मिता पर अपना धर्म निभाने के बजाय बिकने लगते है ,थैंक्स
...
written by DEVENDRA KU.PATEL, October 20, 2010
YASHWANT JI,
APANI MAN KA APMAAN KOI BETA VARDAST NAHIN KAREGA.LEKINYE NAUKARSHAAH ,JINKI MAN BHRASHTAACHAAR DWAARA KAMAAYAA DHAN HAI.HAMRI MAN KI ASMITA TABHI TAK EN NAUKARSHAAHON DWAARA SURAKSHIT HAI ,JAB TAK HAM-SAB APANI MAN KI ASMITA KE EWAJ MEN DHAN DETE RAHENGE ANYATHA NAHIN .KALAM MEN SHAKTI BRITISH HUKOOMAT KE SAMAY THI ,AAJ NAHIN .KYONKI AAJ HAM APANE LOKTANTRA KE MAALIK ,NETA AUR NAUKARSHAAH APANE PAD KO GRAHAN KARATE SAMAY SHABDON KE ROOP ME PAD KI GARIMA AUR GOPANIYATAA BANAYE RAKHANE KI KASAM KHATE HAI ,MAGAR SACHCHI KASAM YAH HOTE HAI KI HAM LOKTANTRA KE TABOOT MEN AAKHIRI KEEL HAM GADAGE.ES TARAH KI GHATANAAYEN USI KA NAMOONA MAATRA HAI .THANKS. DEVENDRA PATEL ,,,,9415559102
...
written by rajesh, October 19, 2010
yaswant ji aapse judkar kuch karna chahta hou....

kai khulase karna chahta hou...
...
written by Samir, October 17, 2010
Aaj media house men kafi rajaniti hoti hai. Aisa hame sunane ko milata hai. Kya media walon ke paas naitikata khatm ho rahi hai?
...
written by aapkiawaz.com, October 17, 2010
यशवंत जी,
आपका लेख क्योकि वो मायावती की नही, मेरी माँ है, को अपने बेटे को अमेरिका अभी भेजकर फौरन आपकी आवाज़.कांम पर डलवाया। ताकी सिर्फ हम जिनसे कुछ करने का आग्रह कर रहे है। उन्हे पूरी बात मालूम हो जाये। बिना किसी संकोच के कुछ भी आदेश कीजियेंगा। ये मामला सिर्फ आपका नहीं, इसे हम लोग अपना मानकर कार्यवाही कर रहे है। कुछ राहत मिले तो लिखियेगा। एस.एम.मतलूब- संपादक- आपकी आवाज़.काम
...
written by ishwar c upadhyay, October 17, 2010
नमस्कार सर मई मेरठ से खुल रहे news1india चैनल के बारे में पूरी जानकारी चाहता हु...........कृपया मेरी मदद करें.
...
written by DEVENDRA PATEL, October 17, 2010
यशवंत जी ,
सूझता और बूझता सभी कोई है मगर आपको ऐसी सूझी कि सभी मठाधीश पत्रकारों कि मटिया पलीद हो गयी !ये मठाधीश पत्रकारिता जगत को विशिष्टता का ऐसा मंच बना रखा था जिस पर मात्र चुनिन्दा शाख्शियतें अपनी बपौती समझती है !आपने उनके तिलिस्म को चकनाचूर कर समाज में पत्रकारिता को समग्रता प्रदान करने में भड़ास ४ मीडिया के माध्यम से मील का पत्थर गाड दिया है जिसकी हमेसा प्रसंशा होगी ,मगर इसके लिए मिशन का लक्ष्य और कार्य प्रणाली समग्र समाज के हित की ओर केन्द्रित होनी चाहिए ,इन्सान आते -जाते रहेगे मगर सार्थक प्रयास समाज की जरूरत बने रहेगे ,इसलिए अमर रहेगे ,
धन्यबाद ! देवेन्द्र पटेल ,फतेहपुर ,उप,मो ..9415559102
...
written by DEVENDRA KU.PATEL, October 17, 2010
yashvant ji,
aap ka bhageerath prayas saraahneeya hai .bhadas 4 media ek aisa manch hai jisame har ensaan apani abhivyakti prakat kar sakata hai. kisi media se jude banner ki jaroorat nahin.es manch ke maadhyam se har ensaan patrakar ban sakataa hai.vaise mai kareeb ek year se bhadas 4 media ka paathak raha hoon.
...
written by mohan s kaushal, October 15, 2010
Dear Editor, My Guru Sri late Prakash Shukla R/O Allahabad, an ex UNI correspondent. His son Sri. Anshuman Shukla, who is working for some newspaper in Lucknow,is it possible that his contact can be made available to me
Regards
...
written by ajay sharma, October 08, 2010
To
The editor
Bhadas4media.
At the outset we would like to introduce Citizen Power as India’s first helpline based bi-monthly Hindi News Magazine which is published from Agra and is one of the leading brands in Print Media.
Citizen Power provides help to their readers in various fields like legal consultancy, medical consultancy, consumer affairs and programs like Social awareness, educational guidance, career guidance & many more assistance as required by our readers.
Citizen Power is India’s first helpline based Hindi News Magazine which provides consultancy to their subscribers.
Citizen Power would also work on social awareness movements like against dowry customs, alcoholism, smoking, domestic violence, sex-discrimination & many more. You will also find many survey & research based articles on social awareness as well as current affairs in Citizen Power.
Over all, Citizen Power is not just a general news magazine but in fact it is a magazine for citizen by the citizen.
Sir we are happy to inform you that now we have complete our successful one year so please published this message to your news portal
Thanking you
AJAY SHARMA
OWNER,PRINTER & PUBLISHER
Citizen power Hindi magazine
+91 9319112603






...
written by L K S, October 05, 2010
Dear Sir,

I would like to request you to cover media marketing up-dates also in your portal.

Thanks and Regards
...
written by ankit mishra, October 01, 2010
namaskar sir,maine hindustan news peper ki bareilly mandal me starting se distt.pilibhit office me advertisment ke liye kaam kiya tha,per hindustan ne mere dwara 2lakh rs gov.add ke jama kerne per mujhe koi bhi commision nahi diya,jis per maine distt. jaj ki adalat me sikayat ki aur distt. jaj mr.anil sharma ne bareilly hindustan ke sampadak,gm,add gm,chetriya add gm sahit 5 logo ko notic deker court me 4/10/10 ko talab kiya hai,mai apke madhyam se hindustan ke lucknow pradhan sampadak shashi shekher ji se ye kahna chahta hun ki samaj me faile bhrastachar per itne bade bade article likhne ke bajay khud apne perper me faile bhrastachar ko rokiye .ankit mishra,news24,pilibhit
...
written by Yashwant@bhadas4media.com, September 27, 2010
shabdo ki rail, media ka khel, sach ka mail or kharab ko jail, sachhai pass or burai fail,Yahi Yashwantji ki is webiste bhadas4media ka khel. Great job Yashwantji

Thanx
Mamta Malik.
...
written by aapkiawaz.com, September 26, 2010
यशवंत जी, आपकी आवाज़.कांम की शुरूआत की बुनियादी वजह "देश की समस्यायें और उसका समाधान" विषय पर गहन विचार वाले लेख प्रकाशित करना है। ताकि देश एवं समाज हित में कोई योगदान कर सके। कृपया सहयोग दे। निवेदकः संपादक-www.aapkiawaz.com.
...
written by kaushish kar raha hun , September 23, 2010
विश्व मंदिर
बात उन दिनों की है जब मैं स्कूल में पढता था, हमारे पाठ्यक्रम में एक पाठ था, या यूँ कहों पथ था, नाम था विश्व मंदिर | कुछ विचार ऐसे भी होते हैं जो आपके हृदय पर गहरी छाप छोड़ जाते हैं, विश्व मंदिर उन्ही में से एक था | उस पाठ में विश्व मंदिर लेखक की एक परिकल्पना की थी, जिसमे वो चाहता था कि एक ऐसा उपासना स्थल बनाया जाये जहाँ कोई भी जाति, धर्म, संप्रदाय, वेश भूषा के बन्धनों के बिना आ सके| सभी संप्रदाय और धर्म के विचारों के प्रतिमूर्ति की वहां स्थापना हो, सब का समान आदर हो और उसका वास्तु ऐसे हो कि आप किसी भी दरवाजे से आएं, पर बाहर जाने के लिए आपको सभी प्रतिष्ठित मत प्रमुख के दर्शन करके ही निकलना होगा (यह कोई जबरदस्ती नहीं, हाँ गुल्दस्ती बनाने का प्रयास है ) वहां की आरती प्रेम के दीये से हो , पर यह सब किसी सीमा या ईमारत तक ही सीमित न हों, हर घर, हर हृदय ऐसे विचारों के मार्ग पर अपनी भावना व्यक्त करे, ऐसा हो विश्व मंदिर, जिसमे पूरा विश्व मंदिर बन जाये |

काश ऐसा हो पाए |

जब दीपावली में अली आता है और रमजान में राम तो फिर क्यों ऐसा नहीं हो सकता कि राम और रहीम एक ही घर में रहें | भारत की तो प्रेम देने की परंपरा है, यहाँ अतिथि को अपने से ऊँचा स्थान दिया जाता है, तो फिर क्यों हम भगवान को बैर की बेल से बांध रहें हैं | एक बार सोचो क्या जो कर रहे हैं या जो करवाया जा रहा है ठीक है, अपने मन को इस का जवाब देना, मेरी भावनाओं को खुद महसूस कर पाओगे और जब कर पाओ तो एक प्रार्थना भी कर देना

मानवता के मन मंदिर में प्रेम का दीप जला दो |
करुणानिधान भगवान मेरे भारत को स्वर्ग बना दो ||

जिस पवित्र भूमि को कुछ एक लोग अपनी कुर्सी के लिए युद्ध भूमि बना रहें हैं, उस भूमि का नाम ही युद्ध न होने की बुनियाद पर रखा गया है, जिस अवध में खून बहाया गया वहां इस से पहले वध का कोई इतिहास ही नहीं हैं | इस भूमि का इतिहास तो त्याग और प्रेम की पराकाष्ठा से जुड़ा है और इस को सब जुदा करने पर उतारू हैं| जिन लोगो ने यह वध शुरू किये या करवाए उनसे प्रार्थना है आप कुछ भी करें पर कम से कम भगवन को कुटिल राजनीति से दूर रखें | क्यों हम राम को दीवारों तक सीमित रखना चाहते हैं, राम कहीं भी रहे राम राम ही रहेंगे | इतना खून बहा कर के क्या हम उस इबादतगाह या मंदिर में शांति प्राप्त कर पाएंगे जिसकी बुनियाद ही आह पर पड़ी है | राम मर्यादा पुरुषोत्तम हैं और वो कुछ भी जो मर्यादा के खिलाफ हो स्वीकार नहीं करेंगे फिर वो चाहे राज सिंघासन हो या मंदिर की आरती

हे अवधेश आप तो करुना करण हैं मेरी प्रार्थना सुनो, हम सबका मार्ग दर्शन करो


राम रहे रहमान रहे, अपने भारत का मान रहे |
गीता और कुरान की सुन लो, हम कम से कम इंसान रहें


लेखक बेरोजगार पत्रकार हैं और गाड़ फादर न होने के कारण पत्रकारिता में कोई अस्तित्व नहीं रखते
...
written by rajesh pandey, September 21, 2010
sir,
namaskar,
yashwant ji mai uttar pradesh ke banda se ek saptahik paper CHITRAKOOT TIMES hindi me nikal raha hu, parantu prashashan (up jila adhikari) ne mere samachar patra ko tatkal band karane ke adesh diye hai. mera paper 1.6 year se chal raha hai. paper band karne ka karan--------ghoshana patra me pita ka nam nahi laikha hai. jabaki formet me pita ke nam ka koi kalan nahi hai. es tarah se 2 paper aur hai jisko band karaya gaya hai.
jabaki asli karan ye hi ki hum log prashashan se bik nahi rahe hia.
lagatar samaj me faile bhrastachar ko janta ko dikha rahe the. kya aaap hamari koi madad kar sakte hai.
...
written by shirish, September 20, 2010
Chandigarh, Sept 20-Haryana Chief Minister, Mr Bhupinder Singh Hooda will give away 152 awards to the media persons based at New Delhi, Chandigarh and also Haryana based noted journalists covering Haryana State for their outstanding contribution to journalism in a State level Patrakar Puruskar Samman Samaroh function to be organised at Haryana Niwas here tomorrow.

          While stating this here today, an official spokesman said that the function is being organized by Haryana Information, Public Relation and Cultural Affairs Department.

          He said that out of the total awards, there would be three Life Time Achievement Awards, two State Level Commemorative Awards, 12 State level awards and 15 Special State Journalism Encouragement Awards for journalists based at New Delhi and Chandigarh covering Haryana. There would also be 120 district level awards.

          He said that Life Time Achievement Awards would be conferred upon Mr NS Parwana, Special Correspondent, Punjab Kesari, Chandigarh and Ajit Punjabi, Jallandhar, Mr BK Chum, Free Lancer, Chandigarh and Mr Manmohan Sharma, Special Correspondent, Punjab Kesari, Delhi. The award carried Rs 1.51 lakh in cash, a commendation certificate, a memento and a shawl, he added.

          He said that Commemorative Awards, namely Shri Satpal Saini Award for Excellence in Journalism and Shri Rajender Hooda Memorial Journalist Excellence Award would be conferred upon Mr Sushil Manav, Staff Correspondent, The Tribune, Fatehabad and Mr Ramesh Vinayak, the then Group Bureau Chief, India Today, Chandigarh and now Resident Editor of Hindustan Times respectively. These awards carried Rs one lakh each in cash, a commendation certificate, a memento and a shawl.

          Each of the 12 State level awards for Journalists based at New Delhi and Chandigarh carried Rs 51,000 in cash, a commendation certificate, a memento and a shawl. Special State Journalism Encouragement Award being given to 12 print media and three electronic media journalists carried award money of Rs 41,000 whereas each of the 120 district level awards carried Rs 21,000 in cash, a commendation certificate, a memento and a shawl, he added.

          He said that the State level awards would be given to Mr Rajender Khatri, Principal Correspondent, Indian Express, Mr Bijender Ahlawat, Sr. Staff Correspondent, The Tribune, Faridabad, Mr Rajesh Chugh, Chief Sub Editor, Dainik Jagran, Hisar, Mr Naval Kishore Rastogi, Free Lancer, Rewari, Mrs Nisha Sharma, Principal Correspondent, Rashtriya Sahara, Mr Surender Dhiman, Principal Correspondent, Nav Bharat Times, Chandigarh, Mr Sandeep Joshi, Chief Artist, The Tribune trust, Chandigarh, Mr Vinay Malik, Staff Photographer, The Tribune, Chandigarh, Ms. Poonam Batth, Special Correspondent, Times Now, Chandigarh, Mr Brij Mohan Singh, Spl. Correspondent, NDTV, Chandigarh, Mr Ajit Singh, Free Lancer, Director News (retd.), Doordarshan, Hisar, Mr Vipin Grover, Cameraman, Total TV, Jind.

          Special State Journalism Encouragement Award would be given to Bureau Chief, PTI, Mr Ashwani Anand, Bureau Chief, UNI Mr VK Jalali, Mr Devendra Uppal, Correspondent, Hindustan Times, Hisar, Mr Yashvir Kadyan, Bureau Chief, Aaj Samaj, Chandigarh, Mr Pramod Vashist, Special Correspondent, Dainik Bhaskar, Chandigarh, Mr Deepak Bansal, Staff Reporter, Punjab Kesari (JLD), Chandigarh, Mr Hitender Rao, Special Correspondent, The Hindustan Times, Chandigarh, Mr Ramesh Saini, Press Correspondent, Karnal, Mr Rajender Raj, Press Correspondent, Hari Bhoomi, Mr Kapil Chadha, Correspondent, Dainik Bhaskar, Mr Manvir Saini, Principal Correspondent, Times of India and Mr CB Singh, Correspondent, Indian Express in print media category of this award. Mr Satender Chauhan, Principal Correspondent, Aaj Tak, Chandigarh, Mr Rakesh Gupta, Bureau Chief, Haryana News, Chandigarh, Mr Suraj Bhardwaj, Bureau Chief, MH One News, Chandigarh would be awarded in electronic media category of Special State Journalism Encouragement Award.

          The spokesman said that the district level awards would be given to Dev Sarup Mathur, Reporter, Yoginder Sharma, Chief Reporter, Avinash Pandey, Staff Reporter, Rajinder Bhatnagar Suman, Part Time Correspondent, Jangbir Singh Goyat, Bureau Chief, Pawan Kumar Mittal, Editor , Purvi Punjab, Narender Singh Khyaliya, Stringer, Ashok Bhatti, Correspondent, Indervesh Duhan, Correspondent, Vijay Kumar Mishra, Subhash Dagar, Sr. Reporter, Uttam Raj, Editor, Chitranjan Singh, Reporter, Mohd. Harun, Correspondent, Himani Sethi, Sanjay Ahuja, Staff Reporter, Bhuvnesh Jhandai, Correspondent, Randhir Singh Matana, Correspondent, Narinder Kumar Madan, Photographer, Ashok Grover, Reporter, Dharmender Goswami, Stringer, Ashok Sharma, Correspondent, Anoop Jha, Chief of Bureau, Pardeep Malik, Staff Reporter, Yad Ram Bansal, Correspondent, Tanushree Roy Chaudhary, Staff Reporter, Pawan Kumar Narwal, Photographer, Roshan Bhardwaj, Reporter, Aarti Kapoor, Staff Correspondent, The Tribune, Raj Verma, Correspondent, Surender Singh Dalal, Staff Reporter, DSYadav, Sr. Correspondent, Sanyam Jain, Reporter, Arunesh Kumar, Chief Reporter, Gulshan Bajaj, Photographer, Vinod Kumar, News Editor, Ravinder Saini, Correspondent, Dr. Parveen Khurana, Chief of Bureau, Bijender Kumar, Reporter, Hitender Gujjar, Chief of Bureau, Ram Kumar Verma, Photographer, Parveen Dhankhar, Correspondent, Jasmer Malik, Bureau Chief, Raj Kumar Goyal, Reporter, Jitender Boora, Correspondent, Daler Singh, Distt. Correspondent, Rajesh Sharma, Photographer, Satish Kumar Seth, Correspondent, Ram Kumar Bhatt, Bureau Chief, Mahi Pal Singh, Sr. Correspondent, Ramesh Goyat, Bureau Chief, Bhagwan Dass, Photographer, Naveen Malhotra, Stringer, Pawan Bhatt, Correspondent, Parveen Arora, Reporter, Dilbag Lathar, Reporter, Vikash Sukhija, Correspondent, Narender Lathar, Reporter, Dharam Singh, Photographer, Sunny Choudhary , Sr. Cameraman, Narender Singh, Bureau Chief, Vijay Shah, Staff Reporter, Vinod Jindal, Correspondent, Rajesh Chauhan, Correspondent, Rajesh Kumar Photographer, Ashok Yadav, Correspondent, Rohtash Yadav, Chief Reporter, Dharam Narayan Sharma, Chief of Bureau, Asim Rao, Incharge, Pawan Sharma, Reporter, Chand Kishore Sharma, Photographer, Subhash Yadav, Correspondent, Jugender Verma, Reporter, Sher Singh Dagar, Staff Reporter, Kshama Jain, Correspondent, Ramesh Singla, Correspondent, Jafruddin Illyasi, Correspondent, Tahir Hussain, Photographer, Kasim Khan, Correspondent, Yunus Alwi, Reporter, Jitender Bhardwaj, Sr. Correspondent, Deep Shikha, Reporter, Rajesh Malkania, Correspondent, Rajesh Kumar Dhull, Staff Reporter, Baba Hanumant Sidh, Reporter, PP Verma, Reporter, Vijay Gahlyan, Chief Correspondent, Pardeep Jakhar, Correspondent, Surender Singh Sangwan, Sr. Staff Correspondent, Virender Kumar Neetu, Correspondent, Vikas Choudhary, Bureau Chief, Happy Budhiraja, Photographer, Rajni Gupta, Part Time Correspondent, Mahesh Kumar Vaid, Sr. Reporter, Tarun Jain, Correspondent, Pardeep Narayan, Chief of Bureau, Rakesh Gautam, Chief of Bureau, Sanjeev Sharma, Chief of Bureau, Naresh Selpad, Correspondent, Bijender Singh Dahiya, Reporter, Manoj Dhaka, photographer, Dherender Kumar, Bureau Chief, Manikant Manyak, Correspondent, Bhushan Sharma, Correspondent, Sudhir Arya, Correspondent, Navdeep Setia, Correspondent, Mahinder Kumar Ghanghas, Photographer, Dr. Gulab Singh Sihag, Reporter, Baljit Singh, Reporter, Parvesh Gahlot, Correspondent, Sarika Narwal, Correspondent, Sanjiv Dixit, Bureau Chief, Harender Rapria, Sub Editor, Bhavya Naresh, Photographer, Indu Bansal, Correspondent, Surender Mehta, Reporter, RK Jain, Reporter, Sanjeev Kamboj, Correspondent, OP Nagpal, Correspondent, Nabh Singh Malik, Correspondent.

 

No.IPRDH/2010

Azad / Prem Sagar

 

Chandigarh, Sept 20 - Haryana Government has issued posting and transfer orders of one IAS officer and eight HCS officers with immediate effect.

          Mr Anshaj Singh, Sub Divisional Officer (Civil), Palwal has been transferred as Sub Divisional Officer (Civil), Hodal, Mr GL Yadav, awaiting order of posting, has been transferred as Sub Divisional Officer (Civil)-cum-Additional Collector, Pataudi, relieving Mr Vatsal Vashisht and Mr Ram Kumar Singh, Sub Divisional Officer (Civil)-cum-Additional Collector, Barara as Sub Divisional Officer (Civil)-cum-Additional Collector, Assandh and General Manager, HAFED Sugarmills, Assandh.

          Mr Satpal, General Manager, Haryana Tourism Corporation goes as Sub Divisional Officer (Civil), Narnaul vice Mr Samwartak Singh Khangwal, Mr Bir Singh Kaliramana, awaiting order of posting as Sub Divisional Officer (Civil), Beri vice Mr Om Parkash, who goes as Sub Divisional Officer (Civil), Palwal.

          Mr Sushil Kumar, Sub Divisional Officer (Civil), Loharu goes as Sub Divisional Officer (Civil), Barara vice Mr Ram Kumar, Mr Samwartak Singh Khangwal, Sub Divisional Officer (Civil), Narnaul as Joint Director (Admn.), Secondary Education against a vacant post, Mr Yogesh Kumar Mehta, Sub Divisional Officer (Civil), Siwani as Sub Divisional Officer (Civil), Loharu in addition to his present assignment vice Mr Sushil Kumar.
...
written by jagat rattan, September 17, 2010
sir ek baat batayen Haryana Ke media ko ho kya gaya hai . pichhle 3 din se dekh raha hun media ki kartute har roj akhbaro me 8-10 saal ke bachhe jinhe JAAT ki speling bhi pata nahi unhe camre ke samne lakar or unki photo akhbaro me chhpwa kar media kya sabit karna chahta hai. meri aap se request hai ki aap ise bhadhas4 media par jaroo parkasit kare kyunki media hone ka matlab yah to nahi ki jo marzi chhpa jaye
...
written by mkumar, September 16, 2010
yaswant ji , kaise hai. aap mujhe bhi mobile se bhadas ki khabro ke sath jconect kare
...
written by shakti malviya, September 16, 2010
श्रीमान् यशवंत सिंह जी
नमस्कार,
भड़ास४मीडिया का बदला हुआ स्वरुप काफी अच्छा लगा. इस लिए आज मेरी उगलियाँ खुद बखुद आपको मेल
करने के लिए टाइप करने लगीं। भड़ास को पढ़ने से निष्चित ही भड़ास निकालने को तबियत होने लगती है। मुझे भी भड़ास निकालने का बहुत शौक है उसके लिए मुझे क्या करना होगा। कृपया मेरा भी मार्ग दशर्न करें।
shakti malviya
varanasi
...
written by Ashutosh Sinha, September 16, 2010
Dear Yashwant ji,
This is very good oppertunity to open our voice with the help of your website. Actually I want to join your organisation. Kindly send me the terms & conditions asap.
Ashutosh
...
written by Saurabh Singh, September 15, 2010
Good Evening Yasvant SIr
Mujhe Journslion
...
written by pratap bhanu, September 14, 2010
PATRKARITA KO JATI SE BACHAYE
YASHWANT JI
Din dharam Iman hai patrikarita lekin aj to yah ho raha hai ki log likhne me bhi jatiyata kar rahe hai paisa barhane me bhi jatiyata bacha kiya manvata ko logo ne tak par rakh diya hai
kirpya ese bachiye
...
written by rita jaiswal, September 13, 2010
श्रीमान् यशवंत सिंह जी
नमस्कार,
पत्रकारों और स्वतंत्र लेखन से जुड़े लोगों को स्वस्थय मंच उपलब्ध कराने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। भड़ास ब्लाग पढ़ा अच्छा लगा। उत्सुकता भी जगी। मैं गृहणी होने के साथ ही एक स्वतंत्र लेखिका भी हूं और आप के ब्लाग से जुड़ना चाहती हूं। कृपया मेरा भी मार्ग दशर्न करें।
भवदीय
रीता जायसवाल
नगवा, लंका
वाराणसी
...
written by sandeep pandey, September 11, 2010
namaskar yashwant ji
aapka prayas sarahniya hai
patrakaro k liye ek shandar manch taiyar karne k liye nishchit hi badhai k paatra hain.
mai bhi aapke blog se judne ka ichchhuk hoon, kripya mera margdarshan kare
...
written by *, September 08, 2010
hello sir,
apke news portal me ak jobs section b include kare taki media k field me ane wale naye yuvao ko b help mil sake.
...
written by AapkiAwaz.com, September 07, 2010
महोदय, सोनिया गाँधी के नाम खुला ख़त - करन सिंह की करतूतः आपकी आवाज़.कांम पर खुलासे के बारे में आपका व आपके पत्रकार साथियों के विचार का इंतज़ार editor@aapkiawaz.com.पर है। विस्तार मे ख़बर देना चाहते है तो सारे दस्तावेजी सुबूत मुहैया कराये जा सकते है–मुख्य संपादक-9911074884.
...
written by AapkiAwaz.com, September 07, 2010
यशवंत जी, सोनिया गाँधी के नाम खुला ख़त - करन सिंह की करतूत, आपकी आवाज़.कांम पर खुलासे के बारे में आपका व भड़ास के पत्रकार साथियों के विचार का इंतज़ार editor@aapkiawaz.com.पर रहेगा।
...
written by Dharmesh Tiwari, September 05, 2010
sir namste, bhadas se jodne ke liye dhanywad.
...
written by Ravi Pathak, September 02, 2010
Adarniye yashwant ji, aap ki aur aap ki jaisi doosri website hi ham videsh me rahne walon ke liye desh ke baare me jaanne sa sahara hae. kyon na aap aur doosri websiten jaise aapkiawaz.com ityadi ek group bana len. Mae aap ki site se ek baar www.aapkiawaz.com par gaya aur phir roz jaane laga, uspar bhi bari bari cheezon ka nirbeek rahisyo udhghatana ha, ye khana bhi sahi hoga ki woh bharat ki wikileaks.com hae parantu comment karne ki facility nahi hae. agar aap log ek doore ki khabre exchnage kar liya karen to bahut achha ho jaayega. Aur desh ko majbooti milegi. mae bahut saare blog ityadi par aap logon ki website ka ullekh karata hoon taaki bahut se log jo nahi jaante sach dekhen.
...
written by manish, September 01, 2010
yaswant ji aapsai bahut ummed thi ki kaatyayani sai gai logo ki aap aawaz jarur buland karengai lakin aap nai to maliko ki suni.kuch kiziya
...
written by vinod ghosh THE HITAVADA English Daily from BHILAI, September 01, 2010
Sir, good morning mai aap ke site ko baraber deakhta ho. sir mai chatta ho ki aap kauch aache capation photograps bhai de ....Q ki mai 1 photographer hai.........vinod
...
written by rajdil shivhare, August 31, 2010
Very Good Portal
Thanx Sir
...
written by Yashwant , August 29, 2010
Yashwant Bhai
Namaskar
Yadi ho sake to apne blog par alag se koi job ka toggle bhi creat kar dein, is se bahuton ko job khojne mein sahayta milegi
Yashwant
...
written by rajesh, August 29, 2010
If you want to start the social network than we have good script for you on reasonable price & contact 9216333435
...
written by Rajesh, August 29, 2010
i am regular reader of this site but you are not covering Punjab all the Newspapers punjab are blackmailing their advertisers on the directions of their corspondentes. one news paper can not imagine how thier reportes are muliting money in the name of news even a news known Hindi Newspaper is recruiting Repoters with out Payment Plz look at this .if you really bring out the media mafia
...
written by Benami, August 27, 2010
Sir u can publish this story..I cant show my name. sorry for it.


भगवा कुलपति के बचाव में उतरे संघी पत्रकार

देश के सबसे बड़े पत्रकारिता विश्वविद्यालय में फैली कलह अब विचारधारा की लड़ाई बन गई है। एक ओर भगवा चोला ओड़े पत्रकार और कुलपति हैं तो दूसरी ओर वामपंथी विचारधारा के पुरोधा और यूनिवर्सिटी के शिक्षक और अधिकारी हैं। अब तक एक ही खेमा हावी था लेकिन भगवा कुलपति कुठियाला के बचाव में कुछ संघी पत्रकार भी उतर गए हैं। जिसके कारण पत्रकारिता विवि में लड़ाई और अधिक रोचक हो गई है।

भाजपा और संघ के लिए यूनिवर्सिटी के कुछेक बड़े अधिकारी लाल झंडे के बैनर के तले कुलपति के खिलाफ लड़ रहे हैं। पिछले कई दिनों से स्थानीय मीडिया में कुलपति पर एक के बाद एक वार किए जा रहे हैं। मीडिया की मदद यूनिवर्सिटी के ही लोग कर रह हैं। लेकिन कुलपति का साथ अब कुछ भगवा चोले ओड़े कथित पत्रकार ब्लॉग और वेबसाइट देने के लिए उतर गए हैं। इसमें संघ की पृष्ठभूमि के लोग कुठियाला को बचाने के लिए मोर्चा खोल दिया है। इसमें सबसे आगे दो संघ की पृष्ठभूमि के पत्रकार हैं। एक दिल्ली में बैठकर मोर्चा संभाल रहे हैं तो दूसरे मप्र के उज्जैन में। एक वेबसाइट पर तो खुलकर लिखा गया है कि कुलपति के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले और कोई नहीं बल्कि यूनिवर्सिटी के ही तीन लोग हैं। इसमें पुष्पेंद्र पाल सिंह, श्रीकांत सिंह और दीपेंद्र पर अंगुली उठाई गई है।

दूसरी ओर, यूनिवर्सिटी के अधिकारियों और शिक्षकों का कहना है कि कुलपति सिर्फ भगवाकरण ही नहीं बल्कि तानाशाही भी हैं। वे जब से कुलपति बने हैं तब से लोगों के अधिकारों पर एक के बाद एक कटौती कर रहे हैं। छोटे-छोटे कामों के लिए विभागाध्यक्षों को कुलपति की सहमति लेनी पड़ती है। जिसके कारण विभागाध्यक्ष कुलपति को पद से हटाने के लिए रणनीति के तहत काम कर रहे हैं।

कुलपति के खिलाफ यदि किसी ने सबसे अधिक मोर्चा खोला है तो भोपाल से प्रकाशित पत्रिका ने। मध्य प्रदेश में अपनी जड़े जमाने के लिए पत्रिका किसी भी अवसर को भुनाने में पीछे नहीं है। यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र पत्रिका में भरे हुए हैं। जिनके माध्यम से कुलपति पर निशाना साधा जा रहा है।

यह कोई पहला मौका नहीं है जब पत्रकारिता विवि के कुलपति पर हमला बोला गया है। पूर्व कुलपति अच्युतानंद पर भी कई आरोप लग चुके हैं। उनके बारे में कहा जाता है कि उन्होंने अपने पद का दुरूप्रयोग करते हुए बनारस के दो ऐसे लोगों को भर्ती किया जो उस लायक ही नहीं थे। वर्तमान वे दोनों पत्रकारिता विवि के लिए किसी बोझ से कम नहीं है। ऐसा ही आरोप कुठियाला पर भी लग रहा है। कुठियाला पर आरोप है कि वे अपने खास लोगों को यूनिवर्सिटी के अच्छे पदों पर बैठा रहे हैं ताकि उनकी तानाशाही का कोई विरोध नहीं कर सके। इसके अलावा कुलपति पर यह भी आरोप लग रहा है कि वे भष्ट्राचार के जरिए अपना और भाजपा का पार्टी फंड भरने में लगे हुए हैं। इसमें कितनी सच् चाई है, वे तो कुलपति ही जानें, लेकिन इससे कहीं न कहीं माखन लाल के नाम पर बना पत्रकारिता का यह विश्वविद्यालय पूरे देश में बदनाम हो रहा है। अब देखना यह है कि पत्रकारिता विवि के कुल में मची कलह में अगली चाल कौन चलता है। फिलहाल कुठियाला सब पर भारी पड़ते दिख रहे हैं।

...
written by sanjaysingh, August 25, 2010
Sir,

Bhaskar, Ranchi ki lanching 22 Aug ko Huaa hai, lekin 24 aug ko -varsk -1, ank-6, & 25 aug ko varsh -1 , ank - 7 chapa huaa hai. Aap inke farjivade ki janch kar ke likhe.
...
written by Amit Dobhal, August 25, 2010
Yashwant ji,

thanks alag aandj mai media ki khabar mil jati hai.Keep it up. Himachal Pradesh ko bhi place dene ki koshish kare. thanks. Good luck
...
written by Govind Badone Navabharat Biaora , August 22, 2010
Aadrniya Yasvant G.
Sadar Namaste
me Bhadas Ka niymit Pathak Hu.15 Year Se Patrakarita Kar Raha Hu.Apne Vichoro,Artical,Vecharik Aayojan Ki riport Bhadas Par Dalne Ke Liye ;Aapse Judne Ke Liye kya Karna Hoga Karpya Margdurshan Kare.
Govind Badone Biaora Dist.Rajgarh M.P.
09425037599
govind_badone@yahoo.in
...
written by Shivkumar Rai, Khagaria, August 21, 2010
मैं बिहार से एक मासिक पत्रिका निकालता हूं. उसका विज्ञापन आपके इस पोर्टल पर देना चाहता हूं. क्या शुल्क लगेगा, सूचित करें.
...
written by JATIN KOHLI, August 17, 2010
Yashvant jee
maine aapka bhadas4media.com padha bahut acha or alag laga main b aapke is portel se judna chate hoon. i am jatin kohli aaj samaj ambala 9034001002
...
written by JATIN KOHLI, August 17, 2010
Yashvant jee
maine aapka bhadas4media.com padha bahut acha or alag laga main b aapke is portel se judna chate hoon. jatin kohli aaj samaj ambala 90340010002
...
written by ashishkrsavita, August 15, 2010
kripya hame batae ki ham apne vichar apki site me kaise likh sakte hai ashish kr
...
written by Sandeep Upadhayy, August 13, 2010
Dear Sir.

me Bhi aap se judna chahta hu..
...
written by एस.एम.मतलूब, August 09, 2010
महोदय, आपके विश्व विख्यात पोर्टल के जरियें इस देशहित की प्रयास के लिए प्रबुद्ध वर्ग तक पहुँचना चाहते है। सहयोग हेतु धन्यवाद।
आज देश भ्रष्टाचार, सांप्रदायिकता, असहनीय न्याय में देरी, कश्मीर, आरक्षणनीति बेरोजगारी, नक्सलवाद, धर्म, जाति, भाषा व प्रान्तवाद जैसे आदि अनगिनत गंभीर समस्याओं से जूझ रहा है। समाज अलग-अलग खेमों में बटां है। नेताओं को देश से ज्यादा अपने सीट की चिंता है, इसलिए समाज को बांटकर अपना उल्लू सीधा करते चले आ रहे है। साथ ही दागी, अपराधी और मालदार लोगों की राजनीति जागीर होती जा रही है। इन सबके पीछे मुख्य कारण है मौजूदा राजनीति प्रणाली। क्योंकि आमतौर से कुल आबादी के 50% लोगों के नाम वोटर लिस्ट में शामिल हो पाते है, उनमें से भी 50% वोट देते है, और ये वोट 10-15 उम्मीवारों में बँट जाते हैं, यानी बमुस्किल 7% से 10% वोट आमतौर से पाकर एक उम्मीदवार जीतता है, जिसकी वजह से उसे देश और जनता की समस्याओं की परवाह नहीं होती है। अगर समय रहते हुए इस समस्या का समाधान नहीं हुआ तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते है।
आपकी आवाज़.कांम राजनीतिक सुधार पर बुद्धजीवी वर्ग और समाज के समझदार लोगों के विचारो के आदान-प्रदान करने के बाद एक निष्कर्ष पर पहुँचना चाहते है, ताकि आगे की रणनीति तैयार की जा सके। साथ ही आपकी आवाज़.कांम पार्टियों व नेताओं के कार्यों का लेखा-जोखा एक जगह पर जमा कर रहा है, ताकि चुनाव के समय वोटर को फैसला लेने में मदद मिल सके।
अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि अपने बहुमुल्य विचार, मौजूदा राजनीति प्रणाली के सुधार कैसे संभव है और कौन सा नेता या पार्टी देश और समाज के हित में है और क्यों, विषय पर editor@aapkiawaz.com पर भेजने का कष्ट करें ताकि देश और समाज के सुधार में आपका भी योगदान हो सके।
...
written by maurya, August 08, 2010
chhanel one news ke md ne pcr ke head nishant ko mara thapad
kai kamiya hai chhanal one me sealray 3.000 10 hours kam karwate hai
aur abused bhasa use karte hai chair man aur md.
...
written by Sarvesh Kumar, August 08, 2010
Hello Sir,
Main Akinchan Bharat, Agra me Computer Operater Hu. Maine aaj apne computer per apki website pehli baar kholi hai, aur kuch dekhe ko mila. Mujhe malum pada hai ki aap bahut strong hai jo itna sab kuch ker rahe hai. Main Is Duniya main Sabse Alag hu, kyunki main un logon ke khilaf hu jo riswatkhor hai. Main In logon ke khilaf media duwara puri duniya ke samne nokri se hatana chahata hu, jissey dunia main 2 number ka paisa kamaney wale ko malum pade ki 2 number ka paisa kitni badi musibat hai. Meri aapse request hai ki aap apni media ke sath aisa hi kuch kare. All The Best.
...
written by एस.एम.मतलूब, August 06, 2010
महोदय, आपकी साइट बहुत अच्छी लगी। मेरा भी पत्रकारिता से लगभग 15 वर्षों से संबंध है।
लगभग 3 वर्षों से आपकी आवाज़.कांम के नाम से न्युज़ पोर्टल चला रहा हूँ।
नामः एस.एम.मतलूब
पताः आई-102, बटला हाउस, जामिया नगर, नई दिल्ली-25
फोनः 9911074884 व 26984545 हैं।
ई-मेलः editor@aapkiawaz.com
Website: www.aapkiawaz.com.


मेरा संबंध आईसीसीआर (भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद), विदेश मंत्रालय से 1979 कर्मचारी और कर्मचारी एसोसियेशन का अध्यक्ष रह चुका हुँ। भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज़ उठाने की वजह से अदालत के चक्कर काट रहा हूँ। राकेश कुमार, आईएफएस का मानव तस्करी में सीबीआई ने हमारी ही शिकायत पकड़ा था। नजमा हेप्तुल्लाह के फोटो हेराफेरी और आईसीसीआर में घपलो की सीबीआई जाँच हमारी ही हाईकोर्ट दिल्ली में जनहित याचिका के बाद सुपुर्द की गई थी। इसके अलावा हमने भ्रष्टाचार और अन्याय के खिलाफ बहुत सी लड़ाई लड़ी है और आज भी लड़ रहा हूँ।
फिलहाल डा0 करण सिंह का एक केस है। 30 अगस्त को सूचना अधिकार आयुक्त के पास सुनवायी है। वो कागजात डीडीए से मिल जाने के बाद आगे की कार्यवाही होगी। आपका सबका सहयोग आवश्यक है। क्योंकि भ्रष्टाचार देश के लिए नासूर है।
सदस्यता देने के लिए धन्यवाद।
...
written by ashish awasthi, August 03, 2010
ashish awasthi beaure Incharge Rashtriya Sahara Ramabhy Nagar (kd).
...
written by Asif hussain, July 30, 2010
yashvant ji me yeh janna chahta hu ki (VON) voice of nation chanel chal rha he ya takniki kharabi ki vejah se band he me contect ker rha hu lekin pta nahi chal rha he aap se ummid he ki aap iska anser jald hi denge contect no- 9907031645, 9179332537
...
written by amit singh, July 26, 2010
yashwant Bhai , Namaskar,mai amit singh .mujhe bachpan se sapna hai ki main ek patarkar banu.plz mujhe rasta bataye taki main apni manjil tak pahuch jau.Jai Hind sir
...
written by manoj mishra, July 21, 2010
written by manoj july 21, 2010

आम लोगो के शोषित होने पर उनकी आवाज उठाने वाले पत्रकारों को जब शोषित किया जाता है तो उनकी बात सुनने वाला कोई नहीं होता है ..... में भी भड़ास का नियमीत पाठक हूँ और देश के मिडिया जगत में कहाँ क्या चल रहा है इसकी जानकारी भड़ास के माध्यम से जानता रहता हूँ ..... और अब चाहता हूँ की इसकी मोबाइल सेवा से जुड़कर और ज्यादा नजदीक रहूँ .
manoj mishra saharanpur up 9045294152
...
written by jipathakji, July 19, 2010
i just want to know if i do not know hindi typing , then can i type it in roman.
...
written by DINESH PANDEY SURAT, July 14, 2010
yashvant ji namaskar
working as chief reporter in hindi daily savera india times publishing from surat & daman.continuely visiting ur site willing to point out bhadas for surat media.pl.tell that how can i send u media news .also tell me that how can i send it in hindi fonts.my mail id is pandeyjeein@yahoo.com or pandeyjeein@gmail.com
thanks anticipating urs reply
DINESH PANDEY
SURAT
MO. NO.09825204254
...
written by manoj sharma, July 13, 2010
dear yaswant ji,
sandeep chansoriya ke bad naidunia jabalpur ko dusara bada jhatka nd jabalpur ke special corrospondent pramod trivedi ke LN STAR bhopal mai chief corrospendent join karne se laga. pramod trivedi star reportors main gine jate hain. anand pandey ke khas logo mai ababal number par pramod trivedi ka nam aata hai. mana ja raha hai ki sandeep ke bad anad pandey pramod trivedi ko bhi bhaskar join karba sakte hain. anand pandey woqt ke intar mai hain.
...
written by Uday , July 12, 2010
Dear Yasvant Sir,
I would like to say that your portal is very popular. I am working with a National news Channal and i belongs to Ghazipur. You r Ideal of us and we follows as u go.
...
written by sanjay pandey, July 12, 2010
dear yaswant ji, nai dunia jabalpur se anand pandey ke khas log bhopal jane lage hain. city chief sandeep chansoriya ke bhopal bhaskar main DNE ban gaye hai
...
written by Ravinder Singh Gaur, July 11, 2010
...और सब टूट पड़े खाने पर
जैसे ही चुनाव अधिकारी बने गुरजीत मान ने लोगों से चुनाव में अपने-अपने मत डालने के लिए बात कही सभी लोग किसी शादी के माहौल की तरह खाने पर टूट पड़े। यह किसी प्रेस कांफ्रेंस या विवाह का दृश्य नहीं है। यह तो मौका था सिरसा शहर में आरसी रेजेंसी होटल का जहां हरियाणा यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स सिरसा की जिला कार्यकारिणी के प्रधान व महासचिव पद का चुनाव होना था। जहां पत्रकार आए तो थे कार्यकारिणी के नए प्रधान व महासचिव पद का चुनाव करने लेकिन माहौल ऐसा बन गया कि जैसे दुल्हे की शादी में आए हों। सोचा पहले पेट पूजा कर ही लें। उधर चुनाव करवा रहे चुनाव अधिकारी व पदाधिकारी अचरज में पड़ गए की क्या हुआ ? घोषणा तो चुनाव की हुई थी ये खाना बीच मे कहां से आ गया। कुछ लोगों को छोड़कर सभी खाने की प्लेट को पकडऩे के लिए लाईन लगाने लगे। देखते ही देखते लाइन इतनी लंबी हो गई कि जैसे अगर कोई खाने की लाइन में नहीं लगा तो वह खाए बिना ही ही घर लौट जाएगा । मुझे कई मित्रों ने कहा की भई आ जाओ लाइन में। पहले खा लें फिर वोट डालेंगे। कुछ मित्र तो यह कह रहे थे कि नाश्ता नहीं किया है पहले कर लें फिर देखेंगे वोट शोट का। मैंने अपने जीवन में पहली बार ऐसा वोट तमाशा देखा। कुछ पत्रकार तो मैंने ऐसे देखे जिनका पत्रकारिता से कोई वास्ता ही नहीं था। इससे पहले मंच पर यूनियन की प्रदेश कार्यकारिणी के महासचिव बलजीत सिंह आए हुए पत्रकारों को जिला कार्यकारिणी के महासचिव धीरज बजाज की एक वर्ष का कार्यकारिणी के दौरान किए गए कार्य का रिपोर्ट कार्ड पढ़कर सुनाने लगे और महासचिव एक आम सदस्य की तरह रिपोर्ट कार्ड को सुन रहे थे।
इतने में मंच पर बैठे लोगों ने प्रधान पद का चुनाव लड़ रहे पूर्व प्रधान वरिष्ठ पत्रकार गजेंद्र सिंह व युवा पत्रकार राकेश सिहाग का नाम पेश किया गया। लेकिन आपसी रजामंदी से गजेंद्र सिंह को सर्वसम्मति से प्रधान नियुक्त कर दिया। उसके बाद बलजीत सिंह कार्यकारिणी की उपलब्धियां गिनाने लगे। इतने में कटाक्ष करने के लिए मशहूर दैनिक जागरण के ब्यूरो चीफ मणिकांत मयंक ने संगठन की खूब आलोचना की। मंच पर पहुंचते ही उन्होंने अपनी गंभीर हिंदी शब्दों के माध्यम से नसीहतें दे डाली। आलोचनाओं का दौर आगे बढ़ पाता इससे पहले उन्हें वरिष्ठ पत्रकारों ने अपने शोर शराबे से चुप करवा दिया और मयंक जी ने अपने आप को मंच पर तमाशबीन बनने की बजाय पत्रकारों की भीड़ में लगी कुर्सी में जाकर बैठना ही उचित समझा। यह तमाशा देख रहे अन्य पत्रकार शायद सहीं सोच रहे थे की सच छापने का दम भरने वाले पत्रकार क्या स्वयं सच का सामना नहीं कर पा रहे। खैर उसके बाद मैं महासचिव पद के लिए खड़े हुए प्रत्यक्षियों की सूचि में से एक को वोट डालकर खिसक गया। लेकिन जाते-जाते में यह सोच रहा था कि अपने आप को देश के चौथे स्तंभ के सिपेहसलार कहलवाने वाले पत्रकार ऐसे होंगे तो देश का क्या होगा।
रविंद्र सिंह सिरसा
हरियाणा टूडे
...
written by rakesh, July 10, 2010
Dear Yashwant ji
nai dunia jabalpur me anand panday ji ke jane ke bad sansthan chorne walo ke line lug gai hai.sandeep chandsoria,pamod choubey ne bhasker bhopal join ker liya hai.sandeep as a N E .DB bhopal.next week 4 or ja rahe hai.
regards
Rakesh Seth
...
written by surya mohan rawat, suraj gupta, yaswant singh rawat, devendra negi, anup dhoundiyal, July 08, 2010
यशवंत जी नमस्कार
hum hindustan dainik hindi dehradun unit me 14-may 2008 se designer ke pad par matra 5600/- me kam kar rahe hai. kai bar incriment ke liye bola gaya lekin hume kora aswasan diya gaya. hum logo ka jamkar sosan kiya gaya jisse paresan ho kar hum logo ne wednesday 7/7/2010 ko samuhik roop se hindustan se istafa de diya. hamare sampadak (dinesh padhak) ji ke karya kal me bhi hume aswasan diya gaya lekin unhone hamari madad ke bajay sabhi oprater ko office me no entry kar di. unke is vayawahar se hum log shubdh hai.
kirpya is bare me bhadas4media me chap kar hamari madad kare
dhanywad
surya mohan rawat, yaswant singh rawat, suraj gupta, devendra singh negi, anup dhoundiyal
contact- 9219615900, 9761963306, 9897182468, 9456132953, 9808306690
...
written by RANJAN, July 06, 2010
yasvant ji apse sikayat hai ki ap kewal bade ghatano ko site par dalte hai, paper me kewal bade log hi nahi kam nahi karete hai kuch kramchari log ka vi news dena chahiye.
...
written by Mazloom, July 02, 2010
Dear sir ........ maine abhi aap ko mail kiya hai...... plz response sir ........ main aap se bahot ummeed rakhta hoon...... !!
...
written by ram nivas, July 01, 2010
sahara ke sttafaro ki tankha bada di hai manyawar jo ki sabse jada haram khori karte hai aur jo kaam karte hai stringer unki gaand marne ki sochte hai sahara ke adhikari
...
written by tanmay, July 01, 2010
yashwantji

ye mediasolution wale koi chanel nahin la rahe kewal patrakaron ko murkh bana rahen hai,hidden agenda ke aapko bhi shikar banaya hai en logon ne,khabar ke jariye sthti spast karen,aur chanel ke promoter ka name ujagar karen.
...
written by praveen singh, June 30, 2010
bhai ,
i have some impotant imformation , want to share you.
...
written by Hashmi, June 29, 2010
Respected Yashwant Sir i dnt knw anything bout u i jst knw tht u r outstanding person.....u r amazing this world need peoples like u so keep it up we always with u.....Arif Hashmi(9718440411)
...
written by विमलेश गुप्‍ता शाहजहॉपुर, June 28, 2010
दिनांक 27 जून व 28 जून 2010 को कोई भी खबर साइड पर अपलोड नही हुई है और नही आपका फोन लग रहा है चिन्‍ता होने लगी है, क्‍या बात है -------
...
written by sanjeeb shivhare, June 27, 2010
mujhe yah jankar bahut khusi h ki pathko k vichar ki sahahna ap karte h . mujhe lekh likhna bahut accha lagta h .samaj me faili buraio or daily life style k bare me khul kar bichar dena chahta hu .press k madhayam se sab kuch ho sakta hai .kyo ki press sach ka pahredar h.
sanjeeb shivhare-9301180165
student.p.g. gwl.
...
written by B.B.Goyal, Barnala, June 26, 2010
sir, we intend to subscribe for all editions of times of india, indian express and hindustan times. websites of these papers have nowhere mentioned about subscription rates or procedure. if i make a telephone call to their office, they are clueless. i want these papers by post. we are ready to pay for it. tell me whom should i contact. my no. is 098 145 74 5 65.
...
written by tanmay, June 23, 2010
yashwantji,
media ki khabaron ko janane ke liye apka portal subah ki tea jaisa hai,
lekin aap khabron ka follow-up bhi den,
kuchh din pahle aapne likha tha media solution wale bihar jharkhand ke liye regional chanel july me launch karne wale hain,,, usaka kya hua aap nahin to kaun batayega ,,, aur yah bhi ki usaka promoter kaun hai,,,,,,,,,,bahut bahut badhai.
...
written by upkar chauhan, June 23, 2010
sir mai dist.bulandshahar ke khurja tahasil se blong karta hu.sir hamare yaha kuch logo ne channel ki franchige lekar naye naye ladko ko utar diya hai.un logo se khud paise laker unhe apne lavel se oppoint kar diya hai.uske baad vo media ka roob dikha kar logo se avved basuli karte hai.please aise logo ka kuch karo jo media ko ganda kar rahe hai.upkar chauhan mo no~9410484434
...
written by yashwant, June 23, 2010
दस साल से मीडिया में सराहनीय काम कर रहे हिन्दुस्तान( भागलपुर) के पत्रकार विनय तरुण नहीं रहे. ये दैनिक भास्कर, नई दुनिया, पभात खबर
और हिन्दुस्तान में काम कर चुके हैं.
...
written by Animesh, June 23, 2010
Yashwant Ji,

Apke Blog aur website par ek kaam kariye.Comment ka email verification shuru kijiye. is se site ki vishwasniyta me izaafa hoga..
...
written by Mann sharma, June 22, 2010
muje is site ki jankaari News paper se mili bahut achcha laga ki log yaha se bahut had tak samaj ke gandde logo ko sabk de sakte hain..
meri bi samasya hai ki meri mother ploice department se pension leti hai,ek to meri mother aur muje sarkaari kaaryo ka pata nahi lekin ab me service kar raha hu to muje pata laga ki pension me kya hota hai to mene Bareilly me pension Vibhag me jaanakar Jankaari chahi to Babu bola ki ham abi kuch nahi bata sakte aur ye pension kaafi puraani hai iske paper bi kho gaye ho gaye honge . mene kaha thik hai mai kissi milu to usne bada ajib sa behave kiya chuki meri chutti kam thi to me wapas aa gayaa me duty par assam chala gayaa ab agle 4 month tak meri mother ko pension nahi mili chuiki usne account no galat daal diya is prakar usne jaakaari lene ka gussa ham par utaraa..Meri mother k pass koi jaankaari nahi ki unki kitni pension hai koi kagaz nahi arer kya hai kaitna mina chahiye kitna miola ab kya kare me bi chutti par ghar aataa hu to kam hone k kaaran aur mera pariwar Lucknow me kaise pata lagaaya jaaye ki meri mother ko kitni pension milti hai abi new pension rule laagu huye hai to pension badni chahiye ....pls agar koi madad kar paaye ki muje kya karna chahiye to pls tell me ......
...
written by piyush, June 22, 2010
kya bina sifarish ke media mein job sambhav hai agar haan ...to kya aap mujhe us organisation ka pls naam aur pata bata de..kyonki mein ne saare channel mein try kar liye aur pichle 5 saal se try kar raha hoon magar bina sifarish ke baat banti hi nahi hai kahin pe...sir aapke blog pe media ke bade bade log comment karte hain mein unse puchna chahta hoon ki kya koi bhi ek channel aisa hai jahan HR mein resume mail karne se ya khud jaa kar dene se call aati ho shayad nahi ....sir aap bataye agar aapke nazar mein koi aisa channel ho jahan tailent ko dekha jaata hoo sifarish nahi to plz mujhe bataye....
...
written by Isha Mer, June 18, 2010
written by Isha Mer, June18,2010

sir
Good morning
Sir I like & I proud for your aim in Media field.
...
written by Vivek Avasthi, June 17, 2010
I want to know the reallity of this man, Bishan Kumar. He claim’ s to have 27 years-long professional career is diverse and spread over a wide canvas, covering news agency (UNI), newspapers (The Indian Express, The Deccan Herald, NewsTimes, Bhaskar, Sahara etc) magazines (Probe India, Maya) and electronic media (Radio & TV) including IBN 7, BBC, India News, Aaj Ki Baat & Rozana.
I want that this man should come out and show his reallity. He and his wife has opened a copmpany named Blue Ink Media pvt ltd and has not yet registered it. heis now planning to open a political magazine. Sir, kindly showcase his reallity in front of media.


Regards

Vivek Awasthi
...
written by RAJKUMAR AGRAWAL, June 09, 2010
यह कहना गलत न होगा की भड़ास ४मिडिया एक ऐसा प्रयास कर रहा है की मीडिया ही क्या आम जन भी आप की साईट पर आकर जानजाता है की यह साईट एक समाज का आइना है
...
written by rana, June 08, 2010
hindustan kanpur ke pagenetron ka paisa ne badhne se unme akross faila
...
written by DEEPAK KUMAR GUPTA, June 07, 2010
DEAR,YASHWANT JI MAINE EK WEB NEWS PORTAL PUBLIC REPORTER JISKI SITE publicreporter,net AND E-MAIL publicreporter.net@gmail.com HAI. ISMEIN VISIT KER APNI RAI DEIN. THANKS
...
written by ashok singh, June 07, 2010
sir me aapaka portal roj dekhata hu. bada achha lagata hai. badi jaankariya dete hai aap. naye patrakaaro ke liye kaafi margadarshan hai aapake portal me. sir yah samashya jaroor prakashit kijeeye jisase patrakaarita ke kalank ke baare me log jaan sake aur usase saawadhan rahe.
...
written by ashok singh, June 07, 2010
yashwant sir aapaka yah portal wastav me patrakaar biradari ke liye bahut hi upayogi hai.aap ki soch aap ki vichardhara aur aapake prayash ki jitani bhi prashansha ki jaay kam hai. sir aapane bade bade media group aur sampadako ke baare me bahut see aisi janakariya di hai jo nihaayat hi jaroori thi aur unaki wajah se patrakaar samaj ka sacha aina logo ko dikha. lekin aaj tak muze yah samaz me nahi aaya ki mumbai se prakashit hone waale hindi dainik yashobhoomi ke patrakaaro ki peeda aabhi tak aapane logo ko kyu nahi bataai. kya aapako wastav me pata nahi ya aap ko isame koi ruchi nahi. sir yashobhoomi akhabaar ka sampadak patrakaarita jagat ke liye kalank hai aur usaki pratadana se usake saath kaam karane wale sabhi majaboor patrakaar aaj mumbai jaise shahar me rahakaar kaafi pareshaaniya zelate huye jindagi basar karane ko majboor hai. akhabaar me aapane bhaiyo ko bina kisi yogyata aur uchit shikchha ke rakha hai usane. aur doosare appane retired chacha ko bitha kar jabardasti wetan dilwaata. hai. kisi patrakaar ko kuchha bhi likhane ki swatantrata nahi dita. kisi ko koi news cover karane nahi deta. aapane karyaalay me baitha kar logo se stting karata hai. itana hi nahi bahari logo ko itana kam wetan diwaata hai ki unako gujar basar karana mushkil hai. sir aise tutapujiya sampaddak ke baare me sachai aap logo ko kyu nahi batate. sir usane ek uttarbhartiyo ka sangathan banaya hai jisake madhyam se logo ko gumaraah karata hai aur unase sadasyata shulka lekar lakho rupaya jama kar rakha hai. bade aadarsho ki baat karata hai lekin apana swartha sadhane ke liye kahi bhi girane ko taiyaar rahata hai. abhi thode din pahale shivasena me shamil ho gaya tha. socha kuchha baat ban jaayegi lekin nahi bani. sir likhane padhane kuchha bhi aata nahi sampadaak banakaar logo par rob zadata hai.kahata hai bharat me usake samane koi doosara sampaadak nahi. sabhi brashta hai aur khud sabase bada bhrasta hai.100-500 lekar khabar chhapata hai aur bate badi-badi karata. hai.
...
written by Ravi Rajput Sirsa, June 06, 2010
yashvant ji............ Apko Shayad Yaad ho.........Hamari mulakat Sirsa me Joshi ji ki Death par hue Seminar me hui thi........ Aap Dwara jo Satik Baat us Wakt Kahi Gai wo Kafi Parbhavskali thi........... Me aap ke sath Patkarita karke Media me Fele Bharstachar ke Khilaf Karya karna Chahta hu............ Kripya mujhe Moka de....... Ravi Rajput...........09991610793.
...
written by mahandra singh, June 06, 2010
yashwant ji,

bhadas main media ke bere main sari jankari hoti hai. kya yah site kisee ko lekhnewale ko manch bhee pardan karta hai.
...
written by raj, June 03, 2010
chutiya site h....
...
written by Tathast, June 03, 2010
Yashwanth ji...
mai chahunga ki aap shashi ji par mere comments pramukhta se shamil karen... home page par thodi jagah den.. fir dekhiye yua patrakaar kaise aage aate hain...
tathast
...
written by Tathast, June 03, 2010
Yashwanth Ji...
ek aur baat aapko batana chahunga... shashi ji k baare me... maine bhi unhe badi nazdeek se dekha aue samjha hai... aaj log unki burai karte nahi thakte.. lekin ye wo log hain jo naye logo ko aage nahi aane dena chahte.. aap un logo se pucho jo media me khud ko sthapit karne aaye hain... un se pucho jinhe MATHADHEES bane baithe log aage nahi ane dena chahtey... jo media industry ko apni jaageer samjhtey hain... kisi tez taraar ko aage nahi aane dete... aaj har vichar par matbhed hai... shashi ji ne jo kiya jo mudde reporting k nirdharit kiye unko follow karna auro ki majburi ban gae... log unhe kos kos k hi sahi un k core issue ko folloe kiya... bijli. traffic jaam. ko bade bade akhbaar khabar nahi maantey the lekin aapne dekha hum sab ne dekha sabne in khabaron ko top par rakha....
aaj hi shashi ji ne reporting k muddon ko fir se nirdharit karne ki baat ki hai,,, mera dawa hai wahi mudde ek baar fir pure desh me chha jayenge...
sukriya....
...
written by Tathast, June 03, 2010
Yashwanth Ji namashkar...

Aap k bhadas k madhyam se mai Hindustan akhbar k Group editor Shashi Shekhar k baare me kuch batana chahta hun...
kae baar padha hai ki shashi ji ne Murkhon ko apoint kiya...
mai is baat se sehmat nahi kyun ki unhone mujhe bhi apoint kiya tha...
mai murkh nahi.. agar amar uajala me murkhon ki bharti hue hoti to amar uajal aage badhne ki bajaye doob raha hota.. lekin aisa to nahi hai...
shashi ji ek aise editor hain jinhone naujwaano ko imaandaari se patrakaarita me aage badhne ki taalim di hai... un par bhrastachar k koe aarop nahi laga sakta...
us insaan ki badaulat hum jaise naye logo ko pehchan mili aur mil rahi hai...
rahi un k kathor hone ki baat to bina us k koe itna bada sansthan nahi chala sakta... shashi ji beshak bahar se sakhth hai lekin andar se bahut soft aur achhe insaan bhi hain... hum jaise yuwa un k bina bhartiya media me rise karne ki baat soch bhi nahi sakte... un k amar uajala se jaane ka matlab aap amar ujala me kaam karne wale reporters se puchiye... aur shashi ji k hindustan me jaane k baad pratidwandi akhbaaro ki morning meeting me Hindustan ki khabaro par charcha hote dekhiye...
shashi ji ne agar amar uajala me murkho ko bhara hota to mere bhae koe ye bataye ki shashi ji k wahi log aaj media me key post par kaise jam gaye hain... key post par jana aur jamna dono me antar hai...
shashi ji jaise insan ki wajah se hum jaise naujawaan sansad k press dirgha me baith kar reporting ka khwab dekh sakte hain shashi ji wo insaan hain jo iska mauka denge... unhone maalikaan ko juniour employees ki bhalaae k liye sochne par majboor kiya hain.. yuawon k hero ka samman hona chahiye... humlog khul kar aage nahi aa paate kyun ki hamari kuch mazburi hai,, ummid karta hun aap samjh rahe honge... aage bhi aapko apne vichaar post karta rahunga...
...
written by shahid kamil, June 02, 2010
e/;izns'k dh jkt/kkuh Hkksiky ls fiNys ik¡p lky ls izdkf'kr gks jgs nSfud jkt ,Dlizsl us de le; esa gh v[kckj dh nqfu;k esa ubZ Å¡pkb;k¡ Nw yh gSaA orZeku esa v[kckj ds rSoj u flQZ rh[ks gSa] cfYd lekt vkSj ljdkj esa nhed dh rjg QSys Hkz"Vkpkj dk inkZQk'k djus esa vge Hkwfedk fuHkk jgk gSA [kcjksa ds izdk'ku ds nkSjku fdlh Hkh rjg dk dksbZ le>kSrk ugha fd;k tk jgk gSA [kcj ljdkj dh gks] ljek;snkjksa dh gS ;k fQj ncaxksa dh] fdlh dks Hkh ugha c['kk tk jgk gSA O;oLFkkvksa ij pksV djus ds lkFk&lkFk Hkz"V vf/kdkfj;ksa dks csudkc djus ds lkFk&lkFk mu leL;kvksa vkSj eqn~nksa ij Hkh ljdkj dks dV?kjs esa [kM+k fd;k tk jgk gS] ftUgsa oks pquko ds ckn Hkwy pqdh gSA i=dkfjrk ds bl nkSj esa jkt/kkuh Hkksiky ls bu fnuksa gj lqcg ikBd dks bl ckr dh cspSuh jgrh gS fd vkt irk ugha dkSu csudkc gqvk gSA v[kckj ds vkus dk oks Hkz"V vf/kdkjh Hkh cslczh ls bartkj djrs gSa] tks o"kksZa ls nhed dh rjg O;oLFkk dks [kks[kyk dj jgs gSaA mUgsa Hkh jkst ;g Mj lrkrk gS fd dgha vkt mudk uacj rks ugha gSA dqy feykdj jkt ,Dlizsl vius Lyksxu lp dgus dk lkgl vkSj lyhdk ij [kjk mrj jgk gSA
...
written by Anil Sharma, June 01, 2010
yaswant ji aapko em mail kar raha hun yah batane ke liye ki sadhna news men khud prabhat ji ne 5000/- ki ssalary par ladke rahe hue hai......ager aap nirbhik hokar khabar chape to is jaise aur letter aapko jaldi send karunga.....
...
written by neeraj mahere, May 30, 2010
इटावा मै पुलिस का तांडव दलित की थाने मै की पिटाई और पत्रकारों के खिलाफ लिखा मुकद्दमा
----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
मामला दो दिन पुराना है इटावा के ऊसराहार थाने मै पुलिस ने एक दलित की जमकर पिटाई की जब उसके परिजनों ने पुलिस से गुहार लगाईं तो उनकी पुलिस ने एक न सुनी और फिर जब उस दलित के परिजनों ने मीडिया से गुहार लगाईं तो अमर उजाला और दैनिक जागरण ने उसकी खबर को छापा तो लोगो को पुलिस के कारनामे की जानकारी हुई चुकी पिटने वाला दलित एक व्यापारी था इसलिये ऊसराहार के व्यापारियों और नागरिको ने रोड को जाम करके न्याय की मांग करने लगे इसपर पुलिस ने जाम लगा रहे व्यापारियों और पत्रकारों सहित २२ लोगो के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है |
पत्रकारों का दोष इतना था की उन्होंने दलित की पिटाई की खबर छापी थी | अब जब पत्रकारों ने इटावा के एस एस पी राकेश प्रधान से मुलाक़ात कर के इस मामले की हकीकत बताई तो उन्होंने इस बात पर थोड़ी दे तो सूना और कहा ठीक है मै इस मामले की जाच कराता हु और जो लोग निर्दोस है उनका नाम हटवा दुगा | उनके इस आश्वासन के बाद अब पुलिस ने पत्रकारों को गिरफ्तार करने की योजना बनाकर कार्यवाही की तैयारी कर दी है | एसे मामलो को सुन्न्ये के बाद ही पता चलता है अंधेर नगरी और चोपट राजा कैसे होते है | वाही इटावा के सिविल लाइन थाने मै एक टी vi चैनल के रिपोटर के साथ भी पुलिस ने बत्तमीजी की तो उस टी वी चैनल के रिपोटर को भूख हड़ताल पर बैठना पडा जब इस मामले पर फिरसे पुलिस कप्तान प्रधान से मिले पत्रकार तो उन्होंने एक मीठा सा जबाब फिया की जाच कराई जा रही है और जल्द ही मामला साफ़ हो जाएगा जब पत्रकारों ने कहा की श्री मानजी ११ दिन हो गए अभी तक जांच नहीं हो पाई क्या तो वे कड़क आवाज मै वोले पुलिस के पाश और भी काम है केबल पत्रकारों की जांच ही नहीं है |
...
written by Ram Bujharat, May 28, 2010
Vishal Saxsena ke dwara bahut hi gambhir Mudda uthaya gaya hai. Kripya is par aap lekh prakashit karaye.
...
written by ANIL ROYAL, May 28, 2010
YASWANT JI MZN KI KHABAR KE BARE ME JANKARI DE
...
written by reporter, May 25, 2010
yaswant ji bhadas4media no 1 hai azad news mai jo haal hai sabke samne to dikhao hame aap sai request hai aap bhi aap na jalwa dikha do jo azad news ka asli chera loga k samne aajaye......
...
written by reporter, May 25, 2010
आज़ाद न्यूज़ का पूरा न्यूज़ रूम आग उगल रहा है. दिल्ली में प्रचंड गर्मी पड़ रही है. पारा 45 डिग्री तक पहुँच गया है. एंकर पसीने में तर-बतर होकर एंकरिंग कर रहे हैं. डेस्क के लोग परेशान हैं. शीशे के कैदखाने में पड़े तड़फड़ा रहे हैं. आज़ाद न्यूज़ के अंदर आजकल ऐसा ही आलम है. पत्रकार बेहोश हो रहे हैं. एंकर उल्टियाँ कर रहे हैं. लोग अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं. यानी कुल - मिलाकर अफरा - तफरी का आलम है. काम करने वाले सभी लोग गर्मी से बुरी तरह बेहाल हैं. न्यूज़ से ज्यादा गर्मी से निजात पाने की और उनका ध्यान रहता है. न्यूज़ रूम उन्हें किसी भयानक सपने से कम नहीं लग रहा है. यह हालात पिछ्ले कुछ समय से है.

सूत्रों के हवाले से हमें जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक अबतक गर्मी के कारण सात लोग बीमार हो चुके हैं. इनमें से आज़ाद न्यूज़ के न्यूज़ डायरेक्टर अम्बिकानंद सहाय भी हैं. आप यकीन करें या न करें, लेकिन यह सच है कि चैनल के न्यूज़ डायरेक्टर के कमरे में भी एसी काम नहीं कर रहा है. इसी वजह से उनकी तबीयत ख़राब हो गयी है. इस मामले में आज़ाद न्यूज़ में पूरा प्रजातंत्र है.

अम्बिकानंद सहाय के अलावा दिल्ली ब्यूरो के प्रमुख प्रखर मिश्र, शिफ्ट इंचार्ज तारा सैनी, इंटरटेनमेंट की मिष्टी और सूरज भारद्वाज, सौरभ श्रीवास्तव और एंकर सरफराज सैफ़ी गर्मी के कारण अस्वस्थ्य हो चुके हैं. यदि यही हाल रहा तो आने वाले दिनों में और भी पत्रकारों की तबीयत बिगड़ सकती है. लेकिन चैनल के कर्ता-धर्ता आँखें मूंदें बैठे हैं. पत्रकार जल-भून कर मुश्किल परिस्थितियों में काम कर रहे हैं. मालिक लोग चैन की बंसी बजा रहे हैं.

अभी हाल ही में चैनल के बार - बार ब्लैक आउट होने की वजह से चैनल की खूब बदनामी हुई थी. लेकिन लगता नहीं है की चैनल के संचालकों ने इससे कोई सीख ली है. ढ़ाक की तीन पात वाली कहावत पर वे अब भी चल रहे हैं. यानी कुछ भी हो जाए हम कोई सुधार नहीं करेगे.

एक तरफ यह समस्या है तो दूसरी तरफ चैनल के अंदर गुटबाजी भी पूरे जोरों पर हैं. चैनल दो गुटों में बँटा हुआ है जो बारी - बारी से दूसरे गुट को मात देने की जुगत भिड़ाता रहता है. स्टूडियो आजकल षड्यंत्र का अखाड़ा बन गया है. यह वही स्टूडियो है जो न्यूज़ पढने के काम तो नहीं आता लेकिन आजकल आज़ाद न्यूज़ के सभी पत्रकारों का पसंदीदा जगह बन गया है. क्योंकि यही एक जगह है जहाँ का एसी काम कर रहा है.

पता नहीं आगे क्या - क्या इस चैनल के बारे में देखने - सुनने को मिलेगा. लेकिन एक बात तय है कि यहाँ काम करने वाले लोगों के साथ अमानवीय व्यवहार हो रहा है.
...
written by VIVEK KUMAR, May 23, 2010
yaswant ji namaskar
me bhadas ka regulor pathak hoon agar me ek din bhi bhadas nahi dekh pata to mujhe bahut adhoora sa lagata hai aap ne is blog ko bana kar pure india media journlist ko jodne ka bahut achha kam kia hai iske lie aap ko bahut bahut badhi
vivek kumar (sub editor nai dunia gwalior)
...
written by Deepak kumar vats, May 23, 2010
sarswati patra news paper . I am published i news paper in all india
...
written by Vishal Saxena, May 23, 2010
यशवंत जी
क्रपया मेरी आप बीती को खबर में छापे ताकि इन बड़े चैनल के आकाओ तक इनकी ठगी की हकीकत पहुचे !

आपका
विशाल सक्सेना
रामपुर (उत्तर प्रदेश)
...
written by Vishal Saxena, May 22, 2010
यशवंत सिंह जी नमश्कार ..!!!
भड़ास एक मात्र ऐसा ज़रया है जिसके द्वारा ही हम अपनी आप बीती समाज तक पंहुचा सकते है ..आज कल एक नई समस्सिया पैदा हो रही है .जिसको अगर नहीं रोका गया तो शायद पत्रकारिता हमेशा चंद हतो की कटपुतली ही बनी रहेगी ..जी हा सर ये नई समस्या है किराये के स्ट्रिंगर और चोरी की फीड !!! बड़े चेनल जेसे आज तक ..आई ० बी ० एन ० .. एन ० डी ० टी ० वी ० के स्ट्रिंगर खुद ही किराये के स्ट्रिंगर रख लेते है और उससे कम कराकर चैनल को धोका देते है ..एक ही फीड सारे चेनल वालो को भेज कर ये ठग एक और तो चेनल को ठगते है और दुसरे अपने जिले में किराये का कम करने वाला रख कर खुद राजनीती और माफिया ग्रीरी करते है ..और जिलो का तो में दावा नहीं करुगा लेकिन रामपुर में आज तक ..आई ० बी ० एन ० .. एन ० डी ० टी ० वी ० के स्ट्रिंगरो से चेनलो को सावधान होना पड़ेगा ..क्युकी यहाँ तो इन बड़े बड़े चेनल के स्ट्रिंगर जिले में रहते ही नहीं है ..कोई लखनऊ रहता है तो कोई दिल्ली ..बस किराये पर कमरा मेन है कोई खबर होती है तो स्ट्रिंगर साहब के नाम से चली जाती है और मोटा चेक आने के बाद पैसा बटता है ..जिसमे हज़ार रुपे महिना मिलते है बेचारे केमरामेन को..और वो भी पैसा लेने के लिए मजबूर नहीं कर सकता ..अखीर स्ट्रिंगर साहब तो जिले के मालिक है उनसे काम के पेसे कोन मांग सकता है !
यशवंत जी मेने भी इन लोगो के लिए काम किया लेकिन मेरे पेसे ये नहीं देते ..लेकिन ये इन बड़े बड़े चेनलो को धोका दे रहे है ..आप इसको छाप देगे तो ये इन चेनलो पर आपका आभार रहेगा और कुछ बेरोजगारों को निकम्मे स्ट्रिंगरो की जगह रोज़गार मिल जायेगा !

क्रपया मेरा नाम मत छापना वरना ये लोग मुझे ढूंड कर परेशान करेगे !

आपका
विशाल सक्सेना
रामपुर (उत्तर प्रदेश)
...
written by bhartendu, May 22, 2010
HINDUSTAN DEHRADUN SE CRIME REPOTER MANMEET RAWAT KO AMAR UJALA NE JHATKA. KUCH DIN PURWA HI PANKUL SHARMA WA MANISH KO BHI AMAR UJALA LE UDA THA. DAGMAGAYE EDITION KAI HONHAR REPORTERS PAR DUSRE AKHBARON KI NAJAR HAI.KAHA JA RAHA HAI HINDUSTAN SE KUCH AUR JAYENGE...
...
written by bhartendu, May 22, 2010
kya hindustan patna ke RE Aku chod rahe hai ?
...
written by divyanshu srivastava, May 22, 2010
yashwant sir ham aapse baat karna chahte hai . aapka number change ho gaya jo ab mere pass nahi hai messege k jariye ya mail k jariye please apna number send kariye
thanks regards
divyanshu sri
9935016610 lko.
...
written by divyanshu srivastava, May 22, 2010
नमश्कार!
हम आपके अखबार से जुडना चाहते हैं. हम पिछले पांच साल से यह काम कर रहे हैं.
क्या हम आपसे बात कर सकते हैं.
मेरा मो. न.- 09935016610
...
written by saleem, May 22, 2010
sir do u know my brother, SAMIUDDIN NEELU from LAKHIMPUR KHERI AMAR UJALA REPORTER
...
written by RRSHELLY, May 21, 2010
RESPECTED SIR
I WOULD LIKE TO KNOW WEATHER LOCAL CABLE OPERATOR CAN BROADCAST LOCAL NEWS OF THEIR OWN? IF YES UNDER WHICH SECTION OF CABLE AND TELEVISION ACT? IF LOCAL NEWS ARE PROHIBITED ON CABLE NET WORK PLS. QUOTE SECTIONS.LOCAL CABLE TOWN NEWS IS PUNISABLE?
REGARDS !
R.R. SHELLY

KARNAL HARYANA
098130 12777
...
written by vaibhav mishra, May 21, 2010
hello sir,
bahut achcha laga kyo ki aaj kal sabhi kaval masala hi parosna chahte hai per aaki soch vakai kaabile tarif hai
sir me journlism ka student hu makhan lal se b.sc.(el. media) kar raha hu sir me bhi aaki sanstha se judna chahta hu agar aap is or dhyan de to
...
written by kundan sahoo, May 20, 2010
yashwant ji aap ke portal ko mai roz padhta hoon. Main Nagpur mein rahta hoon aur yahan ek local channel mein bataur channel head kaam kar raha hoon. mujhe lagta hai, Nagpur mein aaj jo ptrakaarita ki ek batch taiyar ho rahi hai unhe yahan ke media guruon ne iski asaliyat nahi batlayi hai. naye navele patrakaar kai armaan liye media mein utarte hai, dilli tak jane ka sapna sanjote hai, lekin yahan asaliyat mein unka shoshan ho raha hai, yahan unhe jyada sambhavnaayein nazar nahi aati. fir majbooran aune paune daam me kaam karna pad jata hai, aise naye patrakaaaron ko mai, jab bhi mulakaat hoti hai aapka portal padhne ki raai deta hoon.
patrakaarita ab sandeh ke daur se gujar rahi hai aise mein unhe aap ka portal kamse kam partrakarita ko paardarshi banane mein safal sabit ho rahi hai. aapne jo mashal thami hai, uske liye badhaiyan.
dhanyabad.
kundan sahoo,
Nagpur.
9422924610
...
written by sachin khare, May 20, 2010
yashwant ji,namashkar.kafi dino se main aapki website par media se sambandhit news padta hu. Par kya ye website keval editorial valo ko jayada mahtav deti hai . ya baki ke bhi department news paper mai kam nahi karte .
...
written by qamaruddin farooqui, May 20, 2010
khabarchiyon ki kiya khabar leta he badas "Bhai wah" ! me razana akhbar padna to bhol sakta hun magar bhadas4 media ko dekhana nehi bholta. media ki har khabar muje ispar milti he our esa lagta he ki bhadas par na koi raja he, our na rank. yahan har kisi ko apni baat . apne vichar rakhne ka poora moka milta he. our is ke liye ek shaks jiska naam he YASHWANT wo bahut bahut badhai our mubarak bad ke hakdar hen..best of luck
...
written by laxmi, May 17, 2010
jagaran dhanbad house mei editor singh hai is karan wha per singhawad fail raha hai editor ne aate hi ek permanent hoone wale new stap jatiwad ke chalte nikal diya aur kha ki ab ye jagaran bihar hai na ki jagran kanpur nya ladka kanpur ka rahne wala tha is liye uske sath esa diya gya is khabar ko check kar le aur publised kare phir esi harkat aur kisi ke sath na ho sake
...
written by anil sharma, May 17, 2010
yaswant ji sadhna ne 40 ladhko ne resign de diya hai (IT aur Teach) se........sath hi jabalpur se seles se Ajay shrivastava gaye
...
written by anujasanghvi, May 16, 2010

aapne abhi tak reply nahi diya.
...
written by Ajay, May 16, 2010
Editor

I must say You have done a remarkable job after starting this website. But sorry to say You have selected a wrong Hindi Font which not only look ugly but hard to read. I hope your designer and you will take some steps to replace so it could be easly readble to all of Us


Regards

Ajay
...
written by Amit Sharma, May 15, 2010
Dear, sir ma aap ka is parwar ka ak hisa bana chata hu rajouri poonch se khabr aap ko bhaj do ja apna parwar ma shmal kara. Sir agar ho sake to plz aap muja call kara ya apna cell no. Mujha sms kar de. Ma aap se kuch baat karna chata hu mara cell no. Va address ha. Amit Sharma Reporter PTC NEWS Swastik Hari Om Nr.Chatti Gali Rajouri J&k 185131. Cell No. 9419171309. 9858009674. amitrajouri06@gmail.com
amitndtv@rediffmail.com.
Thanks.
...
written by punit , May 15, 2010
ye hai sangharsh ke sacchi kahani
...
written by Shatrughna Kushwaha, May 14, 2010
Respected Yashvant Sir
Kripya aapna contact no. hum hume dene ki kripa kare , hum aapse baat karne ke bahut ichchuk hai.
Shatrughna kushwaha
Varanasi
09454949415
...
written by s.m. azhar, May 14, 2010
yaswant ji aapki lekhni hum sab ka aisey hi margdarshan kar sahi aur galat ka bhaan karatey hue vastwikta key un anchuey pahloo sey roo ba roo karati rahey jiski aaj hum sabko zaroorat hai , bhadas for media ek shashakt madhyam hi nahi balki prernasrot bankar karm pradhan desh key chauthey stambh ki aisey hi raksha karta rahey yahi meri kaamna hai , kabhi local media sey judey logon , kaamgaron , aur apney shaher ki un tamam khabron ka vastwik roop mey beeda uthaney waley patrakar bandhuon ko bhi bhadas for media ki charnon mey thodi si jagah dey dengey to shayad abhaw mey kaam karney waley logon ko bhi yeh mehsoos hogaki wo bhi jeevan ki mukhya dhara ka ek ang hain aur aapka samarthan vastav mey unkey jeevan ko nayi disha deney mey zaroor mahatvapoorna bhoomika nibhayga aisa mera vishwas hai , kaam to sabhi kar rahey hain , kaam kaam hota hai to local media key saath aisa bhedbhaw kyon , abhi na sahi kabhi a kabhi aap meri baton ka marm zaroor samjogey kyon ki main bhi un saadharan logon mey sey ek hun jo ek badey pradesh ki rajdhani mey pooray nishtha bhaw key saath kaam kartey hue har din shaher sey judi bahut saari soochano key saath har din hazir rehta hun , aur shbdon ko local media key madhyam sey nayi disha deney ki koshish karta rehta hun aapka chota sa sahyog hamarey liye kisi sanjivni booti sey kam na hoga .....
...
written by Ashok Mundra, May 14, 2010
Yashwant ji namaskar..
kripya aapka contact no. de hum aapse baat karne ke bahut ichchuk hai..
dhanyavaaad...
...
written by Sunil Sharma, May 13, 2010
य’ावन्त जी
नमस्कार
मीडिया से जुड़ी कुछ खवरों को आपके पास भेजना चाहता हूँ।
इनका प्रका’ान आपके भड़ास4मीड़िया पर किस प्रकार से हाई लाइट हो इसकी व्यवस्था करें
आपका नियमित पाठक हूँ तथा मीड़िया से जुड़ी खवरों को प्रका’िात कराना चाहता हूँ
जय श्री राधे
सुनील ’ार्मा
...
written by kartikay, May 10, 2010
Aaj newspaper me Bahut Kuch Hota Hai Aur Ho raha hai, unki Khabro ko dene me duria Kyo.
...
written by Dr C P Rai, May 09, 2010
aapne to kamal kar diya hai.aaj bhadas samachar ki dunia ka sabse bada samachar ban gaya hai.badhai. mera blog hai c p rai ne kaha(sapane,siddhant aur sankalp ke liye samarpit}.mera bhi prayas hai ki sapane jagaye jaye,siddhanto ke sath pratibadh kiya jaye aur sankalp liya jaye ki jhukenge nahi,rukenge nahi.
...
written by Prashant Kumar, May 08, 2010
Mahodey, Pranam............
Mai patrakarita ke suruati daur me hu, asha hai aap marg darshan karenge......
...
written by mahandra singh rathore, May 08, 2010
yashwant ji,

namskar. bhadas.com ke madhyam se kaya koi samgrai newspaper or magazins ko Bhej sakta hai. please reply. thanks.
...
written by gurudass kaithvas, May 06, 2010
jai ho jaishwant ji ki....
...
written by gurudass kaithvas, May 06, 2010
such me aap he ho bhagt singh jinhone nai kranti ka bigul bjaya hai,,, jai hind jai bhadash...jai jaswant....
...
written by vinod, May 03, 2010
yashwant ji

Aap ka contact number chahiye kripya aap apne number pradan karne ka kast kare

reg.

vinod
...
written by mahandra singh rathore, May 01, 2010
jjjjjjjj
...
written by pranjali, May 01, 2010
yasvant ji namaskar
mai aap se kabhi mili nai lekin ye prayas nisandeh sarahniy hai aur bahut se logo ko ghutan se mukti dilane vala hai.is site ko itna is liye pasand kiya jata hai kyuki apne sab ko ek manch diya hai baat rakhne ka sath hi jo baat jis tak pahuchni hoti hai pahuch jati hai.is portal ko dekh kar ek sher yaad ata hai......mai akela chala tha janibe manzil magar log milte gaye karva banta gaya
...
written by ajay, April 30, 2010
apka portel se har media person judna chahta hai apki har news mein fact achchey hote hai;;;;;;...congrats
...
written by Virandra Chaudhary, April 23, 2010
Yashwant Ji Namaskar,
NAYE SAMIKARAN MASIK SAMACHAR PTRIKA ME SHRI V.P.SHARMA JI KO CHIEF EDITOR KE PAD PAR NIYUKT KIYA GAYA HAI. PATRIKA PICHHALE 2 YEAR SE AGRA, UP SE PRAKASHIT HO RAHI HE. SHRI V.P. SHRMA JI NE CHAND DINON ME PATRIKA KO SHIKHAR TAK PAHUNCHAYA HE. SHARMA JI GOLD MEDLIST PATRAKAR HONE KE SATH HI SOCIAL WORKER BHI HE. UNME KHABARON PAR PAKAD KE SATH HAR MUDDE PAR GAJAB KE VIEW BHI HE.DHANYVAD!
VIRENDRA CHAUDHRY SWAMI- NAYE SAMIKARAN MASIK PATRIKA
...
written by V.P.Sharma, April 23, 2010
R/Yashwant ji, agar Bhadas Media na haot to shayad Media jagat ki halchal kahan se pata chalti. Bhadas ke dwara mil rahi jankariyon se Media ki uthal puthal ke vishay me rochak news milte rahna bhi jaruri tha jo Bhadas Media kar raha he. me Bhadas Media ke ujjwal bhavishya ki kamna karta hun.
V.P.Sharma(Gold Medlist Swatantra Patrakar),Agra,UP,
Mobile_09027690050
...
written by ajayashk, April 17, 2010
news 11 me kai hatey aur kai jure khabar me mera naam bhi BOKARO se niukt me samil hai, news 11 se jurneybalo me mai apna naam dekh kar ascharyachakit aur dukhi hua kyoki yah khabar sachai se taluk nahi rakhati hai, yah bharam khabar tatya aur satya se pare hai aur news 11 ke director ke hawaley se prasarit ki gayi khabar ka mai khandan karta hu. mera news 11 se koi lena dena nahi hai na hi bokaro se mai niukta hua hu ya join kiya hu. tatyahin aur satyahin khabar ka mai khandan karta hu aur aap se aagra karta hu ki kripya bokaro se ya news 11 me kisi bhi roop se mere jurney ki tatyahin khabar ka khandan prasarit karey taki kisi ko koi BHARAM NA HO , Thanks, AJAY ASHK, BOKARO
...
written by aasaf absar, April 14, 2010
a very good website in media
i like it
...
written by ankit mishra, April 14, 2010
yaswant ji namaskar,hum logo ne ye soocha bhi nahi tha ki dainik hindustan jaisa news paper choor niklega,pilibhit se no.1(edt+advt+cir)banane ke baad bhi yaha ke emplys ka jam ker sosan kiya ja raha hai,4-5 month se na koi salary nahi de raha hai.aur jo log bly press per rakhe hai unhe na to peper chalane ka tamiz hai aur na hi unhe akel,sabun tel kangha bechane bale ko hindustan bly ka gm banaya hai.usse 4rth claas emply bhi na to darta hai aur na hi uski koi baat manta hai ,kyun ki sabko pata hai ki jo kahega thodi der me bhool jayega,advt me up cuntry head ajay mishra ke apne relative ko emply banane se hindustan ka pilibht me beda gark ho gaya,lanching ke baad advt me no.1 kahlane bala peper aaj niche se no.1 ho gaya hai.crime repoter mr.tariq qureshi ne hindustan chod ker khusro male joine ker liya hai.unhe pilibhit ka bureau chief banaya gaya.iske saath hi team ke aur bhi log ht media choodne ko taiyar hai.ager yahi haal raha to agra ki tarah bly ht media ki bhi relonching karai jayegi.
...
written by yashwant, April 13, 2010
Yashwant ji namaskaar ! M E News ne UTTAR PRADESH may Shri VILAYAT HUSSAIN JI ko BUREAU CHIEF aur MOHD. IMRAN YUSUFI ko SPECIAL CORRESPONDENT UTTAR PRADESH banaya hai.
...
written by raj, April 12, 2010
radio DHoom k Rj bhupesh ko mila vishesh kala samman .jise diya kendriya mantri subodh kant sahay ne .iska aayojan saraswati sadhna kendra
...
written by abhinav agarwal, April 10, 2010
maine aapka bhadas4media.com padha bahut acha or alag laga main bhi aapke is portel se judna chahata hoon. mujhe kya kerna hoga guide keren plz.

...
written by LEELADHAR RATHI REAPORTER ZEE 24 GHANTE 36 GAD SUKMA, April 09, 2010
YASWANT JI NAMSKAR HUM AAPKE BHADASH 4 MEDIA KE NIYMIT PATHAK HAI LEKIN TADMETALA KAND ME SADHANA REAPRTER KO AKELE SHABASHI DENA MERE SATH THIK NAHI HUA HAI JABKI SABSE PAHALE HUMNE ZEE 24 GHANTE 36 GAD KE LIYE VISUVEL 6 APRIL KO SADHANA SE PAHLE CHALA DIYA THA AAP CHAHE TO IS KI TAHKIKAT KAR SAKTE HAI
...
written by nirupama, April 08, 2010
yashvant ji , namste,
hmare shahar bilaspur me sharab thekedaro ne shahar ke andar jagah jagah chakhana center khole ja rahe hai jo sabhi ko malum hai khas kar prashashn aur nagar nigam jinke ksheradhikar me dukane hai, par aashacharay unhe ye nahi dikhai deraha ,/ shayd election me paisa sharab thekedaro ne diya tha, aur offisar to netao ke pahale bikte hai isliye we bhi ye nahi dekh rahe, aur court ke pas faltu bato ke liye time nahi??? kya kre ham?
...
written by Amit Sharma , April 07, 2010
Dear, yaswant ji bhaisab, namaste pls make me mamber of mobile4media, my name amit sharma r/o. Rajouri j&k reporter. Ndtv news cell no. 09419171309. 9858009674. Thanks.
...
written by sushil Gangwar, April 05, 2010
-कल का चोर आज का पत्रकार - सुशील गंगवार

ये बात करीव १५ साल पूरी नहीं है । हमारे ग़ाव में छिदु नाम एक आदमी था वह अक्सर घर आता जाता था । हमारी माँ को दीदी कह कर पुकारता हम भी मामा कहने से नहीं चूकते थे एक दिन ग़ाव में पुलिस आई तो जानकारी मिली ,छिदु मामा को पुलिस ने चोरी इल्जाम पकड़ लिया है एक दिन छिदु मामा से हमारी मुलाकात हो गयी । मामा बोले कि आजकल क्या कर रहे हो भांजे , मैंने भी कह दिया मामा मै डेल्ही में पत्रकार हू। मामा बोले अरे फिर तो हम दोनों की खूब जामेगी। मैंने पूछा वो कैसे । अरे हम भी पत्रकार है - मुझे याद है की छिदु मामा तो काला अक्छर भैस बराबर है । फिर फटाक से जेव से डेल्ही के Newspaper ka i card दिखाया । फिर बोले भांजे मै crime रिपोर्टर हू. मैंने पूछा ये कैसे बनबाया । अरे यार मैंने ५०० /- रूपये में डेल्ही से मगवाया है खूब नोट छाप रहा हू । मै उसकी बाते सुन कर हैरान कम परेशान था ।
Editor
sushil Gangwar
www.sakshatkar.com
...
written by kamal, April 03, 2010
yashwant ji i am having some cuutings about a reporter who is regularly balck mailing business mans of ambala . two fir against this reporter has also been lodged in ambala cantt police station , how can i mail you the facts to be published in your esteemed web site as this is really required , as this reporter is now a days going to all news channel ofiices for a job at ambala , and his moto is just to start blackmailing again. his name is gaurav garg , he is already fired from all most al news channel but now a days he is trying some new news channels . kindly convey .

regards ,
kamal
...
written by xyz...., April 02, 2010
सहारा कई चेनलों का सहारा ............???????????
सहारा की ऍफ़ टी पी..पर से होते है विजुअल चोरी .. आई बिन , स्टार , आजतक . जी न्यूज , पी सेवन , न्यूज २४ , एन डी टी वि, इंडिया टी वी , एम् एच १ ,ये ऐसे चेनल है जिनकी ऍफ़ टी पी से विजुअल कॉपी नही होते इनकी ऍफ़ टी पी लोक होती है ..कोई चोरी करना चाहे तो फीड चोरी नही हो सकती .. इनसे कॉपी नही होती .... लेकिन सहारा से आप कही भी किसी भी जगह किसी भी टाइम फीड क्पोई कर सकते है ..... सभी सटरिंगरस व रिपोर्टर्स को यूजर नेम व पासवर्ड का पता होता है .. कई बार एक सटरिंगरस को दुसरे चेनल के सटरिंगरस से भी फीड लगवानी पड़ती है तो पासवर्ड सभी को पता होता है .. लेकिन पासवर्ड पता होने के बाद दुसरे चेनल से कॉपी नही होती लेकिन सहारा एक ऐसा चेनल है जिससे कॉपी होती है ....इस कारण लोग इसका फायदा उठा रहे है .... दिल्ली व एन सी आर मै सहारा के चालीस के करीब फिल्ड रिपोर्टर है .....ये हर चेनल की तुलना मै चारगुना है ... जब कोई घटना होती है तो कई चेनल के रिपोर्टर खबर पर जाना जरूरी नही समझते वे समझते है की मै वहा पहुचुगा तब तक तो सहारा वाला ऍफ़ टी पी पर विजुअल भी डाल देगा क्योकि सहारा का रिपोर्टर हर गली मै है वह सबसे पहले पहुच ही जाते है इसलिए सहारा वाले के ही विजुअल उठा लुगा .. डिटेल पुलिस से ले लुगा .. इस तरह हर खबर पर आठ से दस चेनल सहारा से खबर उठाते है ... स्ट्रिंगर ही नही अधिकतर टी चेनल के अन्दर बेठे लोग भी सहारा से फीड उठा सहारा से पहले विजुअल चला देते है .. आजकल सहारा से हर रोज चोरी हो रही है .. ऐसा नही सहारा को पता नही कई बार सहारा के सटरिंगरस शिकायत करते है पर वे अस्सैन्मेंट पर बोलते है उन्हें कहा जाता है की आप आई टी मै बोलिए पर कोई कारवाई नही ... अब सहारा बहुतों का सहारा बन गया है .......... अब इस पर सहारा से जुड़े लोगों से अनुरोध की अपने फील्ड रिपोर्टरों की मेहनत बेकार ना जाने दे ...सहारा की ऍफ़ टी पी लोक करें ताकि कोई कही भी न उठा सके ....... भड़ास ४ मीडिया के जरिये ये बात सहारा के आकाओं तक पहुचे और इस पर कारवाई हो .... हम लोग यदि नाम बदलकर या फोल्डर बदलकर फीड डाले तो भी थोड़ी थोड़ी कॉपी करके दुसरे लोग पता लगा लेते है की फीड कोंन सी है .. सहारा की वेस्ट की कवरेज दुसरे चेनल का ईस्ट का स्ट्रिंगर सहारा से पहले बिना खबर पर आये अपने नाम से अपने चेनल पर चलवा देता है ..
लोगों को जब कभी अपने पर्सनल विजुअल भी आदान प्रदान करने हो तो सहारा की ऍफ़ टी पी पर डालते है और कहते है की सहारा मै है उठा लो .. लोग कवरेज पर नही आते और ऑफिस मै बेठे बेठे स्क्रिप्ट भी सहारा वाले से मागते है और कहते है फीड तो तेरे वाली उठा ली स्क्रिप्ट भेज दे .................इसलिए आप से अनुरोध है की इस बात को सहारा के आला अधिकारियों तक पहुचाये व मेल सेंट करने वाले का नाम भी गोपनीय रखे ... धन्यवाद
...
written by sachhidanand pareek, April 02, 2010
kuch arsa hi huwa hai apke site ko dekhe huwe.apka pryas prasnsaniya hai.apne ek bahut badi aur achhi suruwat ki hai.mere khyal se, aaj hur ek reporter bhadas ki khabre jarur padhta hai.ye sub apke mehnat aur pryaso se hi sambhav huwa hai.yu hi age badhte rahe. meri aur se bhi apko shubkamnaye.
sachhidanand pareek
kolkata
09830172968
...
written by sharad shukla, April 02, 2010
यशवंत जी नमस्कार..हम आपके अखबार से जुडना चाहते हैं. हम पिछले पांच साल से यह काम कर रहे हैं.
क्या हम आपसे बात कर सकते हैं.
. भड़ास४मीडिया का बदला हुआ स्वरुप काफी अच्छा लगा my mob no.09411956700
...
written by Plagiarism, April 01, 2010
http://navbharattimes.indiatim...750624.cms

You might want to see this. Navbharatimes.com has done a stroy on how others copy its stories.
...
written by lalit uniyal, March 30, 2010
yashwantji..jab ham college me parte the to us waqt media ek chamatkar lagta tha,lekin yahi chamatkar ab balatkar ban gaya ha or wo bi shabdo ka,bhawnao ka..samachar or samyik visay to kahi kho gaye ha..akhbar ka pannakaran ho gaya ha...10 km par akhbar ka khaka hi badal jata ha..hamare uttarakhand me khud ko bara kahne wale paper kya paros rahe ha,is par bahas ho jani chaiye...news parne me kam samay lagta ha jabki vigyapa ab news se jyada akarshak ha...samachar k naam par sab kuch purana hi parosa ja raha ha..shabdo ke adhkachre gyan se pathko ko gumrah karne me agrani akhbar kafi had tak safal huye ha....patrikarita k mulyo par baat karna to wakai kalam ko gali dene k saman hi hoga..news ka status and coverage us news se hone wale labh par nirbhar ha...ese samachar patra se pathko ko kya kabhi mukti mil payege...
...
written by babul, March 30, 2010
sir this is great site
...
written by DHIRENDRA KUMAR CHOUBEY, March 30, 2010
¶fOZÞX •ffBÊX ¹fVf½fa°f ªfe
³f¸fÀIYfSX
Af´f³fZ Àf¸ffªf ¸fZÔ I`ÔYÀfSX IYf øY´f ²ffSX¯f IYSX ¨fbIYZ •fi¿MXf¨ffSX IZY ´fid°f •fOÞXfÀf d³fIYf»f³fZÔ IZY d»f¹fZ ªfû IYQ¸f CXNXf¹fZ W`a ½fWX Af³fZÔ ½ff»fZ dQ³fûÔ ¸fZÔ ´fÂfIYfdSX°ff ªf¦f°f ¸fZÔ ¸fe»f IYf ´f°±fSX Àffd¶f°f WXû¦ffÜ Af´fIYf ¹fWX IYQ¸f A°¹fa°f ÀfSXfWX³fe¹f W`XÜ WX¸f Af´fIZY BXÀf Ad•f¹ff³f ¸fZÔ Vffd¸f»f WXû³ff ¨ffWX°fZ W`ÔXÜ

Af´fIYf A³fbªf
²feSmX³ýi IbY¸ffSX ¨fü¶fZ
IYf¹ffÊ»f¹f ´fi•ffSXe
Àf³¸ff¦fÊ dWX³Qe Q`d³fIY
³f¦fSX DaYMXfSXe IYf¹ffÊ»f¹f
¦fPÞX½ff ÓffSX£faOX
09431390336 (¸fû)
...
written by akhil, March 26, 2010
yashwant g,,, doing gr8 job yaar. wishes.
akhil
...
written by santosh jah , March 24, 2010
aap press photographer ka name bhi add kare ji thanks
...
written by Akshay, March 21, 2010
Yashwant Ji namaskar,
mai kai dino se bhadas4media padhta hu...mai Indore ke hindi news paper me senior reportr hu. mere pass bahut khabre hoti hai...lekin aapko bheju kaha. kripaya aapka cell number dijiye mujhe.
...
written by Praveen Sharma, March 21, 2010
Mahangai ke bare me charchaye jari rakhe.
...
written by DEEPAK KUMAR GUPTA DISTIC PRESIDENT ADARASH BHARTIYA PATRAKAR ASSO,LUCKNOW , March 21, 2010
DEAR YASHWANT.JI NAMASKAR PICHLI 14/03/2010 KO ADARASH BHARTIYA PATRAKAR ASSOCITIONS UTTER-PRADESH KI JILA EKAI KA CHUNAO HUVA THA JISHKA SHAPATH GRAHAN SAMAROH AANE WALI 5/04/2010 DIN SOMVAR KO SUNISHCHIT HUVA HAI STHAN GANDHI BHAWAN PRECHA GRAH LUCKNOW ME HONA HAI JISHME CHIEF GUEST MANNIYA DIGVIJAY SINGH. KRIPASHANKAR SINGH EX.HOME MINISTER MAHARASHTRA STATE AVAM TAMAM SELEBRETY SAPATH GRAHAN ME AYENGE
...
written by praveer jai singh, March 21, 2010
media ka jo chehra aap dikha rahe hai, vah bhavishy me adhik vibhats ho sakata hai. punjipati logo ne ise hathiyaar bana kar apni napak harkato anjaam dena shuru kar diya hai.jise rokane ki muhim chhedne ki jarurat hai. aap jaise log hi yah kaam kar sakte hai. media ki burai se dur rahkar apka portal yah kam kar hi raha hai lekin isme desh ke khyatinam logo ko jodne ki jarurat hai.
...
written by deepak kumar gupta disti.president Adarash bhartiey patrkar asso.lucknow, March 19, 2010
dear yashwant ji
Apke bare me bahut kuch suna aur padha hai. ab mai aap se patrkar aur patrkarita ko lekar isko aur kaise bhatar banaya jaye iske liye aap hamko guide karne ka kast kare kyu ki mai apne associtions ko bahut ange le jana chahta hu thanku
...
written by vedpal, March 19, 2010
sir
Good morning
Sir I like & I proud for your aim in Media field. I am working in your company.
My Ph: 91+92954912015
...
written by Sunil Sharma, March 18, 2010
मथुरा में आगामी 21 मार्च को उ0प्र0 श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के वेनर तले एक राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन हीरा इन्विटेशन डेम्पीयर नगर मथुरा में किया जा रहा है।जिसमें इन्डियन फेडरेशन ऑफ बर्किग जर्नलिस्ट के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री के विक्रम रॉव तथा महासचिव श्री परमानन्द पान्डेय जी के अलावा अपर पुलिस महानिदेशक लखनऊ श्री शैलेन्द्र सागर, मण्डायुक्त आगरा श्रीमती राधा एस चौहान पुलिस महानिरीक्षक आगरा परिक्षेत्र श्री विजय कुमार, उ0प्र0 बर्किग जर्नलिस्ट यूनियन लखनऊ श्री हसीब सिदद्ीकी, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष श्री श्याम बाबू, सचिव उत्तराखण्ड श्री पी सी तिवारी, के अलावा वरिष्ठ पत्रकार, साहित्यकार, तथा प्रदेश के प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित होकर संगोष्ठी को सम्बोधित करेंगे।
...
written by rajesh pandey, March 18, 2010
yaswant sir
pranam
maine pahali bar bhadas media ke bare me suna , fir maine bhadas media ko padha , yahan sabke comments padhe , laga ki jaise ye to apani awaj hai.
apka prayas bahut saharniya hai.
aap weekly paper ke bare me bhi kuch jankari diya kare.
aapse ek anurodh hai ki aap saptahik paper ko bhi thodi jagah den
rajesh pandey
editor
chitrakoot times
...
written by shantanu, March 17, 2010
kjkjjak
...
written by ashishe, March 17, 2010
sir,

i next M.P. mai kab tak aa jayega
...
written by yatish lavania, March 16, 2010
Dear sir bada tajjub hota hai ki hum samaj ke vikro ko or samasyaon kodur karne ka prayas karte hain lekin hum apni samasyaon ko jhelte hain. Aj ke dor main patrakar jagat main bhi chaplooson ko badhawa diya jane laga hain. Hum apni rah bhatkte ja rahein hain.
...
written by Vishal Chaturvedi, March 13, 2010
Dear Sir ,
join for bhadas media.com i m journalist in T.V.Times Hindi Weekly News Paper in gorakhpur................
...
written by kulwant gill, March 12, 2010
nice job
...
written by Sandeep Verma, March 11, 2010
भाई साहब
आज दैनिर जागरण के वेब पोर्टल पर एर खबर पढी, गलती देख बुरा लगा कि ऐसा समूह इतनी बड़ी गलती करेगा इसलिए आपको लिख रहा हूं।
http://in.jagran.yahoo.com/news/national/general/5_1_6247206.html
...
written by Vinay Kumar Jha, March 09, 2010
Dear Yaswant ji
Bhaisab, Namaste, Pls. make me mamber of Mobileb4 medea, My name is Vinay Kumar Jha, Rajasthan patrika, circulation, Indore,Mobil No 09829557796 and 09301745823
...
written by arun singh, March 08, 2010
Sir,
Good job,
Hope you will be able to make benchmark for other youngest Indian to do something different in life & country.
Regards,
Arun Singh
...
written by manoj patwal, March 08, 2010
yaswant bahi bhadas media ko padakar maja aa jata ha apko hardik badai
manoj patwal dheradun
...
written by manoj patwal, March 08, 2010
yaswant bahi bhadas media ko padkar maja aa jata apko hardik badaismilies/smiley.gif
...
written by ashish kumar tiwari news rereporter live india jalaun, March 08, 2010
yesvent mai news repoter hu or apek sath judna chhta hu m live india news k liya jalaun orai u.p distt dekh raha hu apka bhadas 4media na hum reporter ko
kafi help ki hi
...
written by mohsin, March 07, 2010
dear sir,

thnaks for your site
...
written by shubhakar dubey, March 07, 2010
yashvantji, kashi ki patrakarita ka gauravpurna itihas raha hai kintu idhar kucch varshon se yah itihas matiamate ho gaya hai. ab aap khabar dekh kar bata sakaten hain ki isaki kitani kimat patrakar ya malik ne vasool ki hogi. sabhi akhabaron ke patrakaron par naukai jane ki talwar lataki rahati hai kyonki ve contract basis par hote hain. aise mein nirbheek patrakarita ki baat sochana bemani hai. yahan ka ek akhabaar to apane ko rashtriya star ka hone ka dava karata hai kintu majedar baat yah hai ki usake yahan keval teen permanent patrakar hain baki sab daily wages par register mein dikhaye gaye hain. yah akhabaar samachar ke liye paise vassolane ko apane reporteron ko khule aam kahata hai.
...
written by raju tripathi, March 05, 2010
दैनिक जागरण रांची से एक और गए
दैनिक जागरण रांची का लार्खाराता सम्पादकीय विभाग सँभालने का नाम नहीं ले रहा है. संत शरण अवस्थी के शोषण से परेशान होकर अब ओम रंजन मालवीय ने भी जागरण को अलविदा कह दिया है. मालवीय अब सन्मार्ग रांची ज्वाइन कर लिया है. वह भी जागरण छोरने वाले अन्य दर्जनों पुराने कर्मियों की तरह ८ साल से काम कर रहे थे. अब जागरण में दो तीन ब्यूरो के लोगों को छोर वही बचे हैं जो अखबार की नहीं अवस्थी की नौकरी करते हैं. हद तो तब हो गई जब दैनिक जागरण सिल्लिगुरी उनित सँभालने वाले देवेन्द्र सिंह को नकारा विनोद श्रीवास्तव के सामानांतर लोकल में बैठाया जा रहा है.
...
written by V.P.Sharma, March 05, 2010
R/S
Bhadas4Media News very good News Portal of Indian Histry. I like & I proud for your aim in Media field.We are Congratulate your organization & your working system. I want please send latest News in my email Id.
So thnk You again
V.P. Sharma(GoldMedlist Jurnalist & Socialist)
+919557608794
...
written by ankur Sharma, March 04, 2010
yaswant ji ye media field jitna glamours bahra hi hi utna hi gnda hai. agar aap ki koi source hai to apko bahut hi jaldi chance mil jata hai agar nahi to aap bhattakte
rahi ye apko koi bhi chance dane wala nahi hai.chahe aap kitne hi talented ho.
thanks.
...
written by Ravi jha , March 04, 2010
Sir , Very good morning i nwant to all the latest news on my mail ID is it possible because i am a student and it is not possible for me to daily use for net
Regards
Ravi jha
...
written by rakeshseth, March 04, 2010
DEAR YASHWANT JI
MR.PRADEEP JHA EX G.M CARPORATE NAI DUNIA IS JOIN AS A STATE HEAD GUJRAT SANDESH AHEMDABAD.
AAP KAB SE DARENE LAGE
written by anujasanghvi, February 28, 2010
YASHWANT JI

MUJHE BADA ACHA LAGA THA JAB AAPNE MERE REACTION AAPKE PORTEL PER PUBLISH HUI. LAKIN US SAMAY BADA DUKH HUA JAB PEOPLE SAMACHAR KE BAJAJ JI KE BARE MAIN MERI REACTION AAPNE PUBLISH NAHIN KI. MAIN NAHIN SAMJHATI KI AAPNE JANBHOOJH KER BO REACTION NAHIN DI. MUJHE LAGA KI SHAYAD AAPKE BAJAJ JI SE MADHUR SAMBANDH HONGE TABHI AAPNE UNKE AGAINST LIKHNA THIK NAHIN SAMJHA.
few words for u
written by Manish Sachan, February 28, 2010
यशवंत जी आपके इस प्रयास की जितनी सराहना की जाए वो कम है: मीडिया दुनिया और समाज की कमियों को लोगों के सामने लाती है, लेकिन मीडिया भी दूध की धुली नहीं रह गई तो जरूरी है कि कुछ ऐसी संस्थानए भी हों जो इसकी कमियों को दूर करने में काम करें: क्योंकि समाज को आइना दिखाते दिखाते कही यह आइना खुद इतना धुधला ना हो जाए कि इससे लोगो का विश्वास उठ जाए: आपके इस प्रयास की मै तहे दिल से सराहना करता हूं:ं
PLZ DELETE OUR COMMENTS ON SADHNA UK/HP CHANNEL LAUNCHING
written by PLEASE DELETE OUR COMMENTS, February 27, 2010
Dear yashwant ji,

Plz delete our comments, which was we done bymistake on sadhna uk/hp launching article.plz do this asap.our mail id is techsupportsadhna@gmail.com

Internet Marketing Services
written by Robert Karlson, February 27, 2010
We would like to get your website on first page of Google.

All of our processes use the most ethical "white hat" Search Engine Optimization techniques that will not get your website banned or penalized.
Please reply and I would be happy to send you a proposal.
khbar prakishit nahi hone babat
written by chandan goswami, February 26, 2010
NAMSKAR, YESHWANTJI ,AAKO KITNI ACHHI KHABRE MAIL KARNE KE BAAD BHI PRAKSHIT NAHI HOTI, ESKA BAHUT DUKH HEI, HAA AAP OOS KHABAR KI SACHHIE PATA KAR KE PRAKASHIT KARE.,LEKIN AAP SHYAD PATA NAHI KARNA CHAATE HO TO ALAG BAAT HEI. THANKS
Quyamat India
written by Kuldeep kumar mishra, February 26, 2010
नमश्कार!
हम आपके अखबार से जुडना चाहते हैं. हम पिछले पांच साल से यह काम कर रहे हैं.
क्या हम आपसे बात कर सकते हैं.
मेरा मो. न.- 09696779895
...
written by kumar singh, February 25, 2010
एक ख़बर आपको प्रेषित की है...उम्मीद है आप प्रकाशित करेंगें....कुमार सिंह
effects of virus attack
written by kumar, February 22, 2010
यशवंत भइय्या प्रणाम। जबर्दस्त लुक है और बेहतरीन पेज डिजाइनिंग हैं। कहते हैं जो भी कुछ होता है अच्छे के लिए ही होता है। ऐसा ही शायद वायसर अटैक के मामले में भी है। इसलिए वायरस अटैक वाली घटना की तो निंदा होनी चाहिए। लेकिन अटैक के बाद नई स्टाइल के लिए शायद वायरस को बधाई देनी चाहिए। पेज का ले आउट, कलर कांबिनेशन, कलर्ड एंड व्हाइट स्पेस का बैलेंस और कंटेट प्रजेंटेशन काफी धांसू लग रहा है।

कुमार
...
written by mazhar husain, February 19, 2010
Subhkaamnao ke saath sirf ek sher aapki nazr hai.....
Hum Apne Waqt ke Suraj hai hamko pahchano
Hum jalenge to Sitaro me Raushni hogi
aisa kyon
written by anujasanghvi, February 17, 2010

YASHWANT JI

main kafi samay se aapke portel ko pad rahi hoon. mujhe laga ki aap unfair hain aur sahi bat sabke samne late hain. lakin dukh ki bat hai maine do bar apne comment portel per diye lakin aapne display nahin kiye. ak khabar padhi thi ki Danik bhaskar ke national editor Kalpesh yagnik ne reporters aur sub-editors ke liye ek aachar sanhita banai hai. us per maine do bar apne comment diye lakin pata nahin kyon aap baised ho gaye aur aapne use nahin display kiya. kya main iski bajah jan sakti hoon.
...
written by vinit, February 17, 2010
bhai aap t great ho
Change in AU
written by VASU, February 14, 2010
mr. aditya singh would be finalise for gorakhpur unit head he will be join from 1st april
...
written by PP SINGH, Managing Editor, February 12, 2010
Good evening Mr. Yashwant g,
we r happy to inform u that Ajatshatru Media Services is all set to storm the media world by the end of March 2010. In the very first phase our group is scheduled to launch THE CEASEFIRE in two variants one the National News Magazine on the pattern and standerd of Outlook and India today, other the National Defence and Security News Magazine also titled as THE CEASEFIRE.
Eminent media personality Prof. Pradeep Mathur (from IIMC) will be our Group Editor while another famous media man of north India Mr. Nitin Srivastava is all set to taken over as the Editor in Chief of both THE CEASEFIRE (Political and Other the Defence News Magazine) very soon his consent in this regard is with us. Another famous man of media world Mr. Pushker Srivastava is our Chief Adviser and will look after the whole launching process. Mr. PP Singh eminent Defence Journalist has already been apointed as the Managing Editor of THE CEASEFIRE. Mr PP Singh will also look after the recruitment process of THE CEASEFIRE. for THE CEASEFIRE Mr. Sunil Taneja famous journalist from Meerut is all set to join the Ajatshatru Media Services as a Chief of Bureau, UP. Ms. V.Singh ex. IIMCcian has also join as a Special Correspondent.
Besides all these several personalties of the media several other experts from Defence and Academics will consitute our Board of Editorial, These includes some retd. army, airforce, naval General officials. Dr. Sanjay (Dept. of Defence Studies, Meerut College, Meerut) will be our regular writer,
In the next phase Ajatshatru Media Services will launch two satellite channels including one News & current affairs channel and a Newspaper in English at a large scale very soon. Office of THE CEASEFIRE will soon have an opening in the NCR region.

With regards
PP Singh
Managing Editor
THE CEASEFIRE
09411260600

...
written by K.Partha Sarathy, February 11, 2010
Hi Yaswanthji, I have successfully completed india's larget survey on implementation of RTI act involving more than 500 offices across the state. The survey results are pathetic and more over highest office, the state secretariat failed totally in implementing the act. Please provide me further inputs.
Partha Sarathy, Hyderabad
...
written by rajkumar , February 10, 2010
good website
...
written by rajesh, February 10, 2010
yashwant ji bhadas website achi hain lekin ise kewal kuch logo ka mukhota bat banaye/. hindustan ke liye jis tarah aap likh rahe hain usse saf hain ki aap kewal ek tarafa likhte hain. apne jamir main jahko aur ise sacchia ka mukoto banoyo.kyoki yeh sight mere kyal se achi hain. yehi nahi shashi shekher ka jo gundaraj is samay chal raha aur usse office wale pareshan hain use kyo nahi likhte. kya dam nahi hain ya ek daru ke peg par tum bhi bik jato ho.
...
written by ashok bansal, February 09, 2010
Bhai Mere,
Bara maza aata hai rozana bhadas parne men.
ashok ,Mathura
...
written by shruti, February 07, 2010
नमस्कार यशवंत जी,
मैं और मेरे करीब दो दर्जन मीडिया मित्र भड़ास4मीडिया के नियमित पाठक हैं। सुबह से लेकर शाम तक वेबसाइट को रिफ्रेश करके नए समाचार जानने की भूख रहती है। लेकिन पिछले करीब दो माह से कई मित्रों ने शिकायत की अब भड़ास4मीडिया निष्पक्ष, निर्भीक और पारदर्शी नहीं रहा। पहले जो हर मीडियाकर्मी की भड़ास को आप बेखौफ होकर सीधे वेबसाइट पर अपलोड कर देते थे अब वो प्रक्रिया बंद हो चुकी है। कई मित्रों ने बताया कि उनकी कई रचनाएं, भड़ास आपके निजी मेल पर सड़ रही हैं। लेकिन शायद निजी कारणों या स्वार्थवश आपने उन्हें पब्लिश करने की जहमत नहीं उठाई। मेरा विनम्र निवेदन है कि इतने अच्छे मिशन को जारी रखें। निश्चित ही आपके पास रोजाना तमाम ईमेल और लेख आते होंगे लेकिन उन्हें छांटने का काम बांटिए, छापिए गलती हो तो संबंधित व्यक्ति को रिप्लाई करिए। लेकिन न छापने का कार्य न करिए। आपने वर्तमान भारतीय मीडिया को एक नई दिशा दी है तो उसे पूरे जोश और जज्बे के साथ जारी रखिए।
धन्यवाद।
...
written by mukesh tated, February 07, 2010
Media kabro ko is naye andaz se pesh karne ka tareka accha hai.
...
written by devendra, February 03, 2010
यषवंत जी नमस्कार
भड़ास को पढ़ने से निष्चित ही भड़ास निकालने को तबियत होने लगती है।
क्या करें आप से मिल तो सकते नहीं है लेकिन फिर भी आपको मेल भेज रहे हैं।
मुझे भी भड़ास निकालने का बहुत शौक है उसके लिए मुझे क्या करना होगा। कृप्या अपनी राय मुझे प्रदान करें । आपका अनुज
देवेन्द्र
...
written by neeraj narwar, February 02, 2010
yashvant ji,
kal shaam ko maine aapko ek khabar bheji thi jo prashaasan ki pol khol dene vaali thi lekin aapne use abhi tak nahi lagaya kya hua sir koi jabab to de dete aapkaa mobile bhi switch of aa raha hai
...
written by anshul, February 01, 2010
Good Morning sir yaswant ji mai apni side ka add apki side pr karna chahte hai pls mujhe guide kare
...
written by sushil pandey, January 31, 2010
hello sir
...
written by SAHIL SRIVASTAVA 09235143418, January 30, 2010
HELLO YASWANT
YASWANT................ MATLAB BHADAS4MEDIA
BHADAS4MEDIA..................MATLAB MEDIA JAGAT KI HAR CHOTI BADI KHABR.
...
written by AMRESH, January 30, 2010
YASWANT.................. MATLAB BHADAS4MEDIA
BHADAS4MEDIA....................MATLAB MEDIA JAGAT KI HAR CHOTI BADI KHABR.
...
written by TASVEER NAWAEES Trilochan singh, January 29, 2010
guru lage raha jaun hoi taun neek hoi ,,,hum hai lko se trilochan /photojournalist /actor/script writer/Sr Lecrurer ,,,,mai is me kaise apna colum du bataye jo nazar aap ki hai wo apni bhi ,,,trilochan
...
written by deepak pal singh, January 29, 2010
jujharu sir ji.
Accha lagta hai ki koi Media ki khaal utarne wala bhi koi hai. keep it up sir ji. me faridabad se hu or isi fild se talluk rakhta hu. jahain jyada ter patrkaar bina kisi patrkarita ki padai ke, kai to unpad bhi hai patkaar jiasa ohoda liye betha hai. photographer to Shadi mai photo khichne walai hai. aith me aise gumte hai jasai chif minister ho. unko unki okat to sirf aap hi bata sakte ho. kripya ek nazar FARIDABAD per dalo.
...
written by Shikha Tiwari, January 29, 2010
Dear yashwant sir,
Media kabro ko is naye andaz se pesh karne ka tareka accha hai. Bhagte hui media ke is daur mai print se electronic media tak sabhe ko se eak dusre se rubaru karne ka accha madhyam hai Badass 4 media .
thanx
regards
Shikha Tiwari
(Team Cvoter)
...
written by vikas chaudhary, January 27, 2010
मैं कई दिन से इस ड़ॉट कॉम को देख रहा हूं, लेकिन वास्तव में आज ढ़ग से इस सब को पढ़कर लगा कि वाकई कोई है जो कुछ तो अच्छा कर रहा है और सच में इतना अच्छा कि लोगों कि आंखे फटी की फटी रह जांए. मैं आपके साथ हूं.
...
written by Ajay Sharma, January 26, 2010
yaswant ji mai bahraich jile me rahta hoon aur ek patrakaar hon t.v.channel ka aur mai aapke madhayamse aapke is portal network me judna chahta hoon aur kuch apne sahar kuch apne vicharo ko aapke madhyam se ujagar kana chahta hoon.
...
written by Chandan ( Freelancer Cine Editor,Patna), January 25, 2010
Goodmornig Sir

Kabhi Kabhi bihar ki Patrkarita ko bhi sudharne ka top ten bataye...
...
written by mr. zareene ahmed siddiqui, January 23, 2010
yaswantji namaskar aapke blouge mai aksar roj hi pada karta ho aur mujhe aisa lagta hai ki jo mujhe chahiye wo sub aapke bhadas par mel jati hai lekin kuch log aapke blooge ka istemaal logo ko bleakmailing ke liye kar rahe hai is par aap rok lagane ki kosis kare ......zareen siddiqui 09926169181
...
written by Dr Alka Tiwary, January 23, 2010
Yashvant jee
maine aapka bhadas4media.com padha bahut acha or alag laga main b aapke is portel se judna chate hoon. mujhe kya kerna chayei guide keren plz.

alkakichithi@gmail.com,alka_tiwary@hotmail.com
9313564343
...
written by Mahendra singh, January 22, 2010
great efforts by a great person and it depicts the internal media reflections.....

...
written by Jagriti, January 22, 2010
प्रिय यशवन्तजी,
मैं यही समझती थी कि भड़ास एक ऐसा मंच है जहा आप अपने विचार रख सकते हो..........लेकिन आज चैनल हेड पद से संजय मिश्र हटाए गए? विषय पर मैंने दो लेख लिखे लेकिन शायद आप भी किसी कि कटपुतली कि तरह काम कर रहे हो बुरा न मानियेगा आप कि इज्ज़त थी कभी मेरी नजरो में पर आप अब एक पक्षीय बात करने लगे हो
...
written by saurabh mittal(co-ordinater--khuli kahaniya), January 22, 2010
yashwant ji,namashkar.kafi dino se main aapki website par media se sambandhit news padta hu.main aapke kam se bahut prabhavit hu jo media ke news ko sabhi tak pahuchata hai.meri dili ikcha aapse milne ke hai tatha aapke uddeshya mein bhagidar banna chahta hu,umid hai bhagwa mujhe aapse milne ka mauka awashya dega.
...
written by xxxx, January 21, 2010
यशवंत जी नमस्कार... voi ke stinger ki phele bhi payment nahi mili hai .voi ke saare hi stingers bahut parshan hai . jab se dubara open hua hai assignment head ne sabse wada kiya tha ki sab stingers ko time par payment mila karegi or ab jab bil dai diye to payment ke taal rahe or dene ka ashwashan bhi nahi de rahe hai ..... 1 january ko wada kiya tha per story 600 RS hogi . ID or authorthy letter payment ke saath de dege ..... story ke liye 24 hrs call karte rahte hai or danda karte rahte hai or apni problm ko humre uper rakh dete hai .... in mai kuch stinger to aase hai jinke kharche na milne par unki biwi unhe chor ke ja chuki hai maike aur ane ko taiyaar nai hai jinme ek to east delhi ka alankrit bhati hai baki sab ka bhi jeena haram ho gaya hai.
...
written by Shailender Sehgal, January 21, 2010
we have seen your web site and have gone through your works and found it very couragious and fearless. You have given a very powerful platform to the media persons. Iwould like to share my experiences with the viewers of your website. Bharas Nikalne ka jo Zaria apne Banaya hai woh sarahnya hai. THANKS----SHAILENDER SEHGAL
...
written by Urmil Grover, January 20, 2010
congratulations,Yashwant JI , for woking in today's risky atmosphere. I am regular reader of your portal. some days before i send you a release of ' Sanaatan Journalsm Award' please publish it on your side if possible . I am working with UPJA lko. and The art of living group of lko. Urmil Grover .
...
written by ajay tripathi, January 19, 2010
प्रिय यशवंत,
हालाँकि जबलपुर में जो कुछ भी हो रहा है, ये दो अख़बार समूहों की लड़ाई है जिसमें उनके नफे -नुकसान जुड़े हुए है लेकिन यहाँ का पत्रकार होने के नाते मुझे पत्रिका के स्लोगन-''कहाँ है जबलपुर की आवाज उठाने वाले''-से घोर आपत्ति है.इसके अलावा बाकी स्लोगन भी पाजिटिव नहीं लगते.शायद पत्रिका मैनेजमेंट ने सही होमवर्क नहीं किया वर्ना उन्हें पता होता कि जबलपुर में विकास की आवाज केवल अख़बार ही बुलंद करते आये है.इसमें बड़े से लेकर छोटे अख़बार तक का अमूल्य योगदान है.इस तरह जबलपुर के सारे अख़बारों और यहाँ के पत्रकारों की कर्मठता को इस तरह कठघरे में खड़े करने की भयंकर भूल के कारण ही पत्रिका को एक करीब एक महीने बाद भी पाठकों का वो भरोसा हासिल नहीं हो सका,जिसका वो हक़दार था.पत्रिका को असली लड़ाई अपनी विषयवस्तु को दुरुस्त करके लड़नी चाहिए न कि दूसरे हथकंडों को अपना कर.
अजय त्रिपाठी
जबलपुर
उम्मीद है नकारात्मक समाचारों के बीच मेरे विचारों को भी जगह मिलेगी.
...
written by Nalinkant Bajpai , January 19, 2010
प्रिय यशवन्तजी,
भड़ास पर भास्कर और पत्रिका के जबलपुर संस्करण के बारे में जो खबरें प्रकाशित हो रही हैं वो वास्तविकता से परे हैं। कृपया इन तथ्यों पर नजरें इनायत करें।
जबलपुर के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि नया अखबार लांच होने पर leading akhbaar की कापी कम होने के बजाय बढ़ गयीं।
भास्कर जबलपुर शहर में ९४४०० हुआ करता था जो बढ़कर ९५२०० हो गया है, मार्केट से इसकी पुष्टि कराइ जासकती है।
न्यूज़ स्टैंड पर पत्रिका की ७०००० कापी आती है जिसमें से लगभग ३०००० कापी वापिस हो जाती है, शेष ४०००० में से लगभग २५००० कापी हाकरों द्वारा तुरंत रद्दी बना kar raddiwalon ko bech di जाती है।
शेष १५००० में से आधी पोनी कापी अन्य अख़बारों के साथ मुफ्त बांटी जाती है, अब बची हुई कापी हाकर अपने घर le जा रहा है।
भोपाल से आये भदोरिया और यादव अपने साथ कुछ बदमाश ले आये थे, पर पुलिस के सामने उनकी दाल नहीं गली तो भदोरिया उलटे पांव भोपाल लौट गए। अब यादव की अगुआई में कुछ जबलपुरिया टुच्चे सुबह आते जरुर हैं पर पुलिस के आगे चुपचाप खड़े रहते हैं।
यह भी पहली बार हुआ है कि २५ दिनों से लगातार पत्रिका मुफ्त में अखबार बाँट रहा है पर मार्केट से कोई रेस्पांस नहीं मिला है। राजस्थान पत्रिका के सभी कर्णधार जबलपुर आते हैं, १-२ दिन रुकते हैं और बेबस लौट जाते हैं.
जहाँ तक पत्रिका में पत्रिका में नामी पत्रकारों के जाने की बात है तो एक भी नामी पत्रकार ने ना तो भास्कर छोड़ा ना नईदुनिया, राज, हरिभूमि, देशबंधु, स्वतंत्रमत। यहाँ तक की शाम के अखबार यश भारत और हिन्दी एक्सप्रेस से भी कोई नामी पत्रकार जाने तैयार नहीं हुआ।
हारकर ना केवल भास्कर के अपराध रिपोर्टर को सिटी प्रमुख बनाना पड़ा बल्कि भानुमती के कुनबे के समांन टीम बनाकर पुरानी खबरों पर आधारित अखबार निकालना पड़ा।
आपसे आग्रह है की इन तथ्यों का प्रकाशन करें ताकि भ्रान्ति दूर हो सके।

आपका

नलिन कान्त बाजपेयी

pradesh mahasachiv mp shramjivee patrakaar sangh
9425157790
...
written by brajesh, January 18, 2010
kuch nahi siva iske ki ek majboot aur bebak insaan hai yashwant ji.
...
written by rakesh jain, January 18, 2010
jabalpur . Senior Jenerlist vijay tiwari and sunil lakhera from haribhoomi join to peoples samachar patra, jabalpur
...
written by nagmani pandey,dheeraj singh, January 17, 2010
sir,
hum hamara mahanagar ke reporeter hai bhadas4midia.com dekha kar kaphi khushi hue aap isi tarah kam karte rahe yahi hum dua karte hai
...
written by Amit Saini, Crime Reporter, January 17, 2010
Dear Sir Yasvant Ji, Bhadas4media Reporters ke liye ek Vardan ke Saman hai. Wo Reporter jo Har kisi ki Muskilo, Prasanio aur Dukho ko aam aadmi tak Pahuchane ka kaam krta hai, bt Reporter Apni Problem kis se Kahi aur kisi sunaye, Magar Bhadas4media dwra wo apne dukh-dard apne dosto se share krta hai. Is bat ke leye mai aapka bahut bahut dhanyawad krta hu, Jis ke liye aap Badhai ke patr hai. mai kai years se crime Reporting kr raha hu aur Bhadas4media ka hissa banna chahta hu. Thanking 4 u, Amit Saini, Crime Reporter, Muzaffarnagar Bulletin, Muzaffarnagar, U.P., # 9837739873
...
written by narendra joshi, January 16, 2010
dear sir, mai jaipur ka ek patrakar hu aur blog likhana chahta hu.but i dont know the prosses. kya aap meri kuchh help kar paayenge... danyawaad
...
written by Yasir Raza Jafri, January 16, 2010
यशवंत जी नमस्कार... भड़ास४मीडिया का बदला हुआ स्वरुप काफी अच्छा लगा. इस लिए आज मेरी उगलियाँ खुद बखुद आपको मेल करने के लिए टाइप करने लगीं..आपने लखनऊ में बघिर किसी रिपोर्टर के काफी पैठ बना ली है. उम्मीद है की आगे भी आप बेहतर करने की कोशिशें जारी रखेंगे. --आपको मेरी एक राय है ..कि आपको एक कालम उर्दू अखबार का भी शुरू करना चाहिए. लखनऊ से प्रकाशित एक दर्जन से अधिक उर्दू अखबार में भी ऐसी कई घटनाए होती रहती हैं जिन्हें लोग भड़ास४मीडिया पर पढना पसंद करेंगे. मैंने अपना ब्लॉग भी लिखना शुरू किया है अगर उस ब्लॉग के कुछ अंश आपकी वेबसाइट पे जगह पा सके तो मैं अपने आप को काफी भाग्यशाली समझूंगा. मेरे ब्लॉग का URL है....www.yasirjafri.blog.com .....धन्यवाद
...
written by S.K. Upadhyay, January 15, 2010
Sir Ji Pranam

Ye change bahut acha hai
...
written by Rupesh kumar Chief Photographer Daily News Activist, January 15, 2010
bhai aap ne to itihas rach diya badhai ho...
...
written by dinesh mansera ndtv nainital, January 15, 2010
yashwant bhai namshkar, bhadas page me change acha per orange color ko re me tabdeel karenge to shabd aur khil uthenge..
...
written by rahul, January 15, 2010
yasvant ..............................yani mukkmal sanghrsh ki kahani !

Write comment

busy
 
We have 29 guests online